• Home
  • Haryana News
  • Faridabad
  • फरीदाबाद-गुड़गांव टोल से निकलने वाल रोज 50000 वाहनों से 3.75 लाख अधिक वसूली
--Advertisement--

फरीदाबाद-गुड़गांव टोल से निकलने वाल रोज 50000 वाहनों से 3.75 लाख अधिक वसूली

फरीदाबाद-गुडग़ांव टोल प्लाजा पर शनिवार से रेट में करीब 25 फीसदी तक की बढ़ोतरी कर दी गई है। कांग्रेस ने इसका विरोध कर...

Danik Bhaskar | Jul 01, 2018, 02:00 AM IST
फरीदाबाद-गुडग़ांव टोल प्लाजा पर शनिवार से रेट में करीब 25 फीसदी तक की बढ़ोतरी कर दी गई है। कांग्रेस ने इसका विरोध कर प्रदर्शन किया। भाजपा सरकार के खिलाफ नारेबाजी कर बढ़े रेट वापस लेने की मांग की है। इस टोल से रोज करीब 50000 से अधिक वाहन आते जाते हैं। एेसे में दोनों तरफ का टोल 7.50 पैसे अतिरिक्त वसूलने पर वाहन चालकों की जेब से रोज करीब 3.75 लाख रुपए अतिरिक्त वसूला जाएगा। महीने का यह आंकड़ा एक करोड़ 12 लाख 50 हजार रुपए से अधिक पहुंच जाएगा। कांग्रेस के प्रदेश प्रवक्ता विकास चौधरी ने सवाल किया है कि टोल के नाम पर राजनीति कर रहे मंत्री को टोल वृद्धि पर जनता को जवाब देना चाहिए। जनता एक ओर पेट्रोलियम पदार्थों की अासमान छूटे रेट से परेशान हैं तो दूसरी ओर टोल की दरें 25 फीसदी तक बढ़ाकर लोगों की जेब पर डाका डालने का काम किया जा रहा है। कांग्रेसी नेताओं ने कहा कि इस मुद्दे को जनांदोलन बनाया जाएगा। पार्टी हर स्तर पर वृद्धि का विरोध करेगी।

लोगों की जेब पर पड़ रहा डाका, अब कहां हैं मंत्री

प्रदर्शन कर कांग्रेसियों ने कहा, टोल के नाम पर राजनीति कर रहे मंत्री टोल वृद्धि पर जनता को दें जवाब

29 जून की रात से नई दरें हो गईं लागू

नियमानुसार हर तीसरे साल रेट में बढ़ोतरी की जाती है। इस बार भी पीडब्ल्यूडी के नोटिफिकेशन के आधार पर टोल में बढ़ोतरी तीन साल बाद की गई है। वाहन चालकों को अब दोनों तरफ के टोल में 7.50 पैसे अतिरिक्त देना होगा। ये दरें 29 जून की रात से लागू कर दी गई हैं। शनिवार को वाहन चालकों से बढ़ी हुई दरों के आधार पर शुल्क वसूले गए। बताया जाता है बढ़े शुल्क को लेकर कई वाहन चालकों और टोलकर्मियों के बीच तू-तू मैं-मैं भी हुई।

टोल की पुरानी व नई दरें

वाहन पुरानी दर नई दरें

कार Rs.20/30 Rs.25/37.50

लाइट कर्मिशयल 110/165 120/180

बस 110/165 130/195

ट्रक 230/345 250/375

हैवी मोटर 300/450 300/450

ट्रैक्टर 60/90 70/105

विकास चौधरी ने सवाल करते हुए पूछा कि टोल टैक्स को जजिया कर बताने वाले भाजपाई आज सत्ता के मद में जनता से किए वादों को भूल गए है। टोल हटना तो दूर चार साल में तीन बार टोल के दामों में भारी वृद्धि हो चुकी है। पिछले दिनों टोल के मुद्दे को लेकर प्रदेश के उद्योग मंत्री विपुल गोयल ने टोल कर्मियों को बड़े-बड़े निर्देश देते हुए टोल फ्री कराया था। कहा था कि भविष्य में तीन मिनट से ज्यादा टोल पर गाड़ी खड़ी होने पर टोल फ्री कर दिया जाएगा। परंतु मंत्री जी के इस ड्रामे के बाद अब तक भी जनता काे कोई राहत नहीं मिली है। उल्टा फरीदाबाद-गुड़गांव टोल दरों में एक साथ 25 प्रतिशत की बढ़ोतरी कर जनता पर महंगाई का बोझ डाल दिया गया है। ऐसे में अब उद्योग मंत्री कहां सोए हैं। जब जनता को टोल वृद्धि के नाम पर लूटा जा रहा है। उन्हें इसका जवाब देना चाहिए।

कांग्रेसियों ने की टोल वृद्धि वापस लेने की मांग

शनिवार दोपहर कांग्रेसी कार्यकर्ताओं ने पार्टी के प्रदेश प्रवक्ता विकास चौधरी के नेतृत्व में टोल प्लाजा पर विरोध प्रदर्शन किया। भाजपा सरकार के खिलाफ नारेबाजी की। कांग्रेस कार्यकर्ता टोल प्लाजा के मध्य गुजरने वाली सड़क पर बैठ गए और काफी देर तक धरना देते रहे। प्रदर्शन की सूचना मिलने पर पुलिस बल भी मौके पर पहुंच गया। इस दौरान पुलिस और प्रदर्शनकारियों के बीच हल्की नोक-झोंक भी हुई।

1 साइड 5 व दोनों साइड के Rs. 7.50 की हुई बढ़ोतरी

फरीदाबाद-गुड़गांव टोल से गुजरने वाले वाहनों से एक तरफ से 5 रुपए व दोनों तरफ से 7.5 रुपए बढ़ोतरी के रुपए में वसूले जा रहे हैं। 29 जून की आधी रात से ही नई दरें लागू कर दी गई हैं। इससे टोल से गुजरने वाले 50 हजार से अधिक वाहन चालक प्रभावित हाेंगे।

अफसरों ने राहत दिलाने का दिया आश्वासन

प्रदेश प्रवक्ता विकास चौधरी ने बताया कि टोल प्लाजा के अधिकारियों ने आश्वासन दिया है कि वह उनकी इस मांग को ऊपर तक पहुंचाकर जनता को राहत दिलाने का प्रयास करेंगे। कांग्रेसियों ने चेतावनी देते हुए कहा कि अगर जल्द ही टोल दरों में की गई वृद्धि को वापस नहीं किया गया तो कांग्रेस पूरे प्रदेश में धरना प्रदर्शन करने के लिए मजबूर होगी। इस बात की जानकारी कांग्रेस के प्रदेशाध्यक्ष डाॅ. अशोक तंवर को दे दी गई है। प्रदर्शन कर रहे कांग्रेसियों का टोल पर गुजर रहे राहगीरों का भी समर्थन मिला।

ऐसे समझें कितना पैसे कंपनी के खाते में जाएगा