Hindi News »Haryana »Faridabad» 23 जुलाई तक 11 मुहूर्त, फिर 19 नवंबर तक शादियां नहीं

23 जुलाई तक 11 मुहूर्त, फिर 19 नवंबर तक शादियां नहीं

अधिकमास समाप्त हो गया है। इसके खत्म होते ही विवाह मुहूर्त व अन्य मंगल कार्य शुरू हो गए हैं। इस बार जून और जुलाई में...

Bhaskar News Network | Last Modified - Jun 20, 2018, 02:00 AM IST

23 जुलाई तक 11 मुहूर्त, फिर 19 नवंबर तक शादियां नहीं
अधिकमास समाप्त हो गया है। इसके खत्म होते ही विवाह मुहूर्त व अन्य मंगल कार्य शुरू हो गए हैं। इस बार जून और जुलाई में शादी के 11 मुहूर्त हैं। इनमें बच्चों की शादी हो सकेंगी। इसके बाद 19 नवंबर तक इंतजार करना पड़ेगा। जिन घरों में रिश्ते पहले पक्के हो गए हैं 13 जून को अधिकमास खत्म होते ही उन घरों में शादी की तैयारी शुरू हो गई हैं। जून में पहला शुभ मुहूर्त 19 तारीख रही। इसके बाद 20, 21, 22, 23, 25 और 29 जून को शादियां हाे सकेंगी। जुलाई में 5, 6, 10 तारीख को शादियां की जा सकेंगी। तीन मुहूर्त शुभ हैं।

23 जुलाई से बंद होंगे मांगलिक कार्य

ज्योतिषाचार्य वीके शास्त्री के मुताबिक 23 जुलाई को देवशयनी एकादशी के साथ विवाह और मांगलिक कार्य बंद हो जाएंगे। 19 नवंबर को देवउठनी एकादशी से फिर मांगलिक कार्यों की शुरुआत होगी। चार माह लोगों को इंतजार करना पड़ेगा। 23 जुलाई 2018 आषाढ़ शुक्ल एकादशी के दिन देवशयनी एकादशी होने के कारण चातुर्मास प्रारंभ हो जाएगा। जो 19 नवंबर 2018 तक चलेगा। इन चार माह में विवाह नहीं होंगे। देवउठनी एकादशी के बाद ही शुभ मुहूर्त शुरू होंगे। इसके बाद 16 दिसंबर 2018 से 14 जनवरी 2019 तक धनुर्मास या मलमास रहने के कारण विवाह नहीं हो पाएंगे। 13-14 नवंबर से 8 दिसंबर 2018 तक गुरु अस्त रहने से विवाह नहीं हो पाएंगे। ज्योतिष के मुताबिक 21 जुलाई को भी अबूझ मुहूर्त की शादियां हो सकेंगी।

मांगलिक कार्य शुरू

23 जुलाई को देवशयनी एकादशी से शुरू होगा चातुर्मास, रुकेंगे शुभ कार्य, 21 जुलाई को अबूझ मुहूर्त

ये रहेंगे विवाह के मुहूर्त

19 जून मंगलवार ज्येष्ठ शुक्ल षष्ठी

20 जून बुधवार ज्येष्ठ शुक्ल अष्टमी

21 जून गुरुवार ज्येष्ठ शुक्ल नवमी

22 जून शुक्रवार ज्येष्ठ शुक्ल दशमी

23 जून शनिवार ज्येष्ठ शुक्ल एकादशी

25 जून सोमवार ज्येष्ठ शुक्ल त्रयोदशी

5 जुलाई गुरुवार आषाढ़ कृष्ण सप्तमी

6 जुलाई शुक्रवार आषाढ़ कृष्ण

अष्टमी

10 जुलाई मंगलवार आषाढ़ कृष्ण द्वादशी

12 दिसंबर बुधवार मार्ग शीर्ष शुक्ल पंचमी

13 दिसंबर गुरुवार मार्ग शीर्ष शुक्ल षष्ठी

दैनिक भास्कर पर Hindi News पढ़िए और रखिये अपने आप को अप-टू-डेट | अब पाइए News in Hindi, Breaking News सबसे पहले दैनिक भास्कर पर |

More From Faridabad

    Trending

    Live Hindi News

    0

    कुछ ख़बरें रच देती हैं इतिहास। ऐसी खबरों को सबसे पहले जानने के लिए
    Allow पर क्लिक करें।

    ×