• Home
  • Haryana News
  • Faridabad
  • प्रदेश में 17 हजार बूथों को ए, बी, सी ग्रेड में बांटकर सबसे कमजोर बूथ सी पर बीजेपी का ज्यादा फोकस
--Advertisement--

प्रदेश में 17 हजार बूथों को ए, बी, सी ग्रेड में बांटकर सबसे कमजोर बूथ सी पर बीजेपी का ज्यादा फोकस

सेक्टर-12 के हुडा कन्वेंशन सेंटर में रविवार को साढ़े सात घंटे भाजपा प्रदेश कार्यसमिति की मैराथन बैठक चली। इसके...

Danik Bhaskar | Jul 09, 2018, 02:00 AM IST
सेक्टर-12 के हुडा कन्वेंशन सेंटर में रविवार को साढ़े सात घंटे भाजपा प्रदेश कार्यसमिति की मैराथन बैठक चली। इसके आखिरी सत्र में कार्यकर्ताओं को मिशन 2019 फतह करने के लिए कांग्रेसमुक्त बूथ पर काम करने का मूलमंत्र दिया गया। इसी लक्ष्य को निर्धारित कर हर बूथ पर काम करना होगा। प्रदेशभर में 17 हजार बूथों को ए, बी, सी ग्रेड में बांटकर सबसे कमजोर बूथ सी पर अधिक फोकस रहेगा। इसके अलावा प्रदेश के सभी मंत्रियों, विधायकों, सांसदों व पार्टी के बड़े पदाधिकारियों को 227 मंडलों में रात्रि प्रवास करना होगा। इस दौरान लाेगों से संपर्क कर उन्हें केंद्र व राज्य सरकार की योजनाओं और उससे होने वाले लाभ के बारे में बताना होगा। सबसे अधिक जोर केंद्र सरकार की जनधन योजना और आयुष्मान भारत योजना पर रहेगा। भाजपा का मानना है कि उक्त दोनों योजनाओं से देश व प्रदेश का एक बड़ा तबका लाभान्वित हो रहा है। जब आम आदमी तक ये योजनाएं पहुंचेंगी तो ही वह पार्टी का समर्थन करेगा। इसलिए पार्टी पदाधिकारियों को इन योजनाओं के बारे में अधिक से अधिक बार चर्चा करने का सुझाव दिया गया। सुबह 11.30 बजे शुरू हुई बैठक शाम करीब 7.00 बजे खत्म हुई। नए संकल्प और लक्ष्य के साथ प्रदेशभर से आए कार्यसमिति के पदाधिकारी, मंत्री, सांसद व विधायक अपने-अपने क्षेत्र के लिए रवाना हो गए।

अमित शाह के मूल मंत्र पर काम करेंगे कार्यकर्ता

प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने चुनाव से पहले कांग्रेसमुक्त भारत का नारा दिया था। वह लगभग पूरा भी हुआ है। लेकिन रविवार को यहां हुई पार्टी कार्यसमिति की बैठक में पार्टी के राष्ट्रीय अध्यक्ष अमित शाह के मूलमंत्र कांग्रेसमुक्त बूथ का नया नारा दिया गया। इसी नारे पर काम करने की चर्चा हुई। पार्टी सूत्रों की मानें तो बैठक में राष्ट्रीय संगठन मंत्री ने अपने संबोधन में इसी मूलमंत्र के साथ 2019 के चुनावी जंग में उतरने का कार्यकर्ताओं काे संदेश दिया। उन्होंने कहा कि पार्टी के बूथ लेवल कार्यकर्ता को इस मूलमंत्र के साथ चुनावी जंग जीतने के लिए काम करना होगा। तभी हम पार्टी के लक्ष्य को पूरा कर पाएंगे। इसके लिए पार्टी के बड़े पदाधिकारी नियमित संवाद स्थापित कर बूथ लेवल पर कार्यकर्ताओं की हौंसला अफजाई करते रहेंगे।

फरीदाबाद. कार्यसमिति की बैठक में बीजेपी राष्ट्रीय महासचिव, हरियाणा प्रभारी डॉ अनिल जैन, सीएम मनोहर लाल, प्रदेश अध्यक्ष सुभाष बराला, प्रदेश संगठन महामंत्री सुरेश भट्ट व अन्य कार्यकर्ता राष्ट्रगीत गाते हुए।

