• Home
  • Haryana News
  • Faridabad
  • चार दिन से नहीं मिली बिजली, विधायक के घर पहुंचे ताे 18 लोग गिरफ्तार कर भेज दिए गए हवालात
--Advertisement--

चार दिन से नहीं मिली बिजली, विधायक के घर पहुंचे ताे 18 लोग गिरफ्तार कर भेज दिए गए हवालात

चार दिन से बिजली समस्या से परेशान ग्रीनफील्ड कॉलोनी के लोग शुक्रवार रात ढाई बजे जब क्षेत्र की विधायक सीमा त्रिखा...

Danik Bhaskar | Jun 24, 2018, 02:00 AM IST
चार दिन से बिजली समस्या से परेशान ग्रीनफील्ड कॉलोनी के लोग शुक्रवार रात ढाई बजे जब क्षेत्र की विधायक सीमा त्रिखा के आवास पर शिकायत लेकर पहुंचे तो उन्हें वहां गिरफ्तार कर लिया गया। कॉलोनी की करीब 25 हजार की आबादी चार दिन से बिजली समस्या से परेशान है। 24 घंटे में कॉलोनी को मात्र 5-6 घंटे बिजली मिल रही है। इससे परेशान होकर लोग रात को विधायक के आवास पर पहुंचे और नारेबाजी करने लगे। इसकी खबर पुलिस को किसी ने दे दी। कुछ ही देर में पुलिस पहुंच गई और 18 लोगों को गिरफ्तार कर लिया। आरोप है कि इन्हें थाने ले जाकर 12 घंटे तक नंगे बदन हवालात में रखा गया। इसके बाद शनिवार को इन्हें जमानत पर छोड़ा गया। इस गिरफ्तारी से कॉलोनी के लोगों में विधायक के खिलाफ रोष है।

हाई वोल्टेज ड्रामे की यह है पूरी कहानी

ग्रीन फील्ड कॉलोनी में करीब 6000 मकान हैं। यहां की आबादी करीब 25000 से अधिक है। यहां रहने वाले अधिकांश परिवार उच्च क्लास नौकरीपेशा वाले हैं। चूंकि कॉलोनी प्राइवेट कॉलोनाइजर द्वारा बसाई गई है। ऐसे में बिजली सप्लाई भी कंपनी द्वारा ही की जाती है। लेकिन चार दिन से 24 घंटे में महज 5-6 घंटे ही बिजली मिल रही है। लोगों की रात की नींद पूरी नहीं हो रही। सबसे अधिक परेशानी छोटे बच्चों और बुजुर्गों को हो रही हे।

पांच मिनट में ही पुलिस

का बदल गया रवैया

बताया जाता है मौके पर पहुंची पुलिस ने पहले गाड़ियों से आए लोगों को सेक्टर-46 बिजली घर चलने के लिए कहा। जब लोग गाड़ी में बैठने लगे तभी पांच मिनट में पुलिस का रवैया बदल गया और उन्हें गाड़ियों से निकाल कर पीसीआर में डालकर एनआईटी थाने ले जाकर हवालात में बंद कर दिया गया। थाना प्रभारी सुभाष कुमार का कहना है कि आरोपियों की पांच गाड़ियां भी जब्त की गई हैं। पकड़े गए लोग रात के वक्त विधायक के घर के सामने हार्न बजाकर शोरशराबा कर हंगामा कर रहे थे। उन्होंने कहा कि अपनी बात रखने का यह तरीका नहीं है। शोर शराबा और हंगामा कर कानून व्यवस्था प्रभावित नहीं किया जा सकता।

विधायक सीमा त्रिखा का कहना है कि वह अपने परिवार की एक शादी में शामिल होने गुड़गांव गई थी। घर पर पीएसओ अकेले था। उसने जो सूचना दी है उसके मुताबिक रात को गाड़ियों में शराब पीकर शरारती तत्व आए थे। इसकी सूचना मिलने पर पुलिस मौके पर पहुंच गई और हंगामा करने वालों को थाने ले गई। विधायक ने कहा कि उन्होंने इसके लिए किसी भी पुलिस अधिकारी को फोन नहीं किया। न ही ग्रीन फील्ड कॉलोनी के किसी रेजीडेंट्स का फोन आया। शरारती तत्व हार्न बजाकर शोर शराबा और हंगामा कर रहे थे। पड़ोसियों ने पुलिस को सूचना दी होगी। रही बात बिजली समस्या की तो उसकी जिम्मेदारी कॉलोनी की अपनी खुद की है। फिर भी शिकायत मिलने पर बिजली निगम के कर्मचारियों को भेजकर समस्या हल कराई जाती है।


फरीदाबाद. विधायक के घर पर रात को हंगामा करने के आरोप में ग्रीन फील्ड कॉलोनी के लोगों को पुलिस ने किया अरेस्ट।

शराब पीकर आए थे शरारती तत्व



12 घंटे नंगे बदन हवालात में बैठाने का आरोप

एनआईटी पुलिस ने ग्रीनफील्ड कॉलोनी निवासी विवेक कुमार, पवन कुमार, आनंद कक्कड़, सुमित कुमार, सौरभ समेत 18 लोगों को गिरफ्तार किया था। उनके खिलाफ दंड प्रक्रिया संहिता (सीआरपीसी) की धारा 107, 151 के तहत कार्रवाई की गई है। इन धाराओं के तहत पुलिस शांति भंग को देखते हुए आरोपियों को गिरफ्तार कर 24 घंटे के अंदर मजिस्ट्रेट के सामने पेश करती है। जानकारों का कहना है कि इन धाराओं के तहत जब पुलिस को लगता है कि लोग शांति व्यवस्था भंग कर सकते हैं और इससे कानून व्यवस्था प्रभावित हो सकती है तब इनका प्रयोग किया जाता है। पकड़े गए आरोपियों के परिजन शिवकुमार, पीयूष, अाशमा, अंशुल भटनागर, सुमन आदि ने आरोप लगाया कि पुलिस ने 12 घंटे तक नंगे बदन हवालात में बैठाए रखा। ये कोई क्रिमिनल लोग नहीं हैं। सभी पढ़े-लिखे और उच्च पदों पर नौकरीपेशा वाले हैं। पुलिस ने ये पूरी कार्रवाई विधायक के इशारे पर की है। दोपहर बाद करीब 4 बजे डीसीपी एनआईटी के यहां पेश कर गिरफ्तार लोगों को जमानत पर छोड़ दिया गया।