फरीदाबाद

  • Hindi News
  • Haryana News
  • Faridabad
  • अल्टीमेटम : जब तक मांगों का समाधान नहीं तब तक जारी रहेगा निगम मुख्यालय पर धरना
--Advertisement--

अल्टीमेटम : जब तक मांगों का समाधान नहीं तब तक जारी रहेगा निगम मुख्यालय पर धरना

688 कर्मचारियों को रोल पर रखने व अन्य मांगों का समाधान जब तक नहीं होगा तब तक नगर निगम मुख्यालय पर आंदोलन जारी रहेगा।...

Dainik Bhaskar

Feb 03, 2018, 02:05 AM IST
688 कर्मचारियों को रोल पर रखने व अन्य मांगों का समाधान जब तक नहीं होगा तब तक नगर निगम मुख्यालय पर आंदोलन जारी रहेगा। यह चेतावनी शुक्रवार को निगम मुख्यालय पर 54 दिन से धरने पर बैठे कर्मचारियों को संबोधित करते हुए नगरपालिका कर्मचारी संघ के राज्य प्रधान नरेश कुमार शास्त्री ने दी। उन्होंने कहा कि नगरपालिका कर्मचारी संघ के पदाधिकारियों ने निगम कमिश्नर मोहम्मद शाइन से मुलाकात कर उन्हें मांगों के बारे में बताया। कमिश्नर ने अगले सप्ताह उनके साथ बैठक कर समस्याओं का समाधान करने का आश्वासन दिया है। धरने की अध्यक्षता ड्राइवर यूनियन के प्रधान परशुराम अधाना ने की। नगरपालिका कर्मचारी संघ के जिला वरिष्ठ उपप्रधान गुरचरण खांडिया, जिला सचिव नानकचंद खैरालिया, सफाई कर्मचारी यूनियन के प्रधान बलवीर सिंह बालगुहेर, ड्राइवर यूनियन के प्रधान परशुराम अधाना, वेद भड़ाना, सीवरमैन यूनियन के प्रधान सुभाष फेंटमार, वॉटर सप्लाई यूनियन के प्रधान रामकिशोर त्यागी ने चेतावनी देते हुए कहा कि जब तक 688 कर्मचारियों को निगम रोल पर रखने, इको ग्रीन कंपनी द्वारा घर-घर से कूड़ा उठाने का काम शुरू करने के बाद बेरोजगार हुए सफाई कर्मचारियों को नौकरी देने, ईएसआई, ईपीएफ का लाभ देने, दैनिक वेतन भोगी व अनुबंधित आधार पर लगे कर्मचारियों को नियमित करने, समान काम-समान वेतन देने, 14.29 प्रतिशत वेतन बढ़ोतरी का एरियर देने, 22 ट्यूबवेल ऑपरेटर व सीवरमैनों को ड्यूटी पर लेने, सफाई कर्मचारी व सीवरमैनों की भर्ती करने, सातवें वेतन आयोग का एरियर देने की मांगों का समाधान नहीं होगा तब तक आंदोलन जारी रहेगा।

बढ़े मुआवजे की मांग को लेकर हुडा कार्यालय के बाहर धरना

फरीदाबाद|
बढ़े हुए मुआवजे की मांग को लेकर ग्रेटर फरीदाबाद के कई गांवों के किसानों ने शुक्रवार को सेक्टर-12 स्थित हुडा कार्यालय पर धरना देकर प्रदर्शन किया। इस दौरान किसानों ने सरकार, प्रशासन और स्थानीय सत्तासीन नेताओं के खिलाफ नारेबाजी भी की। धरने की अध्यक्षता गांव नीमका के पूर्व सरपंच जगवीर नागर ने की। धरने को किसान नेता रणवीर सिंह चंदीला, किसान सभा के जिलाध्यक्ष नवल सिंह नरवत और अखिल भारतीय किसान मजदूर संघ के अध्यक्ष धीरू खटाना ने संबोधित किया। धरने पर आईएमटी किसान संघर्ष समिति के प्रधान रामनिवास नागर व किशनचंद धनखड़ ने पहुंच कर किसानों को 4 फरवरी को अन्ना हजारे की होने वाली रैली में आने का आमंत्रण दिया। किसान प्रदर्शन और नारेबाजी करते हुए कार्यालय के अंदर पहुंचे। वहां हुडा प्रशासक के न होने पर उनके निजी सहायक ने किसानों की बातचीत हुडा प्रशासक यशेंद्र सिंह से टेलीफोन पर कराई। किसानों को सुप्रीमकोर्ट के फैसले की कॉपी दी गई। इसके तहत उनका मुआवजा और रॉयल्टी को रोका गया है। हुडा प्रशासक ने बताया कि उनकी 9 फरवरी को उच्चाधिकारियों के साथ बैठक होगी। इसके बाद किसानों से बातचीत की जाएगी। जिन किसानों के प्लॉटों की राशि वापस देनी थी, वह भी लौटा दी गई। नहरपार किसान संघर्ष समिति के संरक्षक सतपाल नरवत ने कहा कि उनका बढ़ा हुआ मुआवजा सुप्रीमकोर्ट का बहाना बनाकर रोका गया है।

X
Click to listen..