--Advertisement--

मजदूरी के पैसों को लेकर दो मर्डर, केस दर्ज कर आरोपियों की तलाश में जुटी पुलिस

अमीपुर गांव निवासी रोहताश ने पुलिस को दी शिकायत में बताया कि उनका 27 वर्षीय बेटा राहुल मजदूरी करता था।

Danik Bhaskar | Feb 15, 2018, 04:57 AM IST

फरीदाबाद. तिगांव व सराय ख्वाजा थाने के अंतर्गत मजदूरी के पैसों को लेकर दो लोगों की हत्या के मामले दर्ज किए गए हैं। पुलिस दोनों मामलों में आरोपियों की तलाश कर रही है।

अमीपुर गांव निवासी रोहताश ने पुलिस को दी शिकायत में बताया कि उनका 27 वर्षीय बेटा राहुल मजदूरी करता था। कबूलपुर गांव निवासी जयप्रकाश, संदीप, राजी व जयप्रकाश के जीजा पर बेटे राहुल के 32 हजार रुपए बकाया थे। उनके बेटे ने चारों के लिए मजदूरी की थी। चारों आरोपियों से पैसों के लिए बेटा कई बार तकादा कर चुका था, लेकिन पैसे नहीं मिले। इसी बात को लेकर चारों आरोपी उनके बेटे से रंजिश रखते थे।

मंगलवार सुबह चारों आरोपी दो बाइकों पर उनके घर आए और राहुल के बारे में पूछा। उस समय राहुल घर पर नहीं था। शाम को कबूलपुर गांव में लगन-सगाई का कार्यक्रम था, इसलिए राहुल उसमें शामिल होने चला गया। बुधवार सुबह उन्हें किसी ने बताया कि राहुल का शव सिडोला गांव के रकबे में पड़ा है। इसकी सूचना पुलिस को दी गई। पुलिस ने मौके पर जाकर शव को कब्जे में ले लिया। पोस्टमार्टम कराकर शव परिजनों को सौंप दिया।


तिगांव थाना जांच अधिकारी देवदत्त ने बताया कि आरोपियों को किसी ने नहीं देखा है। इस मामले में आरोपियों के नाम शक के आधार पर लिखाए गए हैं। इसलिए पुलिस मामले की जांच कर रही है। आरोपियों से पूछताछ के बाद ही कुछ पता लगेगा।

केस-2

इस्माइलपुर निवासी रोहित ने थाना सराय में दी शिकायत में बताया कि उनके गांव के पास निरंजन राम किराए के मकान में रहता था। वह राज मिस्त्री का काम करता था। उसके साथ पप्पू दास, राजू दास मजदूरी करते थे। 11 फरवरी को निरंजन ने उन्हें बताया था कि 10 फरवरी की रात 9.30 बजे वह घर से खाना खाकर टहलने निकले थे। उसे पप्पू व राजू मिले और उसके साथ मारपीट की। इसके बाद निरंजन को बीके अस्पताल में भर्ती कराया गया था। हालत गंभीर होने से वहां से उसे दिल्ली के सफदरजंग अस्पताल रेफर कर दिया गया था। मंगलवार रात इलाज के दौरान उसकी मौत हो गई। इसकी शिकायत पुलिस को दी। पुलिस ने पप्पू व राजू के खिलाफ हत्या का केस दर्ज कर लिया है।