--Advertisement--

सामने आया कंडक्टर की बेगुनाही का राज, बेल के लिए कोर्ट में होगा ये सबूत

अशोक की बेल के लिए बचाव पक्ष के पास सीबीआई द्वारा कब्जे में ली गई वह सीसीटीवी फुटेज है।

Dainik Bhaskar

Nov 16, 2017, 01:17 AM IST
प्रद्युम्न मर्डर केस में हरियाणा पुलिस ने कंडक्टर अशोक कुमार को आरोपी बनाया था। प्रद्युम्न मर्डर केस में हरियाणा पुलिस ने कंडक्टर अशोक कुमार को आरोपी बनाया था।

फरीदाबाद/ गुड़गांव. प्रद्युम्न मर्डर केस के आरोपी बस कंडक्टर अशोक कुमार की बेल पिटीशन पर गुरुवार को एडिशनल डिस्ट्रिक्ट एंड सेशंस जज रजनी यादव की कोर्ट में सुनवाई होगी। रोहतक के मोहित वर्मा अशोक के वकील हैं। ऐसी जानकारी है कि बचाव पक्ष अशोक की बेल के लिए उस सीसीटीवी फुटेज को कोर्ट में पेश करेगा, जिसके बेस पर सीबीआई ने रेयान स्कूल के 11वीं क्लास के स्टूडेंट को अरेस्ट किया था। मोहित ने कहा, "सीबीआई दोपहर 2 बजे कोर्ट को अपना जवाब देगी। इसके बाद बहस शुरू होगी। सीबीआई को बेल पर कोई आपत्ति नहीं है।" बता दें कि प्रद्युम्न का मर्डर 8 सितंबर को हुआ था।

सीसीटीवी फुटेज, टीचर के बयान और चाकू के बेस पर मांगी जाएगी आरोपी अशोक की जमानत

पहला ग्राउंड: 3 मिनट के सीसीटीवी फुटेज में अशोक की बेगुनाही का राज

- सीबीआई सूत्रों के मुताबिक, वारदात वाली सुबह सीसीटीवी फुटेज में टॉयलेट के पास अशोक की मौजूदगी का वक्त 4 मिनट के आसपास है, जबकि 11वीं क्लास के आरोपी स्टूडेंट की मौजूदगी 3 मिनट कुछ सेकंड की है।

- सीबीआई की हैदराबाद के साइंस एंड फोरेंसिक लैब से जो सीसीटीवी फुटेज क्लीयर होकर आई है, वह भी करीब 3 मिनट की है। इसी फुटेज में अशोक की बेगुनाही का राज है।

दूसरा ग्राउंड: टीचर ने कहा था जख्मी प्रद्युम्न को कार में रखवा दो

- स्कूल टीचर अंजू ने ही अशोक से प्रद्युम्न को फर्श से उठाकर कार में रखने को कहा था। इसी वजह से अशोक के कपड़ों पर खून लगा। हालांकि, जब अशोक ने सीबीआई को यह बात बताई, तब वह टीचर का नाम नहीं जानता था।

- इसके बाद सीबीआई ने स्कूल की कई टीचरों को अशोक के सामने लाकर खड़ा किया, तब उसने अंजू को पहचाना। इसके बाद सीबीआई ने अंजू से वारदात के वक्त हुई सारी गतिविधि की जानकारी ली।

तीसरा ग्राउंड: चाकू

- जिस चाकू से गला काटा गया, उसकी खरीदारी के लिए सोहना के दुकानदार तक सीबीआई का पहुंचना और चाकू की दोबारा बरामदगी शामिल है। ऐसा कहा जा रहा है कि सीबीआई ने इसी सबूत के आधार पर 11वीं क्लास के आरोपी स्टूडेंट को अरेस्ट किया है।

11 नवंबर को कोर्ट ने सीबीआई को दिया था नोटिस

- अशोक की बेल पिटीशन दायर होने के बाद कोर्ट की तरफ से सीबीआई को 11 नवंबर को नोटिस जारी किया गया था। ऐसा कहा जा रहा है कि सीबीआई अब अशोक की बेल पिटीशन का विरोध नहीं करेगी।

- बताया जा रहा है कि प्रद्युम्न मर्डर केस में सीबीआई को सही दिशा दिखाने वाला भी अशोक ही है। उसने सीबीआई को वे सब बातें बताईं, जिस कारण उसे जुर्म न करने के बावजूद जुर्म कबूल करना पड़ा। पुलिस ने जिस तरह अशोक को थर्ड डिग्री दी, वह सबकुछ उसने जांच एजेंसी के सामने बयां किया है।

- बचाव पक्ष के एडवोकेट मोहित वर्मा ने बताया- "सीबीआई इस केस में ज्यादातर सच सामने ला चुकी है। अशोक को जिन ऑफिसर्स ने जिनके कहने पर फंसाया, वह भी सीबीआई पता लगा चुकी है।"

डीसीपी पर गिरी गाज

- प्रद्युम्न मर्डर की जांच में शामिल रहे डीसीपी सिमरदीप सिंह के मंगलवार को ट्रांसफर के आदेश दिए गए। हालांकि इन आदेशों में 15 आईपीएस, तीन एचपीएस अधिकारियों के ट्रांसफर भी किए गए हैं पर डीसीपी सिमरदीप सिंह के ट्रांसफर की काफी चर्चा है।

- सीबीआई को जांच सौंपने के साथ ही भोंडसी थाना इन्चार्ज नरेंद्र का ट्रांसफर कर दिया गया था। वहीं, अब डीसीपी सिंह का तबादला भी इसी कड़ी का हिस्सा माना जा रहा है।

सीबीआई ने हरियाणा पुलिस की थ्योरी के खिलाफ इस केस में 11वीं के एक स्टूडेंट को अरेस्ट किया है । फिलहाल ये आरोपी सुधार गृह में रह रहा है। सीबीआई ने हरियाणा पुलिस की थ्योरी के खिलाफ इस केस में 11वीं के एक स्टूडेंट को अरेस्ट किया है । फिलहाल ये आरोपी सुधार गृह में रह रहा है।
प्रद्युम्न का मर्डर 8 सितंबर को हुआ था। (फाइल) प्रद्युम्न का मर्डर 8 सितंबर को हुआ था। (फाइल)
X
प्रद्युम्न मर्डर केस में हरियाणा पुलिस ने कंडक्टर अशोक कुमार को आरोपी बनाया था।प्रद्युम्न मर्डर केस में हरियाणा पुलिस ने कंडक्टर अशोक कुमार को आरोपी बनाया था।
सीबीआई ने हरियाणा पुलिस की थ्योरी के खिलाफ इस केस में 11वीं के एक स्टूडेंट को अरेस्ट किया है । फिलहाल ये आरोपी सुधार गृह में रह रहा है।सीबीआई ने हरियाणा पुलिस की थ्योरी के खिलाफ इस केस में 11वीं के एक स्टूडेंट को अरेस्ट किया है । फिलहाल ये आरोपी सुधार गृह में रह रहा है।
प्रद्युम्न का मर्डर 8 सितंबर को हुआ था। (फाइल)प्रद्युम्न का मर्डर 8 सितंबर को हुआ था। (फाइल)
Bhaskar Whatsapp

Recommended

Click to listen..