Hindi News »Haryana »Faridabad» अफसरों की छुट्टियां रद्द, फील्ड में रहने का फरमान, पानी निकासी में बाधा बनने वाले अवैध निर्माण बगैर नोटिस तोड़ने के आदेश

अफसरों की छुट्टियां रद्द, फील्ड में रहने का फरमान, पानी निकासी में बाधा बनने वाले अवैध निर्माण बगैर नोटिस तोड़ने के आदेश

मौसम की पहली बारिश में ही शहर के जलमग्न होने और नगर निगम प्रशासन के दावों की पोल खुलने के बाद प्रशासन के अधिकारी...

Bhaskar News Network | Last Modified - Jun 30, 2018, 02:00 AM IST

  • अफसरों की छुट्टियां रद्द, फील्ड में रहने का फरमान, पानी निकासी में बाधा बनने वाले अवैध निर्माण बगैर नोटिस तोड़ने के आदेश
    +2और स्लाइड देखें
    मौसम की पहली बारिश में ही शहर के जलमग्न होने और नगर निगम प्रशासन के दावों की पोल खुलने के बाद प्रशासन के अधिकारी नींद से जाग गए। शुक्रवार को आनन-फानन में प्रशासनिक अधिकारियों की छुट्टियां रद्द कर अपने-अपने क्षेत्र में होने वाले जलभराव की निकासी कराने का फरमान जारी किया। साथ ही हेल्पलाइन नंबर जारी कर शहरवासियों से जलभराव के बारे में प्रशासन को सूचना देने की अपील की। जिला प्रशासन ने तीनों एसडीएम को अपने-अपने क्षेत्र का दौरा करने का आदेश दिया। साथ ही नगर निगम के सभी जेई, एसडीओ और एक्सईएन को संबंधित क्षेत्रों में भेजकर 24 घंटे निगरानी करने का आदेश दिया। जिस भी एक्सईएन अथवा एसडीओ के क्षेत्र में जलभराव की समस्या हुई उसके खिलाफ कार्रवाई की जाएगी। निगम प्रशासन का साफ कहना है कि बारिश के दौरान जलभराव होगा, लेकिन जल्द निकासी की व्यवस्था सुनिश्चित होगी। शुक्रवार को सेक्टर-12 में डीसी अतुल कुमार ने नगर निगम समेत अन्य विभागीय अधिकारियों के साथ बैठक कर जलभराव से निपटने के बारे में चर्चा की। बैठक में निगम कमिश्नर मोहम्मद शाइन, एडीसी जितेंद्र दहिया, हुडा के संपदा अधिकारी अमरदीप जैन सहित अन्य विभागों के अधिकारी मौजूद थे। बुधवार को सीजन की पहली बारिश ने शहर के हालात खराब कर दिए थे। इसने निगम के दावों की पोल खोल दी। हर बार की तरह इस बार भी शहर में पानी जमा न हो। इसके लिए निगम की ओर से खासे इंतजाम के दावे किए गए थे। बाकायदा कंट्रोल रूम भी बनाया गया है। लेकिन बारिश के बाद सभी दावे धरे रह गए।

    शुक्रवार को तीसरे दिन भी दुर्गा मंदिर से 60 फुटा रोड, कपड़ा कॉलोनी तक दो-दो फुट जमा रहा पानी

    बिना नोटिस के अवैध निर्माण तोड़ने के आदेश

    सेक्टर-12 में प्रेसवार्ता में निगम कमिश्नर मोहम्मद शाइन ने कहा कि शहर में पानी निकासी में कहीं अवैध निर्माण या अतिक्रमण आड़े आता है तो उसे बिना नोटिस के तुरंत तोड़ दिया जाएगा। इसके अलावा नगर निगम के तीनों जोन के सभी जेई, एसडीओ और एक्सईएन को अपने-अपने क्षेत्र में रहने के लिए कहा गया है। यदि कोई अधिकारी काम में लापरवाही करते हुए पाया जाएगा तो उसके खिलाफ विभागीय कार्रवाई की जाएगी।

    फरीदाबाद. जलभराव की समस्या को लेकर शुक्रवार को उपायुक्त अतुल द्विवेदी, निगम आयुक्त मोहम्मद शाइन व अन्य अधिकारियों के साथ मीटिंग करते हुए।

    अफसरों की छुट्टियां कर दी गईं रद्द

    डीसी ने कहा आने वाले एक-दो दिन में शहर में तेज बारिश की संभावना है। ऐसे में शहरवासियों को जलभराव की समस्या से निजात दिलाने के लिए सभी प्रशासनिक अधिकारियों की छुट्टियां रद्द कर दी गई हैं। कोई भी अधिकारी बगैर सूचना दिए स्टेशन नहीं छोड़ेगा। यही नहीं बारिश के दौरान कर्मचारी भी छुट्टी नहीं कर सकेंगे। उन्होंने साफ कहा यदि कोई अधिकारी अथवा कर्मचारी गायब मिला अथवा मोबाइल नंबर बंद मिला तो उसके खिलाफ विभागीय कार्रवाई की जाएगी।

    प्रशासन ने हेल्पलाइन नंबर जारी किया

    जिला प्रशासन ने जलभराव होने की स्थिति में समस्या से निपटने के लिए कई हेल्पलाइन नंबर जारी किए हैं। शहरवासियों से हेल्पलाइन नंबरों पर जलभराव की सूचना देने की अपील की गई है। डीसी ने कहा यदि समय रहते सूचनाएं मिलती रहीं तो पानी निकासी की व्यवस्था समय पर की जा सकेगी। ये हैं हेल्पलाइन नंबर: नगर निगम- 0129-2416464, 2416465, 2415549, 2418224, जिला उपायुक्त कैंप कार्यालय- 0129-2227272, 2226262, एसडीएम फरीदाबाद- 0129-2227868, 9416281580, एसडीएम बल्लभगढ़- 0129-2304500, 9416164877, बड़खल- 0129-2422090, 9991515001

