• Hindi News
  • Haryana
  • Faridabad
  • पैरामेडिकल स्टाफ को नौकरी से निकालने का नोटिस, डीसी को दिया ज्ञापन, देर शाम समझौता
--Advertisement--

पैरामेडिकल स्टाफ को नौकरी से निकालने का नोटिस, डीसी को दिया ज्ञापन, देर शाम समझौता

Faridabad News - ईएसआईसी मेडिकल कॉलेज में ठेके पर कार्यरत पैरामेडिकल स्टॉफ को नौकरी से निकाल दिया गया है। कर्मचारियों को नोटिस...

Dainik Bhaskar

Jun 30, 2018, 02:00 AM IST
पैरामेडिकल स्टाफ को नौकरी से निकालने का नोटिस, डीसी को दिया ज्ञापन, देर शाम समझौता
ईएसआईसी मेडिकल कॉलेज में ठेके पर कार्यरत पैरामेडिकल स्टॉफ को नौकरी से निकाल दिया गया है। कर्मचारियों को नोटिस थमा उन्हें निकाल दिया गया। इससे कर्मचारियों में रोष है। इसे लेकर कर्मचारियों ने कालेज परिसर में प्रदर्शन किया। इसके बाद डीसी अतुल कुमार को ज्ञापन सौंपा। इसमें सभी कर्मचारियों को बहाल कराने की मांग की गई है। हालांकि देर शाम समझौता हो गया।

कर्मचारियों की 30 जून को कॉलेज से नौकरी समाप्त हो रही है। कर्मचारियों ने बताया कि वह ईएसआईसी कॉलेज में एक एजेंसी के माध्यम से ठेके पर लगे थे। जून में एजेंसी का एग्रीमेंट मेडिकल कॉलेज के साथ खत्म हो रहा। कॉलेज प्रबंधन ने नई एजेंसी को ठेका दे दिया। नई एजेंसी पुराने कर्मचारियों को नौकरी से निकाल रही है। नया स्टाफ भर्ती करने की बात कर रही है, जबकि पुराने कर्मचारी ज्यादा ट्रेंड हैं। उन्हें जबर्दस्ती नौकरी से निकाला जा रहा है। कालेज प्रबंधन और पुरानी एजेंसी की मिलीभगत के कारण नवंबर और दिसंबर दो माह उन्हें वेतन नहीं मिला। इस साल मई और जून का वेतन भी नहीं दिया गया। कॉलेज प्रबंधन के तानाशाही रवैए से कर्मचारी परेशान हैं। कर्मचारी नेता बेचू गिरी का कहना है कि कॉलेज प्रशासन कर्मचारियों के साथ ज्यादती कर रहा है। नियमानुसार ठेके पर लगे कर्मचारियों को एजेंसी बदलने पर नौकरी से निकालने की कोई जरूरत नहीं पड़ती। नौकरी से निकाले जाने के तीन माह पहले कर्मचारियों को नोटिस दिया जाता है। इसका कॉलेज प्रशासन ने उल्लंघन किया है। कर्मचारियों को 10 दिन पहले नोटिस देकर निकाल दिया गया, जो गलत है। इस संबंध में डीसी अतुल कुमार ने मेडिकल कॉलेज के डीन डाॅ. असीम दास को कर्मचारियों की समस्या का समाधान कराने का आश्वासन दिया।

देर शाम हुआ समझौता

ईएसआई कर्मचारियों के मामले में देर शाम समझौता हो गया। यह जानकारी श्रमिक नेता एवं एटक के प्रदेश महासचिव बेचू गिरी ने दी। उन्होंने बताया ईएसआई मैनेजमेंट ने अभी किसी कर्मचारी को काम से नहीं हटाने का आश्वासन दिया है। साथ ही तीन माह में कार्यरत कर्मचारियों को समायोजित करने के उपाय किए जाएंगे।

X
पैरामेडिकल स्टाफ को नौकरी से निकालने का नोटिस, डीसी को दिया ज्ञापन, देर शाम समझौता
Bhaskar Whatsapp

Recommended

Click to listen..