• Home
  • Haryana News
  • Faridabad
  • मदर ग्रुप की महिलाओं ने मेहनताने की मांग को लेकर धरना दिया
--Advertisement--

मदर ग्रुप की महिलाओं ने मेहनताने की मांग को लेकर धरना दिया

एक साल के रुके हुए मेहनताने की मांग को लेकर आंगनबाड़ी में खाना बनाने वाली मदर ग्रुप की महिलाओं ने बाल विकास...

Danik Bhaskar | Jun 23, 2018, 02:05 AM IST
एक साल के रुके हुए मेहनताने की मांग को लेकर आंगनबाड़ी में खाना बनाने वाली मदर ग्रुप की महिलाओं ने बाल विकास अधिकारी के कