Hindi News »Haryana »Faridabad» 31 दिसंबर से शुरू होगा मंझावली पुल: ग्रेटर नोएडा से फरीदाबाद 30 मिनट में ही पहुंचेंगे

31 दिसंबर से शुरू होगा मंझावली पुल: ग्रेटर नोएडा से फरीदाबाद 30 मिनट में ही पहुंचेंगे

केंद्रीय राज्यमंत्री कृष्णपाल गुर्जर ने मंगलवार को मंझावली गांव में यमुना पर बन रहे पुल का निरीक्षण किया। पुल का...

Bhaskar News Network | Last Modified - Jun 13, 2018, 02:00 AM IST

31 दिसंबर से शुरू होगा मंझावली पुल: ग्रेटर नोएडा से फरीदाबाद 30 मिनट में ही पहुंचेंगे
केंद्रीय राज्यमंत्री कृष्णपाल गुर्जर ने मंगलवार को मंझावली गांव में यमुना पर बन रहे पुल का निरीक्षण किया। पुल का काम तेजी से चल रहा है। दावा किया जा रहा है कि साल के अंत यानि 31 दिसंबर तक पुल का निर्माण पूरा हो जाएगा। इसे जनता के आवागमन के लिए शुरू कर दिया जाएगा। इसके शुरू होने में फरीदाबाद से ग्रेटर नोएडा पहुंचने में अब तक जो दो से तीन घंटे का समय लगता था। वह सफर अब आधे घंटे में पूरा हो जाएगा। इस पुल का निर्माण पूरा होने के बाद लोगों को आवागमन में सुविधा होगी। इससे लोगों का कीमती समय भी बचेगा। गुर्जर के अनुसार यह पुल 400 करोड़ रुपए की लागत से बनकर तैयार होगा। आगामी 31 दिसंबर 2018 तक पुल पर आवागमन शुरू हो जाएगा। उन्होंने कहा इस पुल के बनने से हरियाणा और उत्तरप्रदेश की जनता को बहुत सुविधा होगी।

पुल के लिए हरियाणा सरकार, यूपी सरकार व केन्द्र की सरकार पैसा लगा रही है

मंझावली में यमुना पर बन रहे पुल का निरीक्षण करते केन्द्रीय राज्यमंत्री कृष्णपाल गुर्जर।

इस पर कोई ग्रीन टैक्स नहीं लगेगा

पुल के निर्माण के लिए 18 माह का समय दिया गया था, लेकिन समय से पहले इस पुल को 31 दिसंबर 2018 तक जनता को सौंप दिया जाएगा। इस पुल पर कोई टोल टैक्स, ग्रीन टैक्स नहीं होगा। इस मौके पर फरीदाबाद नगर निगम के वरिष्ठ उपमहापौर देवेंद्र चौधरी, प्रोजेक्टर डायरेक्टर बीएम गुप्ता, प्रोजेक्ट मैनेजर अनवर खान, लोक निर्माण विभाग के कार्यकारी अभियन्ता, राहुल सिंह, एसडीई जगदीश मलिक आदि मौजूद थे।

मंझावली तक रोड को हाइवे का दर्जा

गुर्जर के अनुसार पुल के साथ-साथ फरीदाबाद से मंझावली तक आने वाले रोड को भी हाइवे का दर्जा दिया जा रहा है। इस रोड को चौड़ा करने के लिए संबंधित गांवों के किसानों ने जमीन देने में सहमति बना ली है। उन्होंने विपक्ष पर कटाक्ष करते हुए कहा कि कांग्रेस सरकार ने इस पुल का शिलान्यास 1988 में किया था। जिसे अब 30 साल हो गए हैं। वे इस पुल का शिलान्यास कर भूल गए थे, लेकिन देश के प्रधानमंत्री ने ठाना है कि देश के विकास को तीव्र गति से किया जाना है।

दैनिक भास्कर पर Hindi News पढ़िए और रखिये अपने आप को अप-टू-डेट | अब पाइए News in Hindi, Breaking News सबसे पहले दैनिक भास्कर पर |

More From Faridabad

    Trending

    Live Hindi News

    0

    कुछ ख़बरें रच देती हैं इतिहास। ऐसी खबरों को सबसे पहले जानने के लिए
    Allow पर क्लिक करें।

    ×