• Home
  • Haryana News
  • Faridabad
  • प्राकृतिक संसाधनों का समुचित प्रबंधन बहुत जरूरी है : डॉ. आकाश
--Advertisement--

प्राकृतिक संसाधनों का समुचित प्रबंधन बहुत जरूरी है : डॉ. आकाश

फरीदाबाद|वाईएमसीए यूनिवर्सिटी द्वारा जलवायु परिवर्तन व सतत ढांचागत विकास विषय पर सप्ताहभर का पाठ्यक्रम संपन्न...

Danik Bhaskar | Jun 12, 2018, 02:05 AM IST
फरीदाबाद|वाईएमसीए यूनिवर्सिटी द्वारा जलवायु परिवर्तन व सतत ढांचागत विकास विषय पर सप्ताहभर का पाठ्यक्रम संपन्न हो गया। इसमें 60 से ज्यादा प्रतिभागियों ने हिस्सा लिया। पाठ्यक्रम की संचालक डा. रेनुका गुप्ता के अनुसार 6 दिवसीय पाठ्यक्रम के दौरान दस विशेषज्ञ सत्र आयोजित किए गए। इसमें जलवायु परिवर्तन, हरित निर्माण, सतत ऊर्जा, वायु प्रदूषण एवं स्वास्थ्य, निर्माण उद्योग में कार्बन उत्सर्जन को कम करने के उपायों को लेकर विभिन्न विषयों पर चर्चा की गई। समापन सत्र में टेरी विश्वविद्यालय दिल्ली के डॉ. आकाश सौंधी मुख्य वक्ता थे। पर्यावरणीय धरोहर, स्थिरता व देखरेख विषय पर उन्होंने कहा कि पर्यावरण और अर्थव्यवस्था संबंधित हैं इसलिए उद्योगों को भी पर्यावरण संरक्षण के लिए संवेदनशील बनना होगा। समय रहते प्राकृतिक संसाधनों का समुचित प्रबंधन जरूरी है। पर्यावरण संरक्षण के लिए उच्च वैज्ञानिक तरीकों को अपनाने की आवश्यकता है। उन्होंने कहा कि स्मार्ट सिटी की अवधारणा हमें जीवन जीने के बेहतर तौर-तरीकों को बताती है। इसमें शहरों में बढ़ते हुए प्रवाह को समायोजित करने के लिए व्यापक आधारभूत संरचना के निर्माण के लिए प्रौद्योगिकीय विकास पर आधारित योजनाओं का क्रियान्वयन शामिल है।