--Advertisement--

जुनैद हत्याकांड: पुलिस जो चाकू दिखा रही है, वह मैंने बेचा था या नहीं, मुझे याद नहीं

जुनैद हत्याकांड की सुनवाई फास्ट ट्रैक कोर्ट में चल रही है।

Danik Bhaskar | Nov 29, 2017, 08:33 AM IST

फरीदाबाद। जुनैद हत्याकांड की सुनवाई फास्ट ट्रैक कोर्ट में चल रही है। 27, 28, 29 नवंबर को एक साथ तीन तारीख सुनवाई के लिए मुकर्रर की गई थीं। 27 को दो गवाहों के बयान हुए। 28 को चाकू विक्रेता, दो चिकित्सक और एसचएचओ की गवाही हुई। अहम बात यह है कि जुनैद केस में जीआरपी ने जिस चाकू विक्रेता को गवाह बनाया था, उसने कुछ इस तरह गवाही दी, जिससे केस बेहद कमजोर होता नजर रहा है। अदालत में हुई गवाही के मुताबिक चाकू विक्रेता वीरेंद्र ने वारदात में प्रयुक्त होने का दावा जताते हुए आरोपी से बरामद किए गए चाकू को पहचानने से इंकार कर दिया।

विक्रेता ने आरोपी को भी पहचानने से इंकार कर दिया। जुनैद के शव का पोस्टमार्टम करने वाले पलवल सिविल अस्पताल के चिकित्सक यतेंद्र, घायल हाकिम का मेडिकल करने वाले चिकित्सक शिवकांत ने भी अपनी गवाही दर्ज कराई है। बता दें 22 जून, 2017 को मथुरा जा रही शटल में बल्लभगढ़ असावटी स्टेशन के बीच बल्लभगढ़ के निकट खंदावली गांव निवासी जुनैद की चाकू से गोदकर हत्या कर दी गई थी। जीआरपी ने मुख्य आरोपी नरेश समेत छह आरोिपयों को गिरफ्तार किया था। केस का ट्राॅयल शुरू हो गया है। इस हत्याकांड में अन्य गवाहों के बयान 29 नवंबर को होने हैं।