बैठक में प्रदेश में बने 17 हजार बूथों को मजबूत बनाने के लिए पार्टी के बड़े पदाधिकारियों की ड्यूटी लगाई गई है। साथ ही इस बात का निर्देश दिया गया है कि सभी बूथों को ग्रेड वाइज बांटकर काम किया जाए। इसमें तीन कैटेगरी ए, बी व सी बनाने पर जोर दिया गया। पार्टी पदाधिकारियों का कहना है कि जो बूथ ग्रेड ए में है वह पहले से मजबूत है। हमें उसे ऐसे ही बरकरार रखना है। ऐसे बूथों को बी कैटेगरी में रखा जाए जहां हम पिछली बार 50-50 में थे। एेसे बूथों पर अधिक ध्यान देने की जरूरत है ताकि चुनाव से पहले इन बूथों पर शत-प्रतिशत पार्टी का कब्जा हो सके। जिन बूथों पर पार्टी पिछले चुनाव में सबसे निचले पायदान पर थी उन्हें सी कैटेगरी में रखकर काम करना होगा। वहां नए सिरे से बूथ लेवल पर कार्यकर्ता तैयार कर संगठन को मजबूत करना होगा। यानी पार्टी का सबसे अधिक फोकस ग्रेड सी वाले बूथ पर होगा। ऐसे बूथों पर हर हाल में जीतने का लक्ष्य तय करना होगा।

प्रदेश के सभी 227 मंडलों में पार्टी के बड़े नेता, जैसे प्रदेशाध्यक्ष, मंत्री, सांसद, विधायक, जिलाध्यक्ष, विभिन्न प्रकोष्ठों के पदाधिकारी, मंडल अध्यक्ष सभी रात्रि प्रवास करेंगे। इस दौरान लोगों से केंद्र एवं राज्य सरकार की नीतियों पर चर्चा करेंगे। योजनाओं का लाभ किसे मिला, कौन वंचित रह गया इसकी सूची तैयार करेंगे। जो पात्र लाभ पाने से वंचित रह गए उन्हें योजनाओं का लाभ दिलाया जाएगा। साढ़े सात घंटे की बैठक में सबसे पहले पार्टी के राष्ट्रीय महामंत्री अनिल जैन ने संबोधित किया।

227 मंडलों में पार्टी नेता करेंगे रात्रि प्रवास

भाेला पांडेय | फरीदाबाद

सेक्टर-12 के हुडा कन्वेंशन सेंटर में रविवार को साढ़े सात घंटे भाजपा प्रदेश कार्यसमिति की मैराथन बैठक चली। इसके आखिरी सत्र में कार्यकर्ताओं को मिशन 2019 फतह करने के लिए कांग्रेसमुक्त बूथ पर काम करने का मूलमंत्र दिया गया। इसी लक्ष्य को निर्धारित कर हर बूथ पर काम करना होगा। प्रदेशभर में 17 हजार बूथों को ए, बी, सी ग्रेड में बांटकर सबसे कमजोर बूथ सी पर अधिक फोकस रहेगा। इसके अलावा प्रदेश के सभी मंत्रियों, विधायकों, सांसदों व पार्टी के बड़े पदाधिकारियों को 227 मंडलों में रात्रि प्रवास करना होगा। इस दौरान लाेगों से संपर्क कर उन्हें केंद्र व राज्य सरकार की योजनाओं और उससे होने वाले लाभ के बारे में बताना होगा। सबसे अधिक जोर केंद्र सरकार की जनधन योजना और आयुष्मान भारत योजना पर रहेगा। भाजपा का मानना है कि उक्त दोनों योजनाओं से देश व प्रदेश का एक बड़ा तबका लाभान्वित हो रहा है। जब आम आदमी तक ये योजनाएं पहुंचेंगी तो ही वह पार्टी का समर्थन करेगा। इसलिए पार्टी पदाधिकारियों को इन योजनाओं के बारे में अधिक से अधिक बार चर्चा करने का सुझाव दिया गया। सुबह 11.30 बजे शुरू हुई बैठक शाम करीब 7.00 बजे खत्म हुई। नए संकल्प और लक्ष्य के साथ प्रदेशभर से आए कार्यसमिति के पदाधिकारी, मंत्री, सांसद व विधायक अपने-अपने क्षेत्र के लिए रवाना हो गए।

अमित शाह के मूल मंत्र पर काम करेंगे कार्यकर्ता

प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने चुनाव से पहले कांग्रेसमुक्त भारत का नारा दिया था। वह लगभग पूरा भी हुआ है। लेकिन रविवार को यहां हुई पार्टी कार्यसमिति की बैठक में पार्टी के राष्ट्रीय अध्यक्ष अमित शाह के मूलमंत्र कांग्रेसमुक्त बूथ का नया नारा दिया गया। इसी नारे पर काम करने की चर्चा हुई। पार्टी सूत्रों की मानें तो बैठक में राष्ट्रीय संगठन मंत्री ने अपने संबोधन में इसी मूलमंत्र के साथ 2019 के चुनावी जंग में उतरने का कार्यकर्ताओं काे संदेश दिया। उन्होंने कहा कि पार्टी के बूथ लेवल कार्यकर्ता को इस मूलमंत्र के साथ चुनावी जंग जीतने के लिए काम करना होगा। तभी हम पार्टी के लक्ष्य को पूरा कर पाएंगे। इसके लिए पार्टी के बड़े पदाधिकारी नियमित संवाद स्थापित कर बूथ लेवल पर कार्यकर्ताओं की हौंसला अफजाई करते रहेंगे।

