Hindi News »Haryana »Faridabad» सबसे बड़े सुरक्षा कवर में 2995 श्रद्धालुओं का पहला जत्था रवाना; 2.1 लाख लोग करा चुके हैं यात्रा रजिस्ट्रेशन

सबसे बड़े सुरक्षा कवर में 2995 श्रद्धालुओं का पहला जत्था रवाना; 2.1 लाख लोग करा चुके हैं यात्रा रजिस्ट्रेशन

Bhaskar News Network | Last Modified - Jun 28, 2018, 02:00 AM IST

  • सबसे बड़े सुरक्षा कवर में 2995 श्रद्धालुओं का पहला जत्था रवाना; 2.1 लाख लोग करा चुके हैं यात्रा रजिस्ट्रेशन
    +2और स्लाइड देखें
    अमरनाथ यात्रा मार्ग पर 40 हजार जवान तैनात हैं सेना, एनएसजी के शूटर मोर्चे पर हेलीकॉप्टर, ड्रोन से हो रही निगरानी

    भास्कर न्यूज | जम्मू

    अमरनाथ यात्रा शुरू हो गई है। पहले दिन बुधवार को जम्मू से 2,995 श्रद्धालुओं का पहला जत्था कश्मीर के लिए रवाना हुआ। इसमें 1,091 तीर्थयात्रियों का पहला समूह भगवती नगर से बालटाल और 1,904 का दूसरा समूह पहलगाम के लिए निकला। श्रद्धालुओं में 2,334 पुरुष, 520 महिलाएं, 21 बच्चे और 120 साधु शामिल हैं। आतंकी हमलों के खतरे को देखते हुए इस बार सुरक्षा बलों के करीब 40 हजार जवान तैनात किए गए हैं। यह अमरनाथ यात्रा के लिए अब तक सबसे बड़ा सुरक्षा कवर है। हेलीकॉप्टर और ड्रोन से भी यात्रा मार्गों और शिविरों की निगरानी की जा रही है। यात्रा 26 अगस्त को खत्म होगी। अभी तक 2.1 लाख श्रद्धालुओं ने यात्रा के लिए रजिस्ट्रेशन कराया है।

    2017 में 2.60 लाख श्रद्धालुओं ने किए थे शिवलिंग के दर्शन

     फरीदाबाद , गुरुवार, 28 जून, 2018

    यात्रा की सुरक्षा में जम्मू कश्मीर पुलिस, सीआरपीएफ, एनडीआरएफ, सेना के जवान तैनात किए गए हैं। इनमें अकेले सीआरपीएफ के 238 कंपनियों के 33,600 जवान हैं।

    पहलगाम, बालटाल आदि जगहों पर सेना, एनएसजी के स्पेशल शूटर तैनात किए गए हैं। सीआरपीएफ का बाइक दस्ता भी बसों के साथ चल रहा है।

    पिछले साल 2.60 लाख लोगों ने शिवलिंग के दर्शन किए थे। इस बार श्रीअमरनाथ श्राइन बोर्ड ने रोज 7500 लोगों को आने की इजाजत दी है।

    श्रद्धालुओं को दिए प्रीपेड नंबरों की वैधता 7 से बढ़ाकर 10 दिन की है।

    यात्रा का रजिस्ट्रेशन देश के सभी राज्यों में पीएनबी, जेएंडके बैंक, यस बैंक की 440 शाखाओं में हो रहा है।

    पहली बार गाड़ियों पर आरएफआईडी टैग लगाकर की जा रही है निगरानी

    दर्शन के लिए रवाना हो रहे वाहनों पर पर पहली बार आरएफआईडी टैग लगाए जा रहे हैं। इससे सिक्योरिटी फोर्स कैंपों के बाहर लगे आरएफआईडी रिसीवर के जरिए ये पता चलता रहेगा कि काफिले में कितनी गाड़ियां हैं, कोई गाड़ी अलग रास्ते पर तो नहीं निकली।

    अमरनाथ यात्रियों का पहला जत्था बुधवार को जम्मू से रवाना हुआ। तस्वीर जम्मू से 12 किमी दूर बन टोल प्लाजा की है। फोटो- अंकुर सेठी

    सीआरपीएफ ने श्रद्धालुओं की सुरक्षा में ‘पहचानों और पता करो’ नीति बनाई

    पिछले साल अमरनाथ यात्रियों की बस पर हुए आतंकी हमले में 8 लोगों की मौत हो गई थी। इससे सबक लेते हुए सीआरपीएफ ने इस बार ‘पहचानों और पता करो’ की नीति अपनाई है। यह नीति श्रद्धालुओं को लाने-ले जाने वाले वाहनों के लिए लागू की जा रही है।

    11

  • सबसे बड़े सुरक्षा कवर में 2995 श्रद्धालुओं का पहला जत्था रवाना; 2.1 लाख लोग करा चुके हैं यात्रा रजिस्ट्रेशन
    +2और स्लाइड देखें
  • सबसे बड़े सुरक्षा कवर में 2995 श्रद्धालुओं का पहला जत्था रवाना; 2.1 लाख लोग करा चुके हैं यात्रा रजिस्ट्रेशन
    +2और स्लाइड देखें
आगे की स्लाइड्स देखने के लिए क्लिक करें
दैनिक भास्कर पर Hindi News पढ़िए और रखिये अपने आप को अप-टू-डेट | अब पाइए News in Hindi, Breaking News सबसे पहले दैनिक भास्कर पर |

More From Faridabad

    Trending

    Live Hindi News

    0

    कुछ ख़बरें रच देती हैं इतिहास। ऐसी खबरों को सबसे पहले जानने के लिए
    Allow पर क्लिक करें।

    ×