Hindi News »Haryana »Faridabad» एमडीयू के तुगलकी फरमान का किया विरोध, एनएसयूआई ने सौंपा ज्ञापन

एमडीयू के तुगलकी फरमान का किया विरोध, एनएसयूआई ने सौंपा ज्ञापन

एनएसयूआई ने एमडीयू के तुगलकी फरमान को वापस लेने के लिए बुधवार को पं. जवाहरलाल नेहरू कॉलेज की प्राचार्य प्रीता...

Bhaskar News Network | Last Modified - Jul 05, 2018, 02:00 AM IST

एमडीयू के तुगलकी फरमान का किया विरोध, एनएसयूआई ने सौंपा ज्ञापन
एनएसयूआई ने एमडीयू के तुगलकी फरमान को वापस लेने के लिए बुधवार को पं. जवाहरलाल नेहरू कॉलेज की प्राचार्य प्रीता कौशिक को ज्ञापन सौंपा। इस दौरान एनएसयूआई के प्रदेश सचिव कृष्ण अत्री ने कहा कि महर्षि दयानंद यूनिवर्सिटी की तरफ से फिर इस बार एक तुलगकी फरमान आया है। इसके तहत तीसरे सेमेस्टर में दाखिला लेने के लिए पहले सेमेस्टर के 50 प्रतिशत विषय में पास होना जरूरी है तथा पांचवें सेमेस्टर में दाखिला लेने के लिए पहले सेमेस्टर के शत प्रतिशत विषय में पास होना भी जरूरी है। जबकि दाखिले के समय छात्रों को इस तरह के किसी नियम के बारे में नहीं बताया गया था। अब बीच में इस तरह का नियम लागू कर छात्रों को परेशान किया जा रहा है।

अत्री ने कहा कि लगातार तीन सत्रों में इसी तरह का नियम आया था। जिसका फरीदाबाद एनएसयूआई ने विरोध किया था। पिछले वर्षों में इस नियम को वापस कराने के लिए एनएसयूआई ने डीसी ऑफिस का घेराव, रोड जाम तथा 2017 में 300 छात्र-छात्राओं ने सेंट्रल थाने में गिरफ्तारी भी दी थी। इसके बाद एमडीयू प्रशासन तथा हरियाणा की खट्टर सरकार को इस नियम को वापस लेना पड़ा था। उन्होंने कहा कि जब-जब खट्टर सरकार ने छात्रों के भविष्य के साथ खिलवाड़ किया है एनएसयूआई ने सबसे पहले छात्रों की आवाज को बुलंद किया है। समय-समय पर छात्र हितों की लड़ाई लड़ छात्रों को उनका हक दिलाया है। अत्री ने कहा अगर इस बार भी एमडीयू ने तुलगकी फरमान वापस नहीं लिया तो वह किसी भी हद तक जा सकते हैं। छात्रहितों का किसी भी कीमत पर हनन नहीं होने देंगे। इस मौके पर प्रोफेसर शैलेश्वर कौशिक, दिनेश कटारिया, राहुल गुर्जर, बलराम नागर, अभिषेक शर्मा, हंसराज, सोनू आदि मौजूद थे।

फरीदाबाद. पं. जवाहरलाल नेहरू विश्वविद्यालय की प्राचार्या प्रीता कौशिक को ज्ञापन देते एनएसयूआई हरियाणा के प्रदेश सचिव कृष्ण अत्री व अन्य स्टूडेंट्स।

दैनिक भास्कर पर Hindi News पढ़िए और रखिये अपने आप को अप-टू-डेट | अब पाइए News in Hindi, Breaking News सबसे पहले दैनिक भास्कर पर |

More From Faridabad

    Trending

    Live Hindi News

    0

    कुछ ख़बरें रच देती हैं इतिहास। ऐसी खबरों को सबसे पहले जानने के लिए
    Allow पर क्लिक करें।

    ×