फरीदाबाद

--Advertisement--

छेड़खानी के आरोप से आहत हुआ सरपंच, जहर खाकर दी जान

घोड़ी गांव के सरपंच पर शुक्रवार को गांव ही एक महिला ने छेड़खानी का आरोप लगाते हुए पुलिस को शिकायत दी थी।

Dainik Bhaskar

Nov 26, 2017, 06:04 AM IST

पलवल. घोड़ी गांव के सरपंच पर शुक्रवार को गांव ही एक महिला ने छेड़खानी का आरोप लगाते हुए पुलिस को शिकायत दी थी। इससे आहत होकर शनिवार सुबह सरपंच ने जहर खाकर जान दे दी। सरपंच के भाई ने आरोप लगाया कि सरपंच को साजिश के तहत फंसाया जा रहा था। पुलिस ने मृतक के भाई की शिकायत पर महिला समेत 8 पर आत्महत्या के लिए मजबूर करने का केस दर्ज किया है। चांदहट थाना प्रभारी नवल किशोर के अनुसार घोड़ी गांव निवासी वीरेंद्र ने शिकायत में कहा कि उसका भाई राजेंद्र गांव के सरपंच थे।

गांव में कुछ लोगों ने पंचायत की जमीन पर कब्जे कर रखे हैं। सरपंच बनने के बाद राजेंद्र ने कब्जों को हटाने के लिए अभियान चला रखा था। इसी रंजिश में पंचायत जमीन पर कब्जाधारियों ने योजना बनाकर एक महिला से सरपंच के खिलाफ 24 नवंबर को महिला थाने में छेडख़ानी की झूठी शिकायत दिलवाई थी। आरोप है कि उक्त लोग सरपंच को कब्जा हटवाने पर हरिजन एक्ट में फंसाने की भी धमकी दे रहे थे। इन लोगों से परेशान होकर राजेंद्र ने शनिवार सुबह जहर खा लिया। जिसके बाद उपचार के दौरान राजेंद्र ने दम तोड़ दिया। पुलिस ने वीरेंद्र की शिकायत पर गांव के ही सुक्की, लाखूराम, भरतपाल, डालचंद, प्रवीन, अनिल, उदय व पूनम पर आत्महत्या के लिए मजबूर करने का केस दर्ज किया है। मामले में किसी की गिरफ्तारी नहीं हुई है।

X
Click to listen..