Hindi News »Haryana »Faridabad» गुरु अर्जन देवजी के शहीदी दिवस पर शहर में जगह-जगह लगी छबील

गुरु अर्जन देवजी के शहीदी दिवस पर शहर में जगह-जगह लगी छबील

गुरु अर्जन देवजी के शहीदी दिवस पर रविवार को शहर में जगह-जगह शर्बत की छबील लगाई गईं। राहगीरों को शर्बत पिलाकर चने का...

Bhaskar News Network | Last Modified - Jun 18, 2018, 02:05 AM IST

गुरु अर्जन देवजी के शहीदी दिवस पर शहर में जगह-जगह लगी छबील
गुरु अर्जन देवजी के शहीदी दिवस पर रविवार को शहर में जगह-जगह शर्बत की छबील लगाई गईं। राहगीरों को शर्बत पिलाकर चने का प्रसाद वितरित किया गया। सिक्ख समाज ने उनके बलिदान को याद किया। न्यू कॉलोनी एक्सटेंशन गुरुद्वारा में सुबह से ही प्रसाद वितरण शुरू कर दिया गया था। सिक्ख समाज के मुताबिक सिख धर्म के पांचवें गुरु अर्जन देव साहिब हैं। वे शिरोमणि, सर्वधर्म समभाव के प्रखर पैरोकार होने के साथ-साथ मानवीय आदर्शों को कायम रखने के लिए आत्म बलिदान करने वाले एक महान आत्मा थे। गुरु अर्जन देवजी की निर्मल प्रवृत्ति, सहृदयता, कर्तव्यनिष्ठा तथा धार्मिक एवं मानवीय मूल्यों के प्रति समर्पण भावना को देखते हुए गुरु रामदासजी ने 1581 में पांचवें गुरु के रूप में उन्हें गुरु गद्दी पर सुशोभित किया था। इस मौके पर हरपाल सिंह, हरबंश सिंह, मुख्तियार सिंह, प्रभुजाेत सिंह, हरप्रीत सिंह, बलविंदर सिंह आदि मौजूद थे। एनआईटी में जोध सिंह वालिया और मनोज खत्री ने छबील लगाई। वालिया ने कहा गुरु अर्जन देवजी सिक्खों के पांचवे गुरु थे। वह गुरु अमरदासजी के दोहते थे। उन्होंने ही गुरुओं की बाणी को एकत्र कर गुरुग्रंथ साहिब में बाणी रची। गुरु अर्जन साहिब पहले सिख गुरु थे जिन्होंने शहीदी प्राप्त की। सिख धर्म में इन्हें सिखों के सरताज के नाम से भी जाना जाता है।

फरीदाबाद. गुरू अर्जुनदेव के शहीदी दिवस पर गांधी कॉलोनी के गुरूद्वारे पर छबील लगा कर लोगो को ठंडा व मीठा जल पिलाते सिख युवक।

बीके चौक पर लगाई छबील, लोगों को शर्बत पिलाया

फरीदाबाद|श्री खांडल विप्र सभा ने भीषण गर्मी को देखते हुए रविवार को बीके चौक पर छबील लगाई। सभा के अध्यक्ष मधुसूदन माटोलिया ने अन्य सामाजिक संस्थाओं से भी आह्वान किया कि इस भीषण गर्मी में वे भी छबील लगाकर लोगों को शर्बत और पानी पिलाएं। युवा अध्यक्ष विमल खंडेलवाल के मुताबिक हमने पर्यावरण का संदेश देते हुए प्लास्टिक के ग्लास में पानी पिलाया जो दोबारा से धोकर यूज किए जा सकें।

दैनिक भास्कर पर Hindi News पढ़िए और रखिये अपने आप को अप-टू-डेट | अब पाइए News in Hindi, Breaking News सबसे पहले दैनिक भास्कर पर |

More From Faridabad

    Trending

    Live Hindi News

    0

    कुछ ख़बरें रच देती हैं इतिहास। ऐसी खबरों को सबसे पहले जानने के लिए
    Allow पर क्लिक करें।

    ×