फरीदाबाद

  • Hindi News
  • Haryana News
  • Faridabad
  • डॉक्टरों की संवेदनहीनता के कारण पुलिस को नौकरानी का शव लेकर भटकना पड़ा, परिजनों ने लगाया जाम
--Advertisement--

डॉक्टरों की संवेदनहीनता के कारण पुलिस को नौकरानी का शव लेकर भटकना पड़ा, परिजनों ने लगाया जाम

मकान मालिक के घर फांसी लगाकर जान देने वाली 14 वर्षीय एसी नगर निवासी नौकरानी के पोस्टमॉर्टम में डॉक्टरों की...

Dainik Bhaskar

Apr 02, 2018, 02:00 AM IST
डॉक्टरों की संवेदनहीनता के कारण पुलिस को नौकरानी का शव लेकर भटकना पड़ा, परिजनों ने लगाया जाम
मकान मालिक के घर फांसी लगाकर जान देने वाली 14 वर्षीय एसी नगर निवासी नौकरानी के पोस्टमॉर्टम में डॉक्टरों की संवेदनहीनता के कारण पुलिस को शव लेकर भटकना पड़ा। काफी कोशिश के बाद रविवार देर शाम पीजीआई रोहतक में पोस्टमॉर्टम की कार्रवाई शुरू हो सकी। दरअसल पुलिस शव का पोस्टमॉर्टम फॉरेंसिक एक्सपर्ट से कराना चाहती थी। जिले में फॉरेंसिक एक्सपर्ट डॉक्टर नहीं हैं। ऐसे में जिला अस्पताल ने शव को नल्हड़ मेडिकल कॉलेज नूंह भेज दिया। पुलिस जब वहां पहुंची तो मेडिकल कॉलेज के डॉक्टरों ने कहा कि फरीदाबाद उनके अधिकार क्षेत्र में नहीं आता, इसलिए वहां पोस्टमॉर्टम नहीं किया जा सकता। शव के साथ मौजूद पुलिसकर्मियों ने डॉक्टरों से काफी विनती की मगर वे पोस्टमॉर्टम के लिए राजी नहीं हुए। आखिर में पुलिस ने उनसे शव रोहतक पीजीआई रेफर करने को कहा, मगर वे इसके लिए भी तैयार नहीं थे। काफी कोशिश के बाद शव रोहतक पीजीआई रेफर हुआ। वहां भी पोस्टमॉर्टम कराने के लिए जांच में जुटे पुलिस इंस्पेक्टर को अपने रसूख का इस्तेमाल करना पड़ा। तब जाकर शाम को पोस्टमॉर्टम की कार्रवाई शुरू हो सकी। बता दें औद्योगिक नगरी व स्मार्ट सिटी के तौर पर पहचान रखने वाले फरीदाबाद में फॉरेंसिक एक्सपर्ट डॉक्टर नहीं हैं। फॉरेंसिक एक्सपर्ट डॉक्टर से पोस्टमॉर्टम कराने के लिए पुलिस को शव रोहतक ले जाना पड़ता है। इससे जहां समय की बर्बादी होती है, वहीं मृतक के परिजन भी परेशान होते हैं। यह भी तब है जबकि जिले में मेडिकल कॉलेज भी शुरू हो चुका है। उधर दोपहर को ल़ड़की के परिजनों ने आरोपियों की गिरफ्तारी की मांग को लेकर बीके चौक पर जाम लगा दिया। इसकी सूचना मिलते ही पुिलस मौके पर पहुंची और कार्रवाई का आश्वासन दिया।

गले में रस्सी व चुन्नी का फंदा मिलने से गहराया शक

मामले की जांच में जुटे इंस्पेक्टर अशोक ने बताया कि नौकरानी की मौत प्रथम दृष्टि में आत्महत्या लग रही है। मगर उसके गले में चुन्नी के साथ ही रस्सी का फंदा भी मिलने से असमंजस की स्थिति बनी हुई है। इसलिए पुलिस ने शव का पोस्टमॉर्टम फॉरेंसिक एक्सपर्ट से कराने का निर्णय लिया। सोमवार को पोस्टमॉर्टम रिपोर्ट आएगी। उसमें ही मौत का कारण पता चलेगा।

पोक्सो एक्ट के तहत दर्ज हुआ मामला

एसी नगर निवासी किशोरी एनआइटी-1बी ब्लॉक में वालिया परिवार के घर घरेलू सहायिका के तौर पर काम करती थी।

शनिवार काे उसका शव उनके घर के ड्राइंग रूम में फंदे से लटका मिला था।

पुलिस ने उसकी मां की शिकायत पर मकान मालिक साेनू वालिया और उसके भाई विक्की वालिया के खिलाफ पोक्सो एक्ट व हत्या की धाराओं के तहत मुकदमा दर्ज किया है।

फरीदाबाद. मृतक नौकरानी के परिजन बीके चौक पर जाम लगाते हुए, जाम लगा रही महिलाओं को समझाता पुलिस कर्मी।

छेड़छाड़ के विरोध में हाईवे जाम, कार्रवाई के आश्वासन के बाद खोला

पलवल|नेशनल
हाईवे पर रसूलपुर चौक के निकट स्थित शराब के ठेके के पास ऑटो में बैठी नाबालिग व उसकी भाभी के साथ छेड़छाड़ करने के विरोध में लोगों ने नेशनल हाईवे पर जाम लगा दिया। पुलिस ने लोगों को समझा बुझाकर करीब 20 मिनट बाद जाम को खुलवाया। जाम के दौरान नेशनल हाईवे नंबर-दो पर दोनों तरफ वाहनों की लंबी कतारें लग गई। पीड़ित ने इस संबंध में जिला महिला थाने में लिखित शिकायत दे दी है। महिला थाना का कहना है कि केस दर्ज कर आरोपियों की तलाश की जा रही है। रविवार दोपहर एक नाबालिग लड़की अपनी भाभी व भाई के साथ गांव जाने के लिए नेशनल हाईवे स्थित रसूलपुर चौक पर ऑटो में बैठी थी। इसी दौरान वहां एक स्कॉर्पियो गाड़ी आकर रुकी और उसमें से दो युवक उतरे तथा पास ही खुले शराब के ठेके से शराब खरीदी और ऑटो में बैठी नाबालिग लड़की व उसकी भाभी के साथ छेड़छाड़ की। पीड़ित के भाई ने जब इसका विरोध किया तो आरोपियों ने उसके साथ मारपीट की। इसी दौरान वहां लोग एकत्र होने लगे। इससे आरोपी गाड़ी में बैठकर फरार हो गए।

X
डॉक्टरों की संवेदनहीनता के कारण पुलिस को नौकरानी का शव लेकर भटकना पड़ा, परिजनों ने लगाया जाम
Click to listen..