• Home
  • Haryana News
  • Faridabad
  • फरीदाबाद डिपो में तीन चरणों में शामिल होंगी 190 बसें, लोकल और अन्य रूटों पर दौड़ेंगी
--Advertisement--

फरीदाबाद डिपो में तीन चरणों में शामिल होंगी 190 बसें, लोकल और अन्य रूटों पर दौड़ेंगी

राज्य सरकार ने फरीदाबाद रोडवेज के डिपो में बसों की संख्या बढ़ाने का निर्णय लिया है। इसके तहत फरीदाबाद के बेड़े में...

Danik Bhaskar | Jun 14, 2018, 02:00 AM IST
राज्य सरकार ने फरीदाबाद रोडवेज के डिपो में बसों की संख्या बढ़ाने का निर्णय लिया है। इसके तहत फरीदाबाद के बेड़े में 190 बसें शामिल की जाएंगी। इन्हें तीन चरणों में शामिल किया जाएगा। आने वाले दिनों में याित्रयों को रोडवेज की ओर से बेहतर परिवहन सेवाएं उपलब्ध हो सकेंगी। खास बात यह है कि पहले चरण में कुल 90 बसें शामिल होंगी। इनमें एसी और नान एसी दोनों प्रकार की होंगी। परिवहन विभाग द्वारा प्रदेशभर से भेजी गई िडटेल प्रोजेक्ट रिपोर्ट को सरकार ने मंजूर कर ली है। वर्तमान में अभी मेन डिपो और सिटी बस सेवा के तहत कुल 180 बसें संचालित हो रही हैं।

ये आबादी और याित्रयों की संख्या के िहसाब से न के बराबर हैं। बसों की कमी का फायदा निजी बस वाले उठा रहे हैं। परिवहन विभाग के अनुसार यहां प्रतिदिन 4200 से 4500 यात्री विभिन्न रूटों पर सफर करते हैं। इससे रोडवेज को रोज करीब 8 से 10 लाख रुपए की आमदनी होती है। परिवहन विभाग के अधिकारियों के अनुसार बेड़े में बसों की संख्या बढ़ने से याित्रयों को सुिवधा होगी। साथ ही रोडवेज की इनकम भी बढ़ेगी। वैसे भी शहर स्मार्ट सिटी में शामिल है। ऐसे में स्मार्ट सिटी की परिवहन व्यवस्था और बेहतर हो जाएगी।

अभी मेन डिपो और सिटी बस सेवा के तहत कुल 180 बसें संचालित हो रही हैं, प्रतिदिन 4200 से 4500 यात्री विभिन्न रूटों पर सफर कर रहे हैं

पहले चरण में कुल 90 बसें शामिल होंगी

फरीदाबाद. बल्लभगढ़ डिपाे मंें खड़ी खराब बसें।

इन स्थानों को जाती हैं रोडवेज की बसें

बल्लभगढ़ डिपाे के स्टेशन अधीक्षक नेपाल सिंह के अनुसार मेन डिपो के बेड़े में अभी 120 बसें हैं। इनमें से 100 बसें विभिन्न रूटों पर चल रही हैं। डिपो से रोज कटरा, हमीरपुर, बैजनाथ, धर्मशाला, ऋषिकेश, हरिद्वार, नारनौल, चंडीगढ़, शिमला, अागरा, मथुरा, गुड़गांव, रोहतक, हिसार, जींद, झज्जर, महम व िभवानी आदि के लिए चलती हैं। रोज यहां से 2800 से 3000 यात्री उक्त रूटों पर सफर करते हैं।

सिटी सर्विस के तहत चल रही 80 बसें

सिटी बस सर्विस के तहत रोडवेज की शहरी क्षेत्र के अलावा कई ग्रामीण क्षेत्रों में बसें चलती हैं। वर्तमान में सिटी सर्विस में कुल 150 बसें हैं। इनमंें से 80 बसें आॅन रोड चल रही हैं। रोज करीब 1200 से 1500 यात्री सफर करते हैं। अधिकतर बसें दिल्ली, बाइपास डहकौला, मंझावली और अरुआ तक चलती हैं। इससे सिटी सर्विस को 3.50 लाख रुपए तक राजस्व मिलता है।

फरीदाबाद डीपीआर को मिली मंजूरी

विभागीय सूत्राें के अनुसार फरीदाबाद में सिटी बस सर्विस के लिए विस्तृत परियोजना रिपोर्ट (डीपीआर) को अंतिम रूप दे दिया गया है। पहले चरण में 90 बसों को सेवा में लगाया जाएगा। इसमें 40 सेमी लोअर फ्लोर सीएनजी वातानुकूलित बसें और 50 सेमी लोअर फ्लोर सीएनजी गैर-वातानुकूलित बसें शामिल हैं। इसी प्रकार दूसरे और तीसरे चरण में 100-100 बसें चलाई जाएंगी।

सिटी बसें कम होने से ट्रेनों में है भीड़

मेट्रो सेवा महंगी होेने से शहरवासियों को सस्ती परिवहन सेवा की दरकार है। रोडवेज के सिटी सर्विस बेड़े में बसों की संख्या बेहद कम है। इसलिए अधिकांश यात्री शटल ट्रेनों का सहारा लेते हैं। आरटीआई एक्टिविस्ट रविंद्र चावला के अनुसार यदि रोडवेज लोकल में परिवहन व्यवस्था मजबूत कर ले तो याित्रयों को राहत मिलेगी। अभी मजबूरी में लोग शटल ट्रेन से न्यूटाउन, ओल्ड फरीदाबाद, तुगलकाबाद, ओखला और निजामुद्दीन जाने के लिए मजबूर हैं।

गुड़गांव डिपो के बेड़े में होंगी 500 बसें

सिटी बस सेवा को मजबूत करने के लिए हरियाणा सरकार ने गुड़गांव में सिटी बस सर्विस परियोजना के तहत 500 सिटी बसों का एक बेड़ा बनाने की योजना बनाई है। इसके लिए 100 बसों के लिए कार्य आदेश जारी किए जा चुके हैं। 15 अगस्त तक 25 बसों का संचालन शहर में शुरू हो जाएगा। विभागीय सूत्रों का कहना है कि सीएम मनोहर लाल ने मंगलवार देर शाम इस सेवा की प्रगति की समीक्षा भी की है। अगले चरण में 100 सीएनजी बसें शुरू करने की योजना है। इसके अतिरिक्त 100 इलेक्ट्रिक बसों की भी स्वीकृति प्रदान की है। इसके लिए जून अंत तक टेंडर जारी कर दिए जाएंगे।