Hindi News »Haryana »Faridabad» राजनैतिक दल समाज की भागीदारी सुनिश्चित करें, तभी करेंगे समर्थन

राजनैतिक दल समाज की भागीदारी सुनिश्चित करें, तभी करेंगे समर्थन

राजनीति में क्षत्रिय समाज की हो रही अनदेखी को लेकर जिला राजपूत समन्वय समिति की बैठक सेक्टर-8 स्थित महाराणा प्रताप...

Bhaskar News Network | Last Modified - Jun 14, 2018, 02:00 AM IST

राजनीति में क्षत्रिय समाज की हो रही अनदेखी को लेकर जिला राजपूत समन्वय समिति की बैठक सेक्टर-8 स्थित महाराणा प्रताप भवन में हुई। इसमें शहर के राजनैतिक दलों द्वारा क्षत्रिय समाज की उपेक्षा को लेकर विचार हुआ। कहा गया कि हाल ही में नगर निगम के मनोनीत पार्षद पद को लेकर क्षत्रिय समाज से अनिल प्रताप सिंह के नाम पर सहमति हो चुकी थी। लेकिन आखिरी समय में उनकी जगह भाटिया को मनोनीत पार्षद के लिए फाइनल कर दिया गया। इसे लेकर क्षत्रिय समाज में रोष है। मीटिंग में रिटायर्ड आईएएस एचएस राणा ने कहा कि राजनैतिक दल क्षत्रिय समाज को केवल वोट बैंक के रूप में प्रयोग करते हैं। जब सत्ता में भागीदारी की बारी आती है तो तवज्जो नहीं देते। इस समाज की अनदेखी की जा रही है। राजपूत सांस्कृतिक संस्था के अध्यक्ष एसआर रावत ने कहा कि राजनैतिक दल राजपूत समाज की भागीदारी सुनिश्चित करें। तभी समाज उन्हें चुनाव में समर्थन करेगा। बैठक में क्षत्रिय सभा बल्लभगढ़ के अध्यक्ष राजेश रावत, वीरेंद्र गौड़ व प्रताप भाटी ने कहा कि निगम के चुनाव में किसी भी राजनैतिक दल ने राजपूत समाज के उम्मीदवार को टिकट नहीं दिया था। जबकि जिला परिषद के दस मेंबर में से तीन राजपूत मेम्बर जीते थे। उन्होंने सवाल किया कि राजपूत समाज संख्या बल में कमतर नहीं है तो फिर राजनैतिक दल उनकी उपेक्षा क्यों कर रहे हैं। बैठक में सर्वसम्मति से निर्णय लिया गया कि सभी राजनैतिक दलों को लेटर भेजकर समाज की भागीदारी सुनिश्चित करने की मांग की जाएगी। अगर राजनैतिक दल समाज को उचित मान-सम्मान और भागीदारी देंगे, तभी समाज उन्हें चुनाव में समर्थन करेगा। इस मौके पर प्रताप भाटी, वीरेंद्र गौड़, क्षत्रिय एकता मंच के अध्यक्ष संजीव चौहान, क्षत्रिय जनकल्याण समिति के अध्यक्ष प्रमोद तोमर, र|ाकर बैस, संजीव ठकुर, बिजेंद्र सिंह चौहान, विकास चौहान समेत अन्य पदाधिकारी मौजूद थे।

दैनिक भास्कर पर Hindi News पढ़िए और रखिये अपने आप को अप-टू-डेट | अब पाइए News in Hindi, Breaking News सबसे पहले दैनिक भास्कर पर |

More From Faridabad

    Trending

    Live Hindi News

    0

    कुछ ख़बरें रच देती हैं इतिहास। ऐसी खबरों को सबसे पहले जानने के लिए
    Allow पर क्लिक करें।

    ×