• Home
  • Haryana News
  • Faridabad
  • केंद्रीय मंत्री 4 साल की मोदी सरकार की उपलब्धियां गिना थपथपा रहे पीठ, गोद लिए तिलपत की मुख्य रोड बनी तालाब
--Advertisement--

केंद्रीय मंत्री 4 साल की मोदी सरकार की उपलब्धियां गिना थपथपा रहे पीठ, गोद लिए तिलपत की मुख्य रोड बनी तालाब

मोदी सरकार की चार साल की उपलब्धियों का केंद्रीय राज्यमंत्री से लेकर भाजपा के बड़े बड़े पदाधिकारी गुणगान कर अपनी पीठ...

Danik Bhaskar | Jun 13, 2018, 02:00 AM IST
मोदी सरकार की चार साल की उपलब्धियों का केंद्रीय राज्यमंत्री से लेकर भाजपा के बड़े बड़े पदाधिकारी गुणगान कर अपनी पीठ थपथपा रहे हैं। लेकिन केंद्रीय राज्यमंत्री एवं स्थानीय सांसद कृष्णपाल गुर्जर द्वारा खुद गोद लिया गया गांव तिलपत अभी भी मूलभूत सुविधाओं के इंतजार में है। यहां की मुख्य सड़क तालाब बनी हुई है। इससे यहां की 50 हजार की आबादी को भारी दिक्कत हो रही है। सालभर पहले नारियल फोड़कर छह महीने में सड़क निर्माण का काम पूरा करने का दावा किया गया था। एक साल बाद भी यह बनकर तैयार नहीं हुई। पल्ला से तिलपत जाने वाली इस मेन सड़क पर पानी भरा हुआ है। इसके निकासी की कोई व्यवस्था नहीं है। इससे लोगों को आना-जाना मुश्किल हो रहा है। गांव के सरपंच कहते हैं कि मंत्री जी गांव आते हैं। नारे लगवाते हैं और चले जाते हैं। इस गांव में स्थित सूरदास मंदिर में लाखों लोग मंगलवार को दूरदराज से आते हैं। वे भी इस समस्या से परेशान होते हैं। सांसद कृष्णपाल गुर्जर ने नवंबर 2014 में तिलपत को गोद लिया था। सांसद आदर्श गांव योजना के तहत इसे विकसित करना था। इन चार वर्षों में गांव की मेन सड़क की ही दशा नहीं सुधरी। स्थानीयवासियों का कहना है कि सड़क पर जलभराव होने से दोपहिया सवार गिरकर घायल होते रहते हैं।

फरीदाबाद. तिलपत के मैन रोड पर भरा पानी।

अतिक्रमण हटाए बगैर काम शुरू होने से समस्या

सड़क निर्माण का काम गुड़गांव बेस्ड शटल गे माइक इफ्रोटेक कंपनी ने लिया है। कंपनी के प्रोजेक्ट मैनेजर आरपी साहनी ने भास्कर को बताया कि अभी वहां ड्रेनेज निर्माण का काम चल रहा है। इस कारण पानी की निकासी नहीं हो पा रही है। पूरी सड़क पर अभी करीब 900 मीटर तक अतिक्रमण है। कंपनी ने लोगों के हितों को देखते हुए बगैर अतिक्रमण हटाए बिना काम करना शुरू कर दिया। यही गले की फांस बन गई। उनका कहना है जहां पहले पानी जाता था यदि कुछ दिन उसी स्थान पर पानी जाता तो अब तक सड़क और ड्रेनेज बन जाती।

गांव में नौ कॉलोनियां भी विकसित

सांसद के गोद लिए गांव में नौ कॉलोनियां भी अविकसित हैं। इनमें आधा हिस्सा ग्राम पंचायत का तो आधा नगर निगम में आता है। इनमें जो कॉलाेनियां विकसित हुई हैं उनमें सूरदास कॉलोनी, गोविंदपुरम, न्यू तिलपत, बांके विहारी, होराम कॉलोनी, हरिकेश कॉलोनी, पॉप कॉलोनी, हनुमंत कॉलोनी, टीटू कॉलोनी पार्ट दो शामिल हैं।

क्या कहते हैं लोग



आने वाले दिनों में तिलपत आदर्श गांव होगा