--Advertisement--

रेलमंत्री को ट्वीट: महिला स्पेशल दो दिन के लिए की थी बंद, अब तक क्यों नहीं चलाई

पलवल तक चलने वाली महिला स्पेशल ट्रेन का परिचालन अस्थायी रूप से रोके जाने का विरोध होने लगा है।

Dainik Bhaskar

Dec 29, 2017, 08:06 AM IST
passenger tweet to railway minister

फरीदाबाद. पलवल से नई दिल्ली और नई दिल्ली से पलवल तक चलने वाली महिला स्पेशल ट्रेन का परिचालन अस्थायी रूप से रोके जाने का विरोध होने लगा है। दैनिक महिला यात्रियों ने इसे रेलवे की मनमानी करार देते हुए जान बूझकर इस ट्रेन को कैंसिल करने का आरोप लगाया है। एक दैनिक महिला यात्री ने रेलमंत्री पीयूष गोयल को ट्वीट कर पूछा है कि आखिर किस कारण से महिला स्पेशल का परिचालन रोका गया है।


रेलवे ने नई दिल्ली रेलवे स्टेशन के प्लेटफार्म नंबर दो पर मरम्मत का काम चलने के कारण 9 व 10 दिसंबर तक करीब 57 लोकल ट्रेनों का परिचालन पहले दो दिन तक रोका था। उसमें पलवल से नई दिल्ली अौर नई दिल्ली से पलवल जाने वाली महिला स्पेशल भी शामिल थी। लेकिन उसे आज तक बहाल नहीं किया गया। ऐसे में महिला यात्रियों को भीड़-भाड़ वाली शटलों में सफर करना पड़ रहा है। कई बार महिलाओं की इतनी भीड़ हो जाती है कि महिला कोच में भी चलना आसान नहीं होता है। फरीदाबाद की रहने वाली रजनी भट्‌ट नामक दैनिक महिला यात्री ने पांच दिन पहले रेलमंत्री को ट्वीट कर पूछा है कि आखिर महिला स्पेशल को दो दिन बंद कर चलाने के लिए कहा गया था, फिर क्यों नहीं चलाया गया।

महिलाओं के लिए सबसे सुविधाजनक है महिला स्पेशल ट्रेन
पलवल से नई दिल्ली के बीच डेली 5500 से अधिक महिला यात्री विभिन्न शटल ट्रेनों में सफर करती है। पलवल से नई दिल्ली के बीच अप और डाउन में कुल 44 लोकल ट्रेनें चलती है। एक शटल में दो कोच महिलाओं के लिए आरक्षित होते है। रेल अधिकारियों के मुताबिक एक कोच में कम से कम 100-125 यात्री सफर करते हैं। ऐसे में दो कोच में 250 से अधिक महिलाएं चलती है। पलवल से नई दिल्ली के बीच चलने वाली 6 कोच की महिला स्पेशल 64491/92 महिलाओं के लिए सबसे सुविधाजनक ट्रेन है। क्योंकि इसमें भीड़ भी अधिक नहीं होती है। भीड़ हो भी जाए तो महिलाओं को परेशानी नहीं होती। नौकरीपेशा वाली ज्यादातर महिलाएं नई दिल्ली तक इसी ट्रेन से आती-जाती हैं। क्योंकि सुबह 10 बजे ट्रेन नई दिल्ली पहुंच जाती है। जबकि वापसी में नई दिल्ली से शाम 5.50 बजे चलती है। शाम 6.35 बजे फरीदाबाद, 6.48 बजे बल्लभगढ़ अौर 7.20 बजे पलवल पहुंचती है। इससे कामकाजी महिलाएं समय पर अपने घर पहुंच जाती हैं।

सात ट्रेनें चल रही है कैंसिल

रेलवे ने फॉग का बहाना बनाकर अभी भी फरीदाबाद सेक्शन की सात ट्रेनों का परिचालन बंद कर रखा है। इससे दैनिक यात्रियों की परेशानी बढ़ गई है। कई शटल ट्रेनों में लोगों को जान जोखिम में डालकर सफर करना पड़ रहा है। रेलवे के मुताबिक अभी नई दिल्ली से पलवल जाने वाली 64080 शटल, 14211/12 आगरा इंटरसिटी एक्सप्रेस, 11901/2 कुरुक्षेत्र-मथुरा गीता जयंती एक्सप्रेस और 64491/92 महिला स्पेशल ट्रेन कैंसिल चल रही है। सबसे अधिक परेशानी मथुरा और आगरा जाने वालों को हो रही है। क्योंकि मथुरा व आगरा जाने के लिए आगरा इंटरसिटी और गीता जयंती प्रमुख ट्रेन है।

बोर्ड लेवल पर होता है ट्रेनें चलाने का फैसला

^ट्रेनों को चलाने और बंद करने का फैसला बोर्ड लेवल पर होता है। ऐसा नहीं है कि बंद की गई ट्रेनों को चलाया नहीं जा सकता। बशर्ते दैनिक यात्रियों को अपने जनप्रतिनिधियों के माध्यम से समस्या प्रमुखता से रखने की जरूरत है।
- विनोद कुमार, जनसंपर्क अधिकारी मुख्यालय उत्तर रेलवे।

X
passenger tweet to railway minister
Bhaskar Whatsapp

Recommended

Click to listen..