• Home
  • Haryana News
  • Faridabad
  • आरपीएफकर्मी की ट्रेन की चपेट में आने से हुई मौत की विभागीय जांच होगी
--Advertisement--

आरपीएफकर्मी की ट्रेन की चपेट में आने से हुई मौत की विभागीय जांच होगी

देहरादून एक्सप्रेस की चपेट में आने से हुई आरपीएफकर्मी की मौत की घटना की विभागीय जांच की जाएगी। उच्चाधिकारियों ने...

Danik Bhaskar | May 03, 2018, 02:00 AM IST
देहरादून एक्सप्रेस की चपेट में आने से हुई आरपीएफकर्मी की मौत की घटना की विभागीय जांच की जाएगी। उच्चाधिकारियों ने घटना की जांच के आदेश दे दिए हैं। जांच में यह पता लगाया जाएगा कि आरपीएफकर्मी फरीदाबाद ओल्ड रेलवे स्टेशन कैसे पहुंचा। घटना कैसे हुई। जब शव रेलवे ट्रैक के किनारे पड़ा रहा तो अन्य गुजरने वाली ट्रेनों के लोको पायलट ने सूचना क्यों नहीं दी। विभागीय जांच इंस्पेक्टर रैंक के अधिकारी करेंगे। वहीं दूसरी ओर मंगलवार दोपहर शव का पोस्टमार्टम हो गया। इसके बाद परिजन शव पैतृक गांव बागपत ले गए। वहां देर शाम उसका अंतिम संस्कार कर दिया गया।

देहरादून एक्सप्रेस में क्राइम कंट्रोल की ड्यूटी के दौरान सोमवार 11.05 बजे ओल्ड रेलवे स्टेशन पर पैर फिसलने से मनोज ट्रेन के नीचे चला गया था। इससे उसकी मौत हो गई थी। शव प्लेटफार्म से करीब 80 मीटर तक दूरी तक पड़ा होने से कई सवाल पैदा करता है। क्योंकि जिस ट्रेन से हादसा हुआ उसका स्टॉपेज फरीदाबाद में है। शव जिस तरह से कई टुकड़ों में बंट दूर तक फैला हुआ था उससे साफ जाहिर होता है कि ट्रेन की रफ्तार तेज हो गई थी। विभागीय सूत्रों का कहना है कि आरपीएफकर्मी ट्रेन के पीछे साइड के कोच में चेकिंग कर रहा था। हो सकता है कि जब वह प्लेटफार्म पर उतरने की कोशिश कर रहा हो तब ट्रेन ने रफ्तार पकड़ ली हो। वरिष्ठ मंडल सुरक्षा आयुक्त ईस्ट शशि कुमार का कहना है कि घटना की विभागीय जांच होगी।

उन सभी तथ्यों की जांच की जाएगी जिस पर संदेह है। जिस कर्मचारी के साथ उसकी ड्यूटी थी और जिस लोको पायलट ने घटना की सूचना जीआरपी को दी उन सबके बयान दर्ज किए जाएंगे। यह रेलवे की एक प्रक्रिया है।

देहरादून एक्सप्रेस में क्राइम कंट्रोल की ड्यूटी के दौरान हुआ हादसा