• Home
  • Haryana News
  • Faridabad
  • बुजुर्ग पर दुष्कर्म का झूठा आरोप लगा मांगे Rs.5 लाख, 4 अरेस्ट
--Advertisement--

बुजुर्ग पर दुष्कर्म का झूठा आरोप लगा मांगे Rs.5 लाख, 4 अरेस्ट

क्राइम ब्रांच एनआईटी ने हनी ट्रैप में लोगों को फंसाने वाले एक गिरोह का भंडाफोड़ कर महिला समेत चार आरोपियों को...

Danik Bhaskar | Jun 22, 2018, 02:00 AM IST
क्राइम ब्रांच एनआईटी ने हनी ट्रैप में लोगों को फंसाने वाले एक गिरोह का भंडाफोड़ कर महिला समेत चार आरोपियों को गिरफ्तार किया है। इस गिरोह ने एक बुजुर्ग को सस्ते रेट पर प्रॉपर्टी दिलाने के बहाने पहले होटल में बुलाया। फिर मेल जोल बढ़ाकर दुष्कर्म के केस में फंसाने की धमकी देकर 5 लाख रुपए की डिमांड की। पुलिस आरोपियों से पूछताछ कर रही है।

पुलिस प्रवक्ता सूबे सिंह के मुताबिक शिकायतकर्ता 60 वर्षीय बुजुर्ग के पास करीब 25 दिन पहले एक अनजान नंबर से एक लड़की का फोन आया। उसने अपना पेशा प्रॉपर्टी डीलर बताया। शिकायतकर्ता को लड़की लगातार कॉल कर अपने जाल में फंसा रही थी। 16 जून को लड़की ने शिकायतकर्ता को सस्ती प्रॉपर्टी दिलाने के बहाने से रिसोर्ट में ले गई। वहां कमरा लेकर शिकायतकर्ता के साथ मेलजोल बढ़ाया। अगले दिन लड़की के एक साथी ने शिकायतकर्ता को कॉल कर कहा कि जल्दी सेक्टर-37 के थाने में आ जाओ वरना दुष्कर्म के केस में फंसा देंगे। क्योंकि तुमने लड़की के साथ गलत काम किया है। डर के कारण शिकायतकर्ता थाने पहुंच गया। वहां लड़की और उसके दोस्तों ने 5 लाख रुपए की डिमांड की। झूठे केस में फंसने के डर से शिकायतकर्ता ने 50 हजार रुपए तुरंत दे दिए। बाकी पैसों के लिए चार-पांच दिन का समय मांगा। इसके बाद आरोपी लगातार शिकायतकर्ता को फोन कर पैसों की मांग करता था।

बुजुर्ग ने पुलिस की मांगी मदद

आरोपियों की ब्लैकमेलिंग से परेशान होकर आखिर में बुजुर्ग ने थाना सराय ख्वाजा पुलिस से संपर्क कर पूरे मामले की जानकारी दी। पुलिस ने मुकदमा दर्ज कर लिया। 20 जून को क्राइम ब्रांच एनआईटी ने मुखबिर की सूचना पर चारों आरोपियों को गिरफ्तार कर लिया। पकड़े गए आरोपियों की पहचान प्रह्लादपुर निवासी मोनू उर्फ प्रदीप, चंद्रवीर, खेड़ीकला निवासी मुकेश के रूप में हुई है। इनमें से एक आरोपी क्राउन इंटीरियर मॉल सेक्टर 37 में स्पा सेंटर चलाता है। उसने ऑल इंडिया क्राइम एंटी करप्शन ऑर्गनाइजेशन के नाम से आई कार्ड भी बना रखा है। जिससे उस पर कोई शक न कर सके।