Hindi News »Haryana News »Faridabad» चिंता के साथ चिंतन

चिंता के साथ चिंतन

Bhaskar News Network | Last Modified - Feb 03, 2018, 02:05 AM IST

राजस्थान में हुए दो लोकसभा और एक विधानसभा उपचुनाव हारने की चिंता की लकीरें सूरजकुंड के होटल राजहंस में मंत्रियों...
चिंता के साथ चिंतन
राजस्थान में हुए दो लोकसभा और एक विधानसभा उपचुनाव हारने की चिंता की लकीरें सूरजकुंड के होटल राजहंस में मंत्रियों और विधायकों की मंथन बैठक में दिखाई दी। बैठक में इस बात पर चर्चा भी हुई। मुख्यमंत्री ने विधायकों से अपने-अपने विधानसभा क्षेत्रों में विकास कार्यों पर फोकस करते हुए उसे पूरा कराने और सरकार की योजनाओं का लाभ समाज के सभी वर्गों तक पहुंचाने पर जोर दिया। पार्टी के राष्ट्रीय अध्यक्ष अमित शाह की रैली के बहाने हरियाणा सरकार और संगठन बाइक रैली के जरिए शक्ति प्रदर्शन करना चाहती है। इसे मिशन 2019 को फतह करने के रूप में भी देखा जा रहा है। पार्टी के प्रदेश अध्यक्ष सुभाष बराला ने दैनिक भास्कर से बातचीत में इसके संकेत भी दिए। उन्होंने बताया कि राजस्थान की परिस्थितियां कुछ और व हरियाणा की कुछ और है। राजस्थान चुनाव परिणाम को राष्ट्रीय परिदृश्य के रूप में नहीं देखा जा सकता।

राजस्थान के दो लोकसभा अलवर व अजमेर तथा मांडलगढ़ विधानसभा क्षेत्र के उपचुनाव के परिणाम गुरुवार को आए। इसमें भाजपा को जोर का झटका लगा है। मुख्य विपक्षी पार्टी कांग्रेस ने तीनों उपचुनाव की सीटों पर कब्जा कर लिया। शुक्रवार को सूरजकुंड मेले का शुभारंभ करने के बाद हुई विधायक दल की बैठक में इस पर चर्चा भी की गई। क्योंकि बैठक में मुख्यमंत्री मनोहरलाल के अतिरिक्त पार्टी के राष्ट्रीय महासचिव डॉ. अनिल जैन व संगठन मंत्री सुरेश भट्ट भी शामिल थे। पार्टी की हार बेशक राजस्थान में हुई है लेकिन चिंता की लकीरें हरियाणा सरकार के चेहरे पर भी दिखाई दी। क्योंकि 2019 में केंद्र के साथ-साथ यहां विधानसभा चुनाव होने वाले हैं। यही कारण रहा कि मुख्यमंत्री मनोहरलाल और पार्टी के राष्ट्रीय महासचिव डॉ. अनिल जैन बैठक खत्म करने के बाद पत्रकारों से वार्ता किए बगैर ही चले गए। पार्टी सूत्रों का कहना है कि मुख्यमंत्री ने मंत्रियों व विधायकों से सरकार की योजनाओं को जनता तक पहुंचाने, क्षेत्रों में लंबित कार्यों को समय पर पूरा कराने पर जोर दिया है। जिससे मिशन 2019 को सफल किया जा सके।

मिशन 2019 पर होगा जोर, पार्टी के राष्ट्रीय अध्यक्ष अमित शाह की रैली के बहाने हरियाणा सरकार और संगठन बाइक रैली के जरिए शक्ति प्रदर्शन करना चाहती है

राजस्थान की परिस्थितियां भिन्न

दैनिक भास्कर से बातचीत में भाजपा प्रदेशाध्यक्ष सुभाष बराला ने कहा कि राजस्थान की हार पर मंथन किया गया। लेकिन उसे हर राज्य के चुनाव परिणाम से तुलना नहीं की जा सकती। इसके पहले हम गुजरात और हिमाचल प्रदेश का चुनाव जीत चुके हैं। आगे होने वाले चुनावों में भी पार्टी का परचम लहराएगा।

विधायक दल की बैठक में शाह की रैली पर मंथन

जींद में 15 फरवरी को भाजपा के राष्ट्रीय अध्यक्ष अमित शाह की होने वाली रैली को लेकर शुक्रवार को सूरजकुंड में सीएम मनोहरलाल ने विधायक दल की बैठक ली। इसमें कैबिनेट के कई मंत्री व विधायक समेत 42 लोग शामिल थे। इस दौरान रैली की तैयारियों पर मंथन के बाद तय किया गया कि पूरे हरियाणा से हर बूथ से 5 और हर विधानसभा क्षेत्र से 1100 बाइक रैली में शामिल होंगी। संबंधित क्षेत्र के विधायक व मंत्री उसका नेतृत्व करेंगे। करीब ढाई घंटे तक चली बैठक में रूट चार्ट आैर सुरक्षा इंतजामों पर भी चर्चा की गई। विधायकों से विकास कार्यों का फीडबैक भी लिया गया। सूरजकुंड मेले का उद्घाटन और यूपी के सीएम योगी आदित्यनाथ को विदा करने के बाद सीएम ने अपने सहयोगियों और विधायकों के साथ होटल राजहंस में बैठक की। करीब ढाई घंटे तक चली इस बैठक में राष्ट्रीय अध्यक्ष की रैली की तैयारियों पर ज्यादा फोकस रहा। प्रोजेक्टर के जरिए रैली के रूटचार्ट की जानकारी दी गई। शाम करीब 4.30 बजे बैठक खत्म हाेने के बाद सीएम मनोहरलाल हरियाणा रसोई का उद्घाटन करने के लिए उद्योगमंत्री विपुल गोयल के साथ निकले गए। मीटिंग के बाद पत्रकारों से बात करते हुए भाजपा प्रदेशाध्यक्ष सुभाष बराला ने कहा कि बैठक में तीन बिंदुआें पर चर्चा की गई। इसमें राष्ट्रीय अध्यक्ष की रैली और उसकी तैयारियां, विधायकों को अपने विधानसभा क्षेत्र के अतिरिक्त दी गई दूसरे विधानसभा क्षेत्र के कार्यों और आयोजन सहयोग निधि मुद्दे शामिल थे। बैठक में पार्टी के राष्ट्रीय महामंत्री एवं हरियाणा प्रभारी डॉ. अनिल जैन, संगठन मंत्री सुरेश भट्ट, हरियाणा के शिक्षा व पर्यटन मंत्री रामबिलास शर्मा, कृषि मंत्री ओपी धनखड़, परिवहन मंत्री कृष्णलाल पंवार, महिला एवं बाल विकास मंत्री कविता जैन, उद्योग मंत्री विपुल गोयल, सामाजिक न्याय एवं अधिकारिता राज्यमंत्री कृष्णकुमार बेदी आदि शामिल थे।

दैनिक भास्कर पर Hindi News पढ़िए और रखिये अपने आप को अप-टू-डेट | अब पाइए Haryana News in Hindi सबसे पहले दैनिक भास्कर पर | Hindi Samachar अपने मोबाइल पर पढ़ने के लिए डाउनलोड करें Hindi News App, या फिर 2G नेटवर्क के लिए हमारा Dainik Bhaskar Lite App.
Web Title: चिंता के साथ चिंतन
(News in Hindi from Dainik Bhaskar)

Stories You May be Interested in

      रिजल्ट शेयर करें:

      More From Faridabad

        Trending

        Live Hindi News

        0
        ×