--Advertisement--

न्यूनतम 9.5 डिग्री पहुंचा पारा, कुछ देर दिखी धूप स्मॉग से आंखों में जलन

लोगों ने वीकेंड पर घुम्मकड़ी और मौज मस्ती का प्लान बनाया था। वह स्मॉगी डे ने बिगाड़ कर रख दिया।

Dainik Bhaskar

Dec 04, 2017, 06:50 AM IST
minimum tempreature

फरीदाबाद. लोगों ने वीकेंड पर घुम्मकड़ी और मौज मस्ती का प्लान बनाया था। वह स्मॉगी डे ने बिगाड़ कर रख दिया। रविवार को दिन भर कुछ देर के लिए ही धूप दिखाई दी। वातावरण में स्मॉग छाए रहने के कारण आंखों में जलन और सांस लेने में दिक्कत महसूस हुई। पॉल्यूशन लेवल भी सामान्य स्तर से तीन गुणा अधिक दर्ज किया गया। सामान्यत : पीएम 2.5 की मात्रा 80 से 100 माइक्रोग्राम प्रति क्यूबिक मीटर होती है।

यह 350 माइक्रोग्राम मापी गई। यही कारण है कि अधिकांश लोगों ने घरों से निकलना मुनासिब नहीं समझा। हवा की गति एक बार फिर कम हुई है । इसके बावजूद रविवार तड़के न्यूनतम तापमान 10 डिग्री सेल्सियस जबकि अधिकतम 24 डिग्री सेल्सियस रेकार्ड किया गया। मौसम विभाग के अनुसार एक-दो दिन ऐसे हालात रह सकते हैं। भास्कर की सलाह है कि ट्रेन यात्री परिचालन स्थिति का पता लगाकर यात्रा करें। स्मॉग, सर्दी से बचाव के लिए आवश्यक एहतियात बरतें, ताकि आपका सामना बीमारी से सामना न हो।


तीन डिग्री लुढ़का तापमान
शनिवार के मुकाबले रविवार को अधिकतम तापमान में 3 डिग्री सेल्सियस की गिरावट दर्ज की गई। पिछले सात दिनों में तापमान में छह डिग्री सेल्सियस की गिरावट आई है। आसमान में बादल छाए रहे। कुछ देर गुनगुनी धूप रही फिर गायब हो गई। ठंडी हवाओं ने मौसम को और सर्द बना दिया। मौसम विभाग के अनुसार आने वाले दिनों में तापमान में गिरावट आने की उम्मीद है। ऐसे में सर्दी बढ़ेगी।

मास्क का प्रयोग नहीं करें बंद
बीके सिविल अस्पताल के वरिष्ठ डाक्टर योगेश गुप्ता ने कहा कि पाॅल्यूशन का ग्राफ दोबारा से खतरनाक स्तर पर जा रहा है। ऐसे में लोगों को अभी भी मास्क पहनकर रखना चाहिए। उड़ती धूल लोगों को बीमार बना सकती है। पाॅल्यूशन के ग्राफ को दोबारा बढ़ता हुआ देखकर स्वास्थ्य विभाग ने भी लोगों से अपील की है कि वे मास्क का प्रयोग अभी बंद न करें।

बुजुर्ग व छोटे बच्चों का रखे ध्यान
स्वास्थ्य विशेषज्ञों के अनुसार आने वाले दिनों में तापमान गिरेगा। ठंड और बढ़ेगी। ऐसे में इस मौसम में बुजुर्ग, पांच साल तक के बच्चे व अस्थमा व हृदय रोगियों का खास ख्याल रखने की जरूरत है। इस मौसम में इनकी परेशानी बढ़ जाती है। थोड़ी सी असावधानी मइनकी परेशानी बढ़ा सकती है। वरिष्ठ चिकित्सा अधिकारी डा. वीरेंद्र यादव के अनुसार ठंड के दौरान मरीजों को अर्ली वॉक से परहेज करना चाहिए। मौसम साफ होने व धूप खिलने के बाद ही वाॅक करनी चाहिए।


फिर स्मॉग का असर दिखा ट्रेन परिचालन पर
फरीदाबाद समेत दिल्ली एनसीआर में छाए स्मॉग का असर ट्रेन परिचालन फिर दिखाई पड़ा है। फरीदाबाद सेक्शन से होकर गुजरने वाली एक दर्जन ट्रेन निर्धारित समय से देरी से चलीं। एक्सप्रेस के अलावा लोकल ट्रेनों के परिचालन पर भी असर रहा।

वाहन चालक भी बरतें एहतियात
स्मॉग के साथ ही अब धुंध भी सताएगी। इसीलिए वाहन चालक, पैदल यात्रियों और साइकिल सवार को भी एहतियात बरतनी होगी। ट्रैफिक थाना प्रभारी हेमंत कुमार ने सुझाव दिया है कि वाहन चालक फॉग लाइट का इस्तेमाल करें। इसके अलावा हलके व भारी वाहन रिफलेक्टर टेप जरूर लगाएं ताकि स्माॅग, फॉग में वाहन दूर से ही दिखाई पड़ें। पैदल यात्रियों को सड़क पर चलने के लिए फुटपाथ का प्रयोग करना चाहिए। इसके अलावा साइकिल सवार भी रिफलेक्टर टेप लगाकर ही चलें।

रेल अधिकारियों का सुझाव
उत्तर रेलवे के मुख्य जनसंपर्क अधिकारी नितिन चौधरी का कहना है कि यात्री अपने गंतव्य तक जाने से पहले घर से निकलते समय संबंधित ट्रेन की जानकारी जरूर लें। इसके बाद घर से निकलें। क्योंकि ट्रेन लेट होने की दशा में प्लेटफार्म पर ही समय बिताना पड़ेगा। यात्री रेलवे के पूछताछ नंबर 139 पर भी जानकारी ले सकते हैं और कंप्यूटर और स्मार्ट फोन के जरिए रेलवे समय सारिणी या परिचालन स्थिति का पता लगा सकते हैं।

जहरीला धुआ बच्चों को भी बना देता है अस्थमा का मरीज
सीनियर डाक्टर वीरेंद्र यादव के अनुसार पराली का धुआ अस्थमा के मरीजों के जानलेवा होता है। यह बच्चों को अस्थमा का रोगी बना देता है। बच्चांे की त्वचा में एलर्जी होने लगती है। वहीं लंबे समय तक प्रदूषित हवा में रहने से दिल का दौरा और फेफड़े का कैंसर हो सकता है। उन्होंने कहा कि गर्भवती महिलाओं में पाॅल्यूशन का प्रभाव भ्रूण वृद्धि पर पड़ सकता है।

minimum tempreature
X
minimum tempreature
minimum tempreature
Bhaskar Whatsapp

Recommended

Click to listen..