• Home
  • Haryana News
  • Faridabad
  • चुनावी रैली में विस्फोट; उम्मीदवार समेत 128 की मौत, 200 लोग जख्मी
--Advertisement--

चुनावी रैली में विस्फोट; उम्मीदवार समेत 128 की मौत, 200 लोग जख्मी

चुनावी रैली में विस्फोट; उम्मीदवार समेत 128 की मौत, 200 लोग जख्मी एजेंसी | बलूचिस्तान पाकिस्तान में शुक्रवार...

Danik Bhaskar | Jul 14, 2018, 02:00 AM IST
चुनावी रैली में विस्फोट; उम्मीदवार समेत 128 की मौत, 200 लोग जख्मी

एजेंसी | बलूचिस्तान

पाकिस्तान में शुक्रवार दोपहर बाद एक चुनावी रैली में हुए विस्फोट में कम से कम 128 लोग मारे गए। बलूचिस्तान के मस्तुंग जिले में हुए इस हमले में 200 से ज्यादा लोग घायल हैं। मृतकों में बलूचिस्तान अवामी पार्टी (बीएपी) के प्रत्याशी नवाबजादा सिराज राईसैनी भी हैं। वह पीबी-35 मस्तुंग से चुनाव मैदान में थे। यह आत्मघाती हमला था। इसकी जिम्मेदारी आईएस ने ली है।

मीडिया रिपोर्ट्स के अनुसार हमले का मुख्य निशाना सिराज ही थे। वह बलूचिस्तान के पूर्व सीएम नवाब असलम राईसैनी के छोटे भाई थे। गंभीर रूप से घायल सिराज को डॉक्टरों ने क्वेटा रेफर किया था। अस्पताल में उन्होंने दम तोड़ दिया। घायल मस्तुंग और क्वेटा के अस्पतालों में भर्ती हैं। बलूचिस्तान में पीएमएल-एन गठबंधन से अलग होने के बाद बीएपी का गठन इसी साल हुआ था। मस्तुंग में सिराज के सगे भाई नवाब असलम राईसैनी भी निर्दलीय चुनाव लड़ रहे हैं। पाकिस्तान में 25 जुलाई को मतदान होगा। सिराज पर 2011 में भी ग्रेनेड से हमला हुआ था। सिराज तो उसमें बच गए थे, लेकिन उनका बेटा मारा गया था।

2000 में शरीफ को आजीवन कारावास

हुआ था









आत्मघाती हमले की जिम्मेदारी अातंकी संगठन आईएस ने ली है

बलूचिस्तान में चुनावी रैली के दौरान आत्मघाती धमाके के बाद घायलों को क्वेटा के हॉस्पिटल में भर्ती कराया गया।

खैबर पख्तूनखवा में पूर्व सीएम के काफिले पर हमला, 4 की मौत

शुक्रवार को ही बन्नू इलाके में खैबर पख्तूनखवा के पूर्व मुख्यमंत्री अकरम खान दुर्रानी के काफिले को निशाना बनाकर ब्लास्ट किया गया। हमले में दुर्रानी तो बाल-बाल बच गए, लेकिन चार अन्य लोग मारे गए और 37 घायल हो गए।

पूर्व पीएम नवाज शरीफ 28 साल में तीसरी बार गिरफ्तार हुए

 फरीदाबाद, शनिवार, 14 जुलाई, 2018

पाक में 6 दिन में चुनावी रैलियों में हुए हमले





प|ी को अल्लाह के भरोसे छोड़ते शरीफ...

नवाज शरीफ की प|ी कुलसुम को गले का कैंसर है। वह लंदन के अस्पताल में भर्ती हैं। शुक्रवार को पाक लौटने से पहले नवाज और मरियम कुलसुम से मिलने अस्पताल पहुंचे। शरीफ ने कहा कि मैं अपनी प|ी को अल्लाह के भरोसे छोड़कर देश जा रहा हूं। अगर मुझे फांसी पर लटका दिया जाए तो कोई बड़ी बात नहीं होगी। मैं ये कुर्बानी पाक की नस्लों के लिए दे रहा हूं। मेरी लोगों से अपील है कि वे मेरे साथ हाथ मिलाकर चलें और मुल्क की तकदीर बदलें।