    जलभराव रोकने के लिए प्रशासन ने तैयार की व्यापक योजना

    शहर में मानसून के दौरान जलभराव की समस्या से निपटने के लिए जिला प्रशासन ने व्यापक योजना तैयार की है। शहरवासियों की सुविधा के लिए हेल्पलाइन नंबर जारी किए गए हैं। तीनों उपमंडलों में संबंधित एसडीएम को अपने क्षेत्र में दौरा करने के निर्देश दिए गए हैं जिससे कहीं भी जलभराव की स्थिति या कोई और परेशानी आती है तो उसे तुरंत दूर कराया जा सके। डीसी ने दावा किया कि नगर निगम पहले से ही तैयारियों में जुटा है। शहर के नालों की सफाई का कार्य युद्धस्तर पर चल रहा है।

    जलभराव की समस्या लेकर कमिश्नर से मिले व्यापारी

    एनआईटी क्षेत्र का 60 फुटा रोड दुर्गा मंदिर से कपड़ा कॉलोनी तक करीब दो किलोमीटर तक नाला ओवरफ्लो होने से जमा पानी की समस्या काे लेकर शुक्रवार को व्यापारियों ने निगम कमिश्नर से मुलाकात कर उन्हें समस्या के बारे में बताया। भारतीय उद्योग व्यापार मंडल के अध्यक्ष राम जुनेजा ने बताया कि उक्त रोड पर बारिश के तीसरे दिन भी दो-दो फुट पानी भरा हुआ है। नाला दोनों तरफ से ओवरफ्लो है। नगर निगम के अधिकारियों ने एक सप्ताह पहले नालों की सफाई करने का दावा किया था, लेकिन आधी अधूरी सफाई कर पल्ला झाड़ लिया। इससे जलभराव होने से आने-जाने वालों को परेशानी हो रही है। इसके अलावा एक-दो नंबर चौक पर अवैध कब्जा भी है। वहीं पुलिस खड़ी होकर चालान काटती है। इससे जाम के हालात पैदा हो जाते हैं। निगम कमिश्नर ने एनआईटी के ज्वाइंट कमिश्नर संदीप अग्रवाल को मौके पर जाकर समस्या हल कराने के लिए कहा। कमिश्नर से मिलने वालों में विनोद अाहूजा, आनंद आहूजा, पवन भाटिया, सचिन भाटिया, मुकेश अरोड़ा, रमाशंकर, राजा भैया, चंद्रमोहन आदि शामिल थे।

    फरीदाबाद. एयरफोर्स रोड पर जलभराव की समस्या को लेकर निगम कमिश्नर से मिलते जवाहर कॉलोनी एयरफोर्स रोड मार्केट के प्रधान राम जुनेजा अन्य दुकानदार।

    कमिश्नर आवास के सामने नालों पर है कब्जा

    निगम प्रशासन नालों की सफाई युद्धस्तर पर करने का दावा करता है, लेकिन बीके चौक से भगतसिंह चौक वाली रोड पर दोनों ओर नाले पर कब्जा है। निगम की ओर से मेयर आवास के सामने नाले की सफाई कराई जा रही है। मगर उसके आगे नाले पर हुए अवैध कब्जे जस के तस हैं। ऐसे में पानी की निकासी कैसे होगी। यही नहीं निगम अफसरों को इस बात की जानकारी भी है लेकिन अभी तक अवैध कब्जों को हटाया नहीं गया।

    बुधवार को हुई बारिश में यहां हो गया था जलभराव

    एनएचपीसी अंडरपास, ओल्ड फरीदाबाद अंडरपास, जवाहर कालोनी 60 फीट रोड, सारन रोड, बल्लभगढ़ मार्केट, एसजीएम नगर, नेशनल हाइवे मेट्रो स्टेशन, एनएच-5, संजय काॅलोनी, जीवन नगर, गौंछी, शिवदुर्गा विहार, सेक्टर-3, ओल्ड अंडरपास, एनएचपीसी अंडरपास, सेक्टर-15, 16, 7, 9, पर्वतीय कॉलोनी, डबुआ कॉलोनी, संजय काॅलोनी, जनता कॉलोनी, कपड़ा कॉलोनी आदि।

  • अफसरों की छुट्टियां रद्द, फील्ड में रहने का फरमान, पानी निकासी में बाधा बनने वाले अवैध निर्माण बगैर नोटिस तोड़ने के आदेश
    +2और स्लाइड देखें
  • अफसरों की छुट्टियां रद्द, फील्ड में रहने का फरमान, पानी निकासी में बाधा बनने वाले अवैध निर्माण बगैर नोटिस तोड़ने के आदेश
    +2और स्लाइड देखें
आगे की स्लाइड्स देखने के लिए क्लिक करें
दैनिक भास्कर पर Hindi News पढ़िए और रखिये अपने आप को अप-टू-डेट | अब पाइए News in Hindi, Breaking News सबसे पहले दैनिक भास्कर पर |

More From Faridabad

    Trending

    Live Hindi News

    0

    कुछ ख़बरें रच देती हैं इतिहास। ऐसी खबरों को सबसे पहले जानने के लिए
    Allow पर क्लिक करें।

    ×