• Home
  • Haryana News
  • Faridabad
  • जेल से पैरोल पर आया गैंगस्टर मनोज मांगरिया तीन साथी समेत गिरफ्तार
--Advertisement--

जेल से पैरोल पर आया गैंगस्टर मनोज मांगरिया तीन साथी समेत गिरफ्तार

क्राइम ब्रांच-65 और ऊंचागांव ने संयुक्त कार्रवाई कर जिले के कुख्यात अपराधी मनोज मांगरिया को उसके तीन साथियों सहित...

Danik Bhaskar | Jul 01, 2018, 02:00 AM IST
क्राइम ब्रांच-65 और ऊंचागांव ने संयुक्त कार्रवाई कर जिले के कुख्यात अपराधी मनोज मांगरिया को उसके तीन साथियों सहित गिरफ्तार कर लिया। उसके कब्जे से हथियारों का जखीरा बरामद हुआ है। इनमें चार रायफल भी शामिल हैं। पुलिस के मुताबिक मनोज हत्या के एक मामले में आजीवन कारावास की सजा काट रहा है। 13 जून को ही वह पैरोल पर जेल से बाहर आया था। वह गैंग के अन्य साथियों के साथ मिलकर किसी वारदात को अंजाम देने की योजना बना रहा था कि इससे पहले ही पुलिस ने उसे गिरफ्तार कर लिया। क्राइम ब्रांच गिरफ्तार बदमाशों से पूछताछ कर रही है।

पुलिस प्रवक्ता सूबे सिंह के मुताबिक फरीदाबाद के मांगर गांव निवासी कुख्यात अपराधी मनोज मांगरिया पुत्र चरती 10 सालों से अपराध जगत की दुनिया में सक्रिय है। इसके खिलाफ कई थानों में संगीन मुकदमे दर्ज है। इस गैंग का मुख्य धंधा हत्या व हत्या का प्रयास, लूट, अवैध वसूली व रंगदारी मांगना है। उक्त अपराधी को गिरफ्तार करने वाले सीआईए इंस्पेक्टर वरुण कुमार के अनुसार वर्ष 2013 में कोर्ट परिसर में हुए शूट आउट में मनोज मांगरिया मुख्य आरोपी था। इसने बदरौला गांव निवासी शशि नाम के लड़के को अपने साथी कुख्यात अपराधी रवि मुजेड़ी व बलराज भाटी के साथ मिलकर गोलियों से छलनी कर दिया था। इसके बाद 2015 में गवाह रहे मृतक शशि के भाई व एक अन्य आदमी को घरौंडा गांव में कुख्यात अपराधी बलराज भाटी को सुपारी देकर हत्या करा दी थी।

काट रहा आजीवन कारावास

इंस्पेक्टर वरुण कुमार के अनुसार कोर्ट परिसर में शूटआउट कांड में मनोज नीमका जेल में आजीवन कारावास की सजा काट रहा है। 13 जून को पैराेल पर वह बाहर आया था। 12 जुलाई को फिर से उसे जेल जाना था। उन्होंने बताया लोगों में दहशत फैलाने के लिए अपने साथ कई लड़कों व अवैध हथियारों को रखता था।

फरीदाबाद. सेक्टर 65 सीआईए की टीम ने कुख्यात बदमाश मनोज मांगरीया व उसके तीन साथियों काे हथियारों के साथ गिरफ्तार किया।

आरोपियों से हथियारों का जखीरा बरामद

इंस्पेक्टर के अनुसार अपराधी मनोज मांगरिया व उसके भाई ललित को मुखबिर की सूचना पर शुक्रवार रात गांव पाली बस स्टैंड से गिरफ्तार किया गया। इनके कब्जे से चार राइफलें, तमंचा व 20 कारतूस बरामद किए गए हैं। इस गिरोह ने किसी बड़ी वारदात को अंजाम देने की योजना बनाई थी। इनकी निशानदेही पर गैंग के दो अन्य सदस्य गांव बड़खल निवासी प्रवीण शर्मा पुत्र सुभाष चंद्र और जावेद पुत्र फतेहअली को गिरफ्तार किया गया। बदमाशों से तमंचा बरामद हुआ है।