• Home
  • Haryana News
  • Faridabad
  • टैंकर से पानी बेचने वालों की सूचना देने पर निगम देगा इनाम
--Advertisement--

टैंकर से पानी बेचने वालों की सूचना देने पर निगम देगा इनाम

शहर में पानी माफियाओं द्वारा की जा रही मोटी कमाई पर रोक लगाने के लिए नगर निगम प्रशासन ने शिकंजा कस दिया है। पानी...

Danik Bhaskar | Jun 22, 2018, 02:00 AM IST
शहर में पानी माफियाओं द्वारा की जा रही मोटी कमाई पर रोक लगाने के लिए नगर निगम प्रशासन ने शिकंजा कस दिया है। पानी बेचने का मामला दैनिक भास्कर द्वारा उठाए जाने के बाद निगम कमिश्नर मोहम्मद शाइन ने कड़ा संज्ञान लिया है। उन्होंने तीनों जोनों के संयुक्त आयुक्त, कार्यकारी अभियंताओं और सहायक अभियंताओं को पानी माफियाओं के खिलाफ कार्रवाई करने का सख्त आदेश दिया है। उन्होंने माफियाओं की सूचना देने के लिए एक मोबाइल नंबर भी जारी किया है। सूचना देने वालों को निगम प्रशासन इनाम भी देगा। उनकी पहचान गुप्त रखी जाएगी। कमिश्नर ने हर वार्ड में पानी की सप्लाई को और बड़े पैमाने पर दुरुस्त करने, जिन क्षेत्रों में बूस्टिंग स्टेशन, रैनीवेल कुएं व ओवरहेड हैं उनकी रोज जांच व चालू अवस्था में रहने के निर्देश दिए हैं।

निगम कमिश्नर का फरमान

फरीदाबाद. ट्यूबबेल से पानी भरते टैंकर। फाइल फोटो

गुप्त रखा जाएगा सूचना देने वाले का नाम, सूचना देने के लिए निगम ने जारी किया मोबाइल नंबर

मोबाइल पर दे सकते हैं पानी की सूचना

निगम कमिश्नर ने कहा कि निगम क्षेत्र में अगर कोई प्राइवेट टैंकर अवैध पेयजल बिक्री करता है या निगम के जलस्स्रोतों से पानी की चोरी करता है तो इसकी सूचना तुरंत निगम के मोबाइल नंबर-9599780898 पर दें। इस पर तुरंत कार्रवाई की जाएगी। सूचना देने वाले व्यक्ति का का नाम गुप्त रखा जाएगा। उसे निगम द्वारा पुरस्कार भी दिया जाएगा। उन्होंने आम जनता से अाह्वान किया कि निगम द्वारा रोज सप्लाई होने वाले पानी का सदुपयोग करें न कि सड़कों और घरों के बाहर छिड़काव व गाड़ियां धोने में खराब करें।

टैंकर माफियाआें को नहीं मिलेगा पानी

कार्यकारी अभियंताओं और सहायक अभियंताओं को तीनों जोन में जिन-जिन क्षेत्रों में बूस्टिंग स्टेशन हैं उन पर बाहरी लोगों से सख्ती से निपटने के निर्देश दिए। इसके अलावा उद्योगों, बड़े वाणिज्यिक प्रतिष्ठानों, स्कूलों, होटलों और अन्य वाणिज्यिक उपयोगों के मामले में जहां भी पानी चोरी हो रही है या निगम के कर्मचारी इसमें संलिप्त हैं उनके खिलाफ एफआईआर दर्ज कराने के भी निर्देश दिए।