Hindi News »Haryana »Faridabad» शाह की आठ घंटे की मैराथन बैठक में सांसदों के रिपोर्ट कार्ड पर मंथन, 300 सीटें जीतने का बनाया टारगेट

शाह की आठ घंटे की मैराथन बैठक में सांसदों के रिपोर्ट कार्ड पर मंथन, 300 सीटें जीतने का बनाया टारगेट

सूरजकुंड की वादियों में तीन दिन तक चली भाजपा के संगठन मंत्रियों और संघ की बैठक में मिशन 2019 को लेकर रणनीति बनाई गई।...

Bhaskar News Network | Last Modified - Jun 17, 2018, 02:00 AM IST

शाह की आठ घंटे की मैराथन बैठक में सांसदों के रिपोर्ट कार्ड पर मंथन, 300 सीटें जीतने का बनाया टारगेट
सूरजकुंड की वादियों में तीन दिन तक चली भाजपा के संगठन मंत्रियों और संघ की बैठक में मिशन 2019 को लेकर रणनीति बनाई गई। शनिवार को समापन सत्र के आखिरी दिन सूरजकुंड पहुंचे भाजपा के राष्ट्रीय अध्यक्ष अमित शाह ने आठ घंटे तक मैराथन बैठक में संगठन मंत्रियों के साथ मंथन किया।

इसके अलावा भाजपा के आंतरिक सर्वे में 152 सांसदों की निगेटिव रिपोर्ट पर भी व्यापक चर्चा की गई। यही नहीं यूपी समेत देश के विभिन्न हिस्सों में हाल ही में हुए उपचुनावों में पार्टी के प्रदर्शन को लेकर भी मंथन किया गया। खासकर यूपी के सीएम योगी आदित्यनाथ के संसदीय क्षेत्र गोरखपुर और फूलपुुर में हुई पार्टी के हार पर भी चर्चा हुई। बैठक में 2019 में 300 सीटें जीतने के लक्ष्य को लेकर गहन मंथन हुआ। देर शाम अमित शाह के जाने के बाद विभिन्न प्रदेशों से आए संगठन मंत्री रवाना होने शुरू हो गए थे। बैठक की कोई बात मीडिया तक न पहुंचे इसके लिए कार्यक्रम स्थल से डेढ़ किलोमीटर दूर ही मीडिया के आने पर प्रतिबंध लगा दिया गया था।

फरीदाबाद. सूरजकुंड के राजहंस होटल में 3 दिवसीए मंथन शिविर में संगठन मंत्रियों के साथ मीटिंग के बाद दिल्ली रवाना होते बीजेपी के राष्ट्रीय अध्यक्ष अमित शाह।

10.30-शाम 6.20 तक मंथन करते रहे शाह

भाजपा के राष्ट्रीय अध्यक्ष अमित शाह शनिवार सुबह करीब 10.30 बजे सड़क मार्ग से सीधे सूरजकुंड पहुंचे। उन्हें रिसीव करने सीएम मनोहरलाल एवं केंद्रीय राज्यमंत्री कृष्णपाल गुर्जर 10.15 बजे ही पहुंच गए थे। शाह के आने के बाद दीप प्रज्ज्वलित करा मुख्यमंत्री 11.40 बजे राजहंस होटल से निकल लिए। जबकि अमित शाह शाम 6.20 बजे तक संगठन मंत्रियों व संघ के पदाधिकारियों के साथ चर्चा करते रहे। पार्टी सूत्रों की मानें तो राष्ट्रीय अध्यक्ष ने वर्तमान सांसदों के रिपोर्ट कार्ड पर चर्चा की।

भाजपा शासित तीन राज्यों के विधानसभा चुनाव पर चर्चा

पार्टी सूत्रों का कहना है कि अध्यक्ष ने भाजपा शासित तीन राज्य मध्यप्रदेश, छत्तीसगढ़ और राजस्थान में होने वाले विधानसभा चुनाव में पार्टी को मजबूत बनाए रखने पर भी विचार किया गया। माना जा रहा है कि उक्त तीनों राज्याें में पार्टी की स्थिति ज्यादा अच्छी नहीं है। इसके अलावा केंद्र सरकार की योजनाओं के क्रियान्वयन पर भी चर्चा की गई। इस बात पर जोर दिया गया कि केंद्र सरकार की ऐसी कई कल्याणकारी योजनाएं हैं जिन्हें चुनावों में भुनाया जा सकता है।

युवा वोटरों को लुभाने पर जोर

पार्टी युवा वोटरों को फिर से साधने की तैयारी में है। इसलिए बैठक में इस पर मंथन हुआ। हालांकि जिस एजेंडे पर पिछली बार युवा वोटरों ने भाजपा काे खुलकर साथ दिया था पार्टी उस एजेंडे पर खरी नहीं उतर पाई है। खासकर शिक्षित बेरोजगारों को भाजपा सरकारें अपेक्षा के अनुरूप रोजगार उपलब्ध कराने में नाकाम रही हैं। युवा वर्ग इन दिनों पार्टी से इस मुद्दे पर नाराज है। संगठन मंत्रियों से इस बात पर चर्चा की गई कि युवाओं को केंद्र व राज्य सरकार की योजनाओं की विशेषताएं बताकर उन्हें जोड़कर रखा जाए।

पार्टी अध्यक्ष से मिले मंत्री व विधायक

सूरजकुंड के राजहंस होटल पहुंचे पार्टी अध्यक्ष अमित शाह से मिलने प्रदेश के उद्योग मंत्री विपुल गोयल, विधायक मूलचंद शर्मा और सीमा त्रिखा दोपहर करीब 1.30 बजे पहुंचे। भोजन के दौरान उनसे मुलाकात की और पौन घंटे बाद करीब सवा दो बजे तीनों वहां से रवाना हो गए। विधायक मूलचंद शर्मा व सीमा त्रिखा ने बताया कि उन लोगों की शाह से औपचारिक मुलाकात थी। किसी एजेंडे पर कोई चर्चा नहीं हुई।

दैनिक भास्कर पर Hindi News पढ़िए और रखिये अपने आप को अप-टू-डेट | अब पाइए News in Hindi, Breaking News सबसे पहले दैनिक भास्कर पर |

More From Faridabad

    Trending

    Live Hindi News

    0

    कुछ ख़बरें रच देती हैं इतिहास। ऐसी खबरों को सबसे पहले जानने के लिए
    Allow पर क्लिक करें।

    ×