• Hindi News
  • Haryana
  • Faridabad
  • देहरादून एक्सप्रेस की चपेट में आने से आरपीएफकर्मी की मौत, शव के टुकड़े 80 मीटर दूर तक बिखरे पड़े थे
--Advertisement--

देहरादून एक्सप्रेस की चपेट में आने से आरपीएफकर्मी की मौत, शव के टुकड़े 80 मीटर दूर तक बिखरे पड़े थे

Dainik Bhaskar

May 02, 2018, 02:00 AM IST

Faridabad News - बांद्रा जा रही देहरादून एक्सप्रेस से उतरने के दौरान पैर फिसलने से एक आरपीएफकर्मी ट्रेन के नीचे आ गया। इससे उसकी...

देहरादून एक्सप्रेस की चपेट में आने से आरपीएफकर्मी की मौत, शव के टुकड़े 80 मीटर दूर तक बिखरे पड़े थे
बांद्रा जा रही देहरादून एक्सप्रेस से उतरने के दौरान पैर फिसलने से एक आरपीएफकर्मी ट्रेन के नीचे आ गया। इससे उसकी मौत हो गई। वह हजरत निजामुद्दीन में तैनात था। सोमवार रात उसकी ड्यूटी क्राइम कंट्रोल के लिए देहरादून एक्सप्रेस में लगाई गई थी। वह साथियों के साथ ट्रेन को एस्कार्ट करते हुए मथुरा की ओर जा रहा था। घटना की सूचना जीआरपी व आरपीएफ को मंगलवार सुबह मिली। आरपीएफ के उच्चाधिकारी मौके पर पहुंचे और घटना की जांच की। जीआरपी ने परिजनों के आने के बाद शव को कब्जे में लेकर पोस्टमार्टम के लिए भेज दिया।

यूपी के बागपत जिला के गांव राठौरा थाना छपरौली निवासी आरपीएफ कांस्टेबल मनोज कुमार (30) वर्तमान में हजरत निजामुद्दीन स्टेशन पर तैनात थे। एक साल पहले ही उनका तबादला फरीदाबाद से किया गया था। बताया जाता है कि सोमवार रात उसकी ड्यूटी क्राइम कंट्रोल के लिए देहरादून से बांद्रा जा रही 19020 देहरादून एक्सप्रेस में थी। यह ट्रेन रात 11.03 बजे फरीदाबाद पहुंची थी। ट्रेन चलने के दौरान किसी संदिग्ध को पकड़ने के चक्कर में ओल्ड स्टेशन पर न्यूटाउन की ओर वह ट्रेन से उतरने की कोशिश कर रहे थे तभी पैर फिसल गया और वह ट्रेन के नीचे चले गए। ट्रेन के पायदान और प्लेटफार्म के बीच फंसने से पूरा शरीर रोल हाे गया और कई टुकड़ों में बंट गया। हैरानी की बात यह है कि घटना के बाद मथुरा की ओर से करीब आधा दर्जन ट्रेनें फरीदाबाद अोल्ड स्टेशन से पास हुई लेकिन किसी के लोको पायलट ने इसकी सूचना तक नहीं दी। निजामुद्दीन आरपीएफ प्रभारी भूपेंद्र सिंह के मुताबिक मनोज के साथ दो अन्य कर्मियों की ड्यूटी लगाई गई थी। चूंकि तीनों अलग-अलग कोच में थे। इसलिए अन्य कर्मियों को भी घटना की जानकारी नहीं मिल पाई।

उच्चाधिकारी पहुंचे मौके पर की घटना की जांच

जीआरपी थाना प्रभारी ओमप्रकाश के मुताबिक घटना की सूचना सुबह करीब 6.08 बजे निजामुद्दीन-कोटा स्पेशल के लोको पायलट अशोक कुमार ने दी। इसके बाद दिल्ली ईस्ट के वरिष्ठ मंडल सुरक्षा आयुक्त शशिकुमार, सहायक मंडल सुरक्षा आयुक्त अनूप गोरिंका, फरीदाबाद थाना प्रभारी आरके लांबा समेत अन्य अधिकारी मौके पर पहुंचे और घटना की जांच की।

फरीदाबाद. आरपीएफकर्मी की मौत की खबर के बाद मौके पर पहुंचे आरपीएफ के उच्च अधिकारी। इनसेट में मनोज की (फाइल फोटो)

80 मीटर तक फैले थे शव के टुकड़े

आरपीएफकर्मी मनोज के शव के टुकड़े करीब 80 मीटर तक फैले हुए थे। सुबह मौके पर पहुंचे जीआरपीकर्मियों ने टुकड़ों को एकत्र किया। परिजनों को सूचना दी गई। परिजनों के पहुंचने के बाद शव को पोस्टमार्टम के लिए भेज दिया गया।

देहरादून एक्सप्रेस की चपेट में आने से आरपीएफकर्मी की मौत, शव के टुकड़े 80 मीटर दूर तक बिखरे पड़े थे
X
देहरादून एक्सप्रेस की चपेट में आने से आरपीएफकर्मी की मौत, शव के टुकड़े 80 मीटर दूर तक बिखरे पड़े थे
देहरादून एक्सप्रेस की चपेट में आने से आरपीएफकर्मी की मौत, शव के टुकड़े 80 मीटर दूर तक बिखरे पड़े थे
Astrology

Recommended

Click to listen..