--Advertisement--

PIX: ओलिंपिक में दिखा था इनका जादू, बिना मैदान में उतरे सुर्खियां में छाईं

बीजिंग ओलिंपिक और लंदन ओलिंपिक में एंकरिंग करके कांथी डी सुरेश खेलप्रेमियों के दिलों पर छा गई थीं।

Dainik Bhaskar

Apr 30, 2014, 12:23 AM IST
Beijing Olympic Anchor kanthi d suresh faridabad haryana
फरीदाबाद. IPL का सीजन है और हर तरफ खेल की बात हो रही है। खेल की जब भी बात होती है तो कुछ चेहरे ऐसे होते हैं जिन्हें कभी भुलाया नहीं जा सकता। लेकिन कुछ चेहरे ऐसे होते हैं जिनका खेल से तो कोई वास्ता नहीं होता, लेकिन खेल के मैदान में उतरना भर उन्हें दुनिया की नजर में बड़ा बना देता है। ऐसा ही एक नाम है फरीदाबाद की कांथी डी सुरेश का। जिन्होंने खेल के मैदान में भले ही अपना जौहर न दिखाया हो, लेकिन मैदान में रहकर खूब वाहवाही बटोरी है। हम बात कर रहे हैं बीजिंग ओलिंपिक में एंकरिंग कर चुकी कांथी डी सुरेश की। कांथी लंदन ओलिंपिक में भी एंकरिंग करके खेलप्रेमियों के दिलों पर छा गई थीं।
यह खूबसूरत एंकर फरीदाबाद नगर निगम कमिश्नर डॉ. डी सुरेश की पत्नी हैं। इन्होंने अपनी शादनार एंकरिंग से न केवल खुद का, बल्कि पूरे देश का नाम रोशन किया है। कांथी ने हरियाणा का गौरव बढ़ाने में एक खास योगदान दिया है। कॉमनवेल्थ गेम्स के दौरान हरियाणा सरकार ने उन्हें पुरस्कृत भी किया था।
नोट- यह खबर Dainikbhaskar.com की तरफ से चलाई जा रही PRIDE@HARYANA सीरीज के तहत चलाई जा रही है।
(आगे की स्लाइड्स में जानिए कांथी की कहानी और देखिए अपने परिवार के साथ उनकी तस्वीरें)
Beijing Olympic Anchor kanthi d suresh faridabad haryana
ओस्मानिया यूनिवर्सिटी से की पढ़ाई
 
कांथी ने ओस्मानिया यूनिवर्सिटी से अपनी पढाई पूरी की है। कांथी ने न केवल बीजिंग ओलंपिक में अपनी एंकरिंग से लोगों को लुभाया बल्कि भारत में इन्होंने एंकरिग की है। दिल्ली में हुए कॉमनवेल्थ गेम्स में कांथी ने एंकरिंग कर उसमें भी चार चांद लगा दिए। वर्तमान में कांथी डी सुरेश एक निजी कंपनी की बिजनेस हेड हैं। इससे पहले कांथी दो निजी कंपनियों में एचआर हेड और एचआर मैनेजर के तौर पर भी काम कर चुकी हैं। काम के साथ-साथ लाइफ को एंज्वाय करना तो हर किसी को पसंद है। कुछ ऐसा ही मानना है कांथी का भी। कांथी एंज्वाय करने का कोई पल नहीं छोड़ती हैं। न्यू ईयर मनाने के लिए कांथी ने ये स्पेशल गाउन डिजाइन करवाया था।
Beijing Olympic Anchor kanthi d suresh faridabad haryana
1995 में हुई थी शादी
 
कांथी की शादी 1995 में हुई थी। इनके पति का नाम डॉ. डी सुरेश है। डॉ. डी सुरेश फरीदाबाद नगर निगम कमिश्नर हैं। कांथी के दो बच्चे हैं जिन्हें वे बहुत प्यार करती हैं। कांथी अपने बच्चों के भविष्य को लेकर भी काफी चिंतित रहती हैं। कांथी का मानना है कि बच्चों को अच्छा भविष्य देना हर माता-पिता का कर्तव्य है। कांथी भी खुद को एक अच्छी मां की तरह देखना चाहती हैं।  जब कांथी डी सुरेश से ये पूछा गया कि वह खुद को भविष्य में कहां देखती हैं तो उनका कहना था कि वो कई सारे काम करता हुआ देखती हैं खुद को। उनके मन में बहुत सारे काम करने की इच्छा है। लेकिन अपनी बात में उन्होंने एक खास बात जोड़ी और कहा कि वो समाज के हित में भी अपना योगदना देना चाहती हैं।
Beijing Olympic Anchor kanthi d suresh faridabad haryana
खुद को मानती हैं रिस्पोंसिबल सिटीजन
 
