• Home
  • Haryana News
  • Faridabad
  • डिलाइट अरावली व्यू से संबंधित सबूत 3 को एनजीटी के समक्ष रखेंगे
--Advertisement--

डिलाइट अरावली व्यू से संबंधित सबूत 3 को एनजीटी के समक्ष रखेंगे

फरीदाबाद|सूरजकुंड रोड पर डिलाइट अरावली व्यू के नाम से हो रहे मैरिज गार्डन के निर्माण को लेकर डायरेक्टर जितेंद्र...

Danik Bhaskar | Apr 01, 2018, 02:00 AM IST
फरीदाबाद|सूरजकुंड रोड पर डिलाइट अरावली व्यू के नाम से हो रहे मैरिज गार्डन के निर्माण को लेकर डायरेक्टर जितेंद्र भाटिया ने कहा कि निर्माण नियमानुसार हाे रहा है और संबंधित विभागों से एनओसी ले रखी है। भाटिया ने कहा कि वह 3 अप्रैल को एनजीटी के समक्ष पूरे सबूत रखेंगे। उन्होंने आरोप लगाया कि डिलाइट अरावली व्यू के निर्माण में अड़ंगा लगाने का प्रयास किया जा रहा है। इनमें कुछ लोग उनके प्रतिदंद्वी भी हैं। जो नहीं चाहते कि उनका यह प्रोजेक्ट पूरा हो। इस निर्माण को लेकर आरटीआई एक्टिविस्ट वरुण श्योकंद ने एक अर्जी एनजीटी में लगा रखी है। जिस पर 3 अप्रैल को सुनवाई है। भाटिया के मुताबिक सूरजकुंड रोड पर मैरिज गार्डन के निर्माण से पहले उन्होंने वन विभाग से पूरी अनुमति ली है। इसके बाद ही इसे बनाने की शुरुआत की है। इसके तहत उन्हें वन विभाग से एक निश्चित संख्या में पौधे लगाने की शर्त पर शुल्क की अदायगी करने के बाद ही सरकार से एनओसी मिली है। भूमि परिवर्तन नियम के अंतर्गत एलओआई का फाइनल लेटर मिला हुआ है। प्रदूषण विभाग से भी अनापत्ति प्रमाण-पत्र हासिल कर बिल्डिंग प्लान को स्वीकृत कराया जा चुका है। उन्होंने सभी कानूनी औपचारिकताएं पूरी करने के साथ-साथ डिस्पोजल ऑफ अर्थ नियम के अंतर्गत सरकार को निर्धारित रॉयल्टी भी अदा की है।