बूथों को ग्रेड में बांटकर इस तरह किया जा रहा काम

फरीदाबाद. सेक्टर 12 हुडा कन्वेंशन सेटर में आयोजित भाजपा प्रदेश कार्यसमिति की बैठक के दौरान शिरकत करते कैबिनेट मंत्री, राज्यमंत्री व प्रदेश पदाधिकारी, जिला प्रभारी व जिला अध्यक्ष।

मिशन फतह करने के ये हैं मूलमंत्र














रामकुमार सैनी सिर्फ गाल बजाने वाले हैं: डॉ. जैन

राज्यसभा सांसद एवं हरियाणा भाजपा प्रभारी डॉ. अनिल जैन ने सासंद राजकुमार सैनी के बारे में पूछे सवाल पर कहा कि जो व्यक्ति नई पार्टी बनाने की घोषणा कर चुका है उसके बारे में क्या कहना। एेसे लोग सिर्फ गाल बजाने वाले होते हैं। सैनी प्रधानमंत्री की जिन घोषणा पर सवाल उठा रहे हैं । उन्होंने कभी किसानों के लिए गाल बजाने के सिवाए कुछ किया। ऐसे लोगों को हीरो बनाने से कुछ फायदा नहीं। पार्टी हाईकमान को उनकी सारी जानकारी है। समय आने पर पार्टी उचित निर्णय लेगी।

भाेला पांडेय | फरीदाबाद

सेक्टर-12 के हुडा कन्वेंशन सेंटर में रविवार को साढ़े सात घंटे भाजपा प्रदेश कार्यसमिति की मैराथन बैठक चली। इसके आखिरी सत्र में कार्यकर्ताओं को मिशन 2019 फतह करने के लिए कांग्रेसमुक्त बूथ पर काम करने का मूलमंत्र दिया गया। इसी लक्ष्य को निर्धारित कर हर बूथ पर काम करना होगा। प्रदेशभर में 17 हजार बूथों को ए, बी, सी ग्रेड में बांटकर सबसे कमजोर बूथ सी पर अधिक फोकस रहेगा। इसके अलावा प्रदेश के सभी मंत्रियों, विधायकों, सांसदों व पार्टी के बड़े पदाधिकारियों को 227 मंडलों में रात्रि प्रवास करना होगा। इस दौरान लाेगों से संपर्क कर उन्हें केंद्र व राज्य सरकार की योजनाओं और उससे होने वाले लाभ के बारे में बताना होगा। सबसे अधिक जोर केंद्र सरकार की जनधन योजना और आयुष्मान भारत योजना पर रहेगा। भाजपा का मानना है कि उक्त दोनों योजनाओं से देश व प्रदेश का एक बड़ा तबका लाभान्वित हो रहा है। जब आम आदमी तक ये योजनाएं पहुंचेंगी तो ही वह पार्टी का समर्थन करेगा। इसलिए पार्टी पदाधिकारियों को इन योजनाओं के बारे में अधिक से अधिक बार चर्चा करने का सुझाव दिया गया। सुबह 11.30 बजे शुरू हुई बैठक शाम करीब 7.00 बजे खत्म हुई। नए संकल्प और लक्ष्य के साथ प्रदेशभर से आए कार्यसमिति के पदाधिकारी, मंत्री, सांसद व विधायक अपने-अपने क्षेत्र के लिए रवाना हो गए।

अमित शाह के मूल मंत्र पर काम करेंगे कार्यकर्ता

प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने चुनाव से पहले कांग्रेसमुक्त भारत का नारा दिया था। वह लगभग पूरा भी हुआ है। लेकिन रविवार को यहां हुई पार्टी कार्यसमिति की बैठक में पार्टी के राष्ट्रीय अध्यक्ष अमित शाह के मूलमंत्र कांग्रेसमुक्त बूथ का नया नारा दिया गया। इसी नारे पर काम करने की चर्चा हुई। पार्टी सूत्रों की मानें तो बैठक में राष्ट्रीय संगठन मंत्री ने अपने संबोधन में इसी मूलमंत्र के साथ 2019 के चुनावी जंग में उतरने का कार्यकर्ताओं काे संदेश दिया। उन्होंने कहा कि पार्टी के बूथ लेवल कार्यकर्ता को इस मूलमंत्र के साथ चुनावी जंग जीतने के लिए काम करना होगा। तभी हम पार्टी के लक्ष्य को पूरा कर पाएंगे। इसके लिए पार्टी के बड़े पदाधिकारी नियमित संवाद स्थापित कर बूथ लेवल पर कार्यकर्ताओं की हौंसला अफजाई करते रहेंगे।