--Advertisement--

मिला 11 लाख रुपए कन्यादान, 1 रुपया रख पूरी राशि गरीब बच्चों को दे दी

बेटी की शादी में आए कन्यादान की पूरी राशि गरीब बच्चों की शिक्षा-दीक्षा के लिए दान कर दी।

Dainik Bhaskar

Feb 07, 2018, 12:08 AM IST
फैमिली मेंबर्स के साथ न्यूलीम फैमिली मेंबर्स के साथ न्यूलीम

फरीदाबाद। कहावत है इंसान तो हर घर में जन्म लेता है, बस इंसानियत कहीं-कहीं जन्म लेती है। कुछ ऐसे ही इंसानियत की मिसाल पेश की है फरीदाबाद पुलिस क्राइम ब्रांच के एसीपी राजेश चेची ने। जिन्होंने अपनी बेटी की शादी में आए कन्यादान की पूरी राशि गरीब बच्चों की शिक्षा-दीक्षा के लिए दान कर दी। उन्होंने बेटी की शादी में फिजूलखर्ची को रोकने के लिए सभी को सोशल मीडिया पर इंविटेशन मैसेज दिया। इसमें बाकायदा एक रिक्वेस्ट नोट डाला। इसमें लिखा गया कि शादी में आशीर्वाद देने आएं। लिफाफे या गिफ्ट न लाएं। उसके बाद भी जो रुपए आए उनमें से एक रुपए का सिक्का निकाला और बाकी राशि दान कर दी।

शादी के इंविटेशन कार्ड भी नहीं छपवाए
दहेज के सख्त विरोधी एसीपी राजेश चेची कहते हैं कि अगर समाज से दहेज कुप्रथा पूरी तरह खत्म हो जाए तो कोख में बेटियों को कोई नहीं मारेगा। जब उनकी बेटी अल्पना की शादी की बात आई तो उन्होंने शादी में फिजूलखर्ची रोकने को सोशल मीडिया पर मैसेज के जरिए ही बेटी की शादी का इंविटेशन भेजा। कोई भी गिफ्ट या लिफाफा लाने का आग्रह किया था। रविवार रात को शादी की रस्में पूरी होने के बाद पता चला कि कन्यादान के रूप में 10 लाख 78 हजार रुपए आए हैं। इसके अलावा महंगे गिफ्ट्स भी शामिल थे। उन्होंने फरीदाबाद की समाजसेवी संस्था प्रयास वेलफेयर सोसायटी के प्रधान जगत मदान को फोन कर रात को ही बुलाया और बेटी की शादी में मिली पूरी राशि बच्चों की शिक्षा के लिए दान कर दी। इस संस्था के तहत करीब सात हजार गरीब बच्चों को पढ़ाया जा रहा है। जगत मदान ने कहा कि जो काम राजेश चेची ने किया है, वे अमीर से अमीर लोग भी नहीं कर पाते। इससे काफी लोग प्रेरणा लेंगे।

हीलिंग पॉवर से इलाज भी करते हैं चेची
एसीपी राजेश चेची रियल लाइफ में एक बेहद सिंपल पर्सन हैं। वर्ष 1994 से अब तक की पुलिस सेवा में कई ऐसे फैसले लिए, जिन्हें लेने में बड़े-बड़े अधिकारी हिचकते हैं। राजेश रोज 14 से 16 घंटे पुलिस ड्यूटी करते हैं। 4 घंटे साधना के लिए निकालते हैं। इसी साधना की शक्ति (हीलिंग पॉवर) से वे बीमारों का इलाज भी कर रहे हैं। बड़ी संख्या में लोग स्वास्थ्य लाभ ले चुके हैं। ड्यूटी के दौरान मरीज कहीं भी मिल जाए, उसका इलाज वहीं शुरू कर देते हैं। मरीजों को ठीक करने वे अस्पतालों के आईसीयू तक पहुंच जाते हैं।

बारातियों से पहले खिलाया अनाथ बच्चों को खाना
चेची ने बेटी की शादी में अनाथालय में रह रहे बच्चों को भी अपनी खुशियों में शरीक करने के लिए अनाथालय से बच्चों को लाने के लिए दो बसें भिजवाईं। बारातियों से पहले इन बच्चाें को खाना खिलाया गया। बच्चों ने डांस किया और उनकी बेटी अल्पना व दामाद निखिल के साथ फोटो भी खिंचवाई।

X
फैमिली मेंबर्स के साथ न्यूलीमफैमिली मेंबर्स के साथ न्यूलीम
Bhaskar Whatsapp

Recommended

Click to listen..