• Home
  • Haryana News
  • Faridabad
  • 125 नए ट्रांसफार्मर लगेंगे, फ्यूज उड़ने और ओवरलोडिंग की समस्या से मिलेगी राहत
--Advertisement--

125 नए ट्रांसफार्मर लगेंगे, फ्यूज उड़ने और ओवरलोडिंग की समस्या से मिलेगी राहत

शहर के कंज्यूमर्स को बिजली ट्रिपिंग, फॉल्ट और ओवलोडिंग की समस्या से जल्द राहत मिलने की उम्मीद है। ओवरलोडिंग व...

Danik Bhaskar | Jun 16, 2018, 02:00 AM IST
शहर के कंज्यूमर्स को बिजली ट्रिपिंग, फॉल्ट और ओवलोडिंग की समस्या से जल्द राहत मिलने की उम्मीद है। ओवरलोडिंग व ट्रिपिंग की समस्या के समाधान के लिए शहर में अतिरिक्त ट्रांसफार्मर लगाकर बिजली क्षमता को मजबूत किया जाएगा। इस पर करीब ढाई करोड़ रुपए खर्च होंगे। शहर में आेवरलोडिंग वाले क्षेत्रों को चिन्हित कर लिया गया है। अब इन स्थानों पर निगम की ओर से 125 नए ट्रांसफार्मर लगाने का काम शुरू कर दिया गया है। इससे शहर के लाखों कंज्यूमर्स को फायदा होगा। 20 जून तक ट्रांसफार्मरों को लगाने का लक्ष्य रखा है।

इसलिए हो रही है परेशानी

औद्योगिक नगरी फरीदाबाद में इस बार बिजली की रिकार्ड तोड़ मांग बढ़ी है। पहली बार डिमांड 200 लाख प्रति यूनिट से आगे पहुंच गई है। शहर में आपूर्ति का ग्राफ 150 से 180 लाख प्रति यूनिट तक पहुंच गया है। पिछले साल की तुलना में करीब 15 फीसदी बिजली की बढ़ोतरी दर्ज की गई है। बिजली की इस मांग के अनुरूप ट्रांसफार्मरों की क्षमता को भी बढ़ाया जाना जरूरी था। लोड बढ़ने से कई इलाकों में ट्रांसफार्मरों की क्षमता कम पड़ गई थी। इसके चलते इन दिनों भीषण गर्मी में लोगों को ओवरलोड कट और ट्रिपिंग जैसी समस्या उपभोक्ताओं को झेलनी पड़ रही है।

हालात: शहर में आपूर्ति का ग्राफ 150 से 180 लाख प्रति यूनिट तक पहुंच गया है

बिजली निगम ने कराया सर्वे

शहर के उपभोक्ताओं को बेहतर वोल्टेज की बिजली देने के लिए निगम की ओर से पूरे शहर में सर्वे कराया गया। इसमें ऐसे इलाकों को चिह्नित किया गया, जहां ओवरलोड की समस्या बहुत अधिक है। ऐसी जगह अतिरिक्त लोड बढ़ाने की आवश्यकता है। यह सर्वे शहर की कालोनियों, सेक्टर व इंडस्ट्रियल एरिया में कराया गया। जहां ट्रांसफार्मरों की क्षमता बढ़ाने की जरूरत थी। ताकि उपभोक्ताओं को लो वोल्टेज, ओवरलोड कट या ट्रिपिंग जैसी समस्या न झेलनी पड़े।





इन क्षेत्र के उपभोक्ताओं को सुविधा

शहर में व्यवस्था दुरुस्त होने के बाद यहां के सेक्टर-21 डी, सैनिक कॉलोनी, सेक्टर-46, राहुल कॉलोनी, मेवला महाराजपुर, भारत कालोनी, इंदिरा कांप्लेक्स, पदम नगर, मवई, धीरज नगर, भूपानी के अलावा बल्लभगढ़, एनआईटी और ओल्ड फरीदाबाद के इलाके के उपभोक्ताओं को काफी फायदा होगा। यहां के उपभोक्ताओं को राहत मिलेगी।


डिमांड के हिसाब से नए ट्रांसफार्मर लगेंगे

फरीदाबाद. ट्रांसफार्मर ठीक करते बिजली कर्मचारी।

कहां कितने लगेंगे ट्रांसफार्मर

गर्मी में बढ़ी रिकार्ड डिमांड

इस समय फरीदाबाद में बिजली की मांग लगभग 200 लाख यूनिट रोज है। इस साल अधिकतम आपूर्ति 182 लाख यूनिट रही है। जबकि आम दिनों में शहर की बिजली सप्लाई 150 से 170 लाख प्रति यूनिट रहती है।

लाइन लॉस कम करने को कई कदम उठाए गए

निगम की ओर से इस बार शहर के कई इलाकों में लाइन लॉस कम करने व बिजली चोरी रोकने के लिए खुले तारों के स्थान पर केबल बिछाई गई। इसके चलते जो उपभोक्ता कुंडी कनेक्शन से बिजली की चोरी करते थे, अब वहां लोगों ने नए कनेक्शन के लिए आवेदन किए हैं। इसके अलावा कुछ ऐसे इलाके भी थे, जहां अभी तक ट्रांसफार्मर और लाइन नहीं बिछाई जा सकी। निगम अधिकारियों का कहना है कि विभाग के पास ट्रांसफार्मर की कोई कमी नहीं है। पहले चरण में सर्कल के सभी डिवीजनों में 125 ट्रांसफार्मर लगाए जाने हैं।

दिन आपूर्ति (प्रति लाख यूनिट)

14 जून 182

13 जून 179.3

12 जून 172.70

11 जून 154.80

10 जून 119.26