कांथी खुद को भारत का एक रिस्पोंसिबल सिटीजन मानती हैं और कहती हैं कि इस देश का नागरिक होने के नाते सभी को देश के हित में काम करना चाहिए। हर किसी को देश के विकास के लिए कुछ ना कुछ जरूर करना चाहिए। कांथी ने कहा कि वो खुद को एक करियर वुमन की तरह देखती है और भविष्य में और आगे बढ़ना चाहती हैं। कांथी जिंदगी में सफलता के कई झंडे गाड़ना चाहती हैं। लेकिन इन सबसे अधिक वो एक बात पर फोकस करना चाहती हैं जो है उनके बच्चों का भविष्य। कांथी कहती हैं कि अगर वो जिंदगी में सब कुछ पा भी लें लेकिन इस स्टेज में अपने बच्चों को समय ना दे पाएं तो यह उन्हें बहुत बुरा लगेगा। कांथी का मानना है कि उनके खुद के करियर से अधिक महत्वपूर्ण है उनके बच्चों का करियर। अगर बच्चों के करियर में कोई रुकावट आती है तो कांथी इसके लिए खुद को जिम्मेदार मानेंगी।
Beijing Olympic Anchor kanthi d suresh faridabad haryana
मिस हैदराबाद और मिसेज इंडिया ग्लैडीरैग्स का जीता खिताब
 
कांथी ने मिस हैदराबाद कॉंटेस्ट में 1993 में विजय हासिल की थी। कांथी ने 2003 में मिसेज इंडिया ग्लैडरैग्स का खिताब जीता। 1993 से लेकर 2003 के बीच में ही कांथी के दो बच्चे हुए थे जिसकी वजह से वह काफी मोटी हो गई थीं। इस दौरान कांथी के लिए खुद की फिटनेस एक बड़ा सवाल बन गई थी। जब कांथी मोटी हो गई थीं तो उनसे किसी ने कहा कि क्या तुम वाकई में मिस हैदराबाद रही हो? कांथी को ये बात बहुत ही बुरी लगी और यही वो प्वाइंट था जो एक टर्निंग प्वाइंट बना।
 
लेकिन इस बात को कांथी ने नेगेटिव ना लेकर एक चैलेंज की तरह लिया और खुद को फिट करने के लिए कड़ी मेहनत शुरू कर दी। इस कड़ी मेहनत का नतीजा यह हुआ कि कांथी अब एक बार फिर से फिट और ब्यूटिफुल हो गई हैं।
 
आगे की स्लाइड्स में देखिए अपने परिवार के साथ कांथी की कुछ निजी तस्वीरें।
Beijing Olympic Anchor kanthi d suresh faridabad haryana
Beijing Olympic Anchor kanthi d suresh faridabad haryana
Beijing Olympic Anchor kanthi d suresh faridabad haryana
Beijing Olympic Anchor kanthi d suresh faridabad haryana
Beijing Olympic Anchor kanthi d suresh faridabad haryana
Beijing Olympic Anchor kanthi d suresh faridabad haryana
X
Beijing Olympic Anchor kanthi d suresh faridabad haryana
Beijing Olympic Anchor kanthi d suresh faridabad haryana
Beijing Olympic Anchor kanthi d suresh faridabad haryana
Beijing Olympic Anchor kanthi d suresh faridabad haryana
Beijing Olympic Anchor kanthi d suresh faridabad haryana
Beijing Olympic Anchor kanthi d suresh faridabad haryana
Beijing Olympic Anchor kanthi d suresh faridabad haryana
Beijing Olympic Anchor kanthi d suresh faridabad haryana
Beijing Olympic Anchor kanthi d suresh faridabad haryana
Beijing Olympic Anchor kanthi d suresh faridabad haryana
Beijing Olympic Anchor kanthi d suresh faridabad haryana
Bhaskar Whatsapp

Recommended

Click to listen..