Hindi News »Haryana »Faridabad» जितनी ज्यादा बिजली चोरी, उतने लंबेे होंगे कट

जितनी ज्यादा बिजली चोरी, उतने लंबेे होंगे कट

बिजली चोरी कर निगम को चपत लगा रहे लोगों पर विभाग ने शिकंजा कस दिया है। गर्मी के कारण शहर में बिजली की डिमांड पीक पर...

Bhaskar News Network | Last Modified - Jun 20, 2018, 02:00 AM IST

जितनी ज्यादा बिजली चोरी, उतने लंबेे होंगे कट
बिजली चोरी कर निगम को चपत लगा रहे लोगों पर विभाग ने शिकंजा कस दिया है। गर्मी के कारण शहर में बिजली की डिमांड पीक पर है। इससे बिजली चोरी भी बढ़ गई है। इससे फीडरों पर लाइन लॉस बढ़ने से निगम का आपूर्ति सिस्टम गड़बड़ा गया है। ऐसे में निगम ने अधिक लाइन लॉस वाले फीडरों पर बिजली कटौती शुरू कर दी है। शहर में ऐसे फीडरों पर दो से 4 घंटे बिजली कटौती की जा रही है। जिन फीडरों पर बिजली चोरी सबसे अधिक है। उनमें केंद्रीय राज्यमंत्री कृष्णपाल गुर्जर का गांव मेवला महाराजपुर का फीडर भी शामिल है। जहां बिजली चोरी की वजह से जितना ज्यादा लाइन लॉस है, वहां उतने लंबे बिजली के कट लगाए जा रहे हैं। यह शेड्यूल लागू कर कट लगाना शुरू कर दिया गया है।

नहीं मिलेगी 24 घंटे बिजली

भयंकर गर्मी के कारण इस समय शहर में बिजली की डिमांड बहुत ज्यादा है। जिसे बिजली निगम के लिए आपूर्ति करना मुश्किल हो रहा है। निगम की इस परेशानी को बढ़ा रहे हैं बिजली चोर। जो चोरी कर फ्री की बिजली यूज कर रहे हैं। इस बिजली का निगम के खाते में कोई पैसा नहीं आता। इससे निगम काे तो नुकसान होता ही है, साथ ही फीडर व लाइनों पर भी ओवरलोडिंग बढ़ जाती है। इससे लाइन में फाॅल्ट आने से आपूर्ति गड़बड़ा जाती है। इससे निगम काे तो नुकसान हाेता ही है साथ ही ईमानदार कंज्यूमर को भी पावर कटौती की मार झेलनी पड़ती है।

अधिक लाइन लॉस वाले फीडर चिह्नित, 2 से 4 घंटे कटौती शुरू

जिन फीडरों पर लाइन लॉस क्षमता से अधिक वहां निगम लगाएगा पावर कट

बिजली चोरी रोकने के लिए सख्त निर्देश

निगम के एसई पीके चौहान ने सभी अधिकारियों को निर्देश दिए हैं कि वे अपने इलाकों में बिजली चोरी रोकने के लिए सख्त कदम उठाएं। टीमों को रुटीन चेकिंग में लगाया जाए। हर हाल में बिजली चोरी पर अंकुश लगाया जाए। जिससे लाइन लॉस को कम किया जा सके। टीमों का गठन कर बिजली चोरी के खिलाफ कार्रवाई की जाए। जिससे ईमानदार कंज्यूमर को 24 घंटे बिजली दी जा सके।

ओवरलोडिंग की वजह से लग रहे बिजली कट, लोग परेशान

फरीदाबाद| भारत कालोनी में लोग बिजली कटाैती से परेशान हैं। यहां कई-कई घंटे के कट लग रहे हैं। इससे पेयजल संकट गहरा गया है। लोगों का कहना है कि बिजली निगम में शिकायत करने के बाद भी कोई सुनवाई नहीं हो रही है। भारत कॉलोनी में एक सप्ताह से बिजली कट की समस्या गंभीर है। मंगलवार सुबह 8 बजे गई लाइट 10 बजे आई। इसके बाद 11 बजे गई दो बजे आई। पूरे दिन यही खेल जारी रहा। बिजली न आने से पानी की सप्लाई भी प्रभावित रहती है। काॅलोनी वासी सुदेश के अनुसार बिजली सप्लाई का बुरा हाल है। यहां की दो कॉलाेनियाें में बिजली कट की समस्या बनी हुई। उन्हाेंने कहा यहां बिजली कटाैती का एक कारण ओवर लोड ट्रांसफार्मर है। गर्मी के कारण बिजली की डिमांड ज्यादा है। इससे ट्रांसफार्मर में फॉल्ट आ जाता है।

ये हैं फीडर लाइन लॉस कटौती

मेवला महराजपुर 50% 4 घंटे

अनखीर 40.99% 4 घंटे

बड़खल 39.72% 2 घंटे

हाउसिंग बोर्ड से.-55 35.66% 2 घंटे

नेशनल हाइवे 34. 97% 2 घंटे

सुनपेड 33.38% 2 घंटे

सेक्टर-55 33.01% 2 घंटे

नया गांव 32.60% दो घंटे

इन फीडरों पर कट लगाने शुरू कर दिए गए हैं। हर माह इन फीडरों की समीक्षा की जाएगी। यदि किसी फीडर के उपभोक्ता चोरी नहीं करते हैं तो उस माह का रिकॉर्ड देखकर उनकी बिजली कटौती खत्म या कम कर दी जाएगी। इसलिए उपभोक्ता बिजली चोरी न करें। ईमानदारी से अपने बिजली बिलों की अदायगी करें। जिससे उन्हें गर्मी के दिनों में बिजली कटौती का सामना न करना पड़े। उन्हें सुचारू रूप से बिजली दी जाए। -पीके चौहान, एसई, बिजली निगम, फरीदाबाद।

लाइन लॉस वाले फीडर अंडरलिस्ट

निगम की ओर से ऐसे फीडरों का सर्वे कर एक लिस्ट तैयार की गई है, जिन पर 30% से अधिक लाइन लॉस है। निगम की ओर से ऐसे आठ फीडर चिह्नित किए गए हैं। इनसे निगम काे सबसे अधिक नुकसान हो रहा है। इन फीडराें पर लाइन लॉस के हिसाब से पावर कट लगाए जा रहे हैं। निगम की ओर इन फीडरों से जुड़े क्षेत्रों में 2 से 4 घंटे बिजली कटौती हो रही है। इसके लिए शेड्यूल निर्धारित है। इसे लेकर निगम ने आठ ऐसे फीडर चिह्नित किए हैं, जहां बिजली चोरी होने से निगम को भारी नुकसान हो रहा है।

दैनिक भास्कर पर Hindi News पढ़िए और रखिये अपने आप को अप-टू-डेट | अब पाइए News in Hindi, Breaking News सबसे पहले दैनिक भास्कर पर |

More From Faridabad

    Trending

    Live Hindi News

    0

    कुछ ख़बरें रच देती हैं इतिहास। ऐसी खबरों को सबसे पहले जानने के लिए
    Allow पर क्लिक करें।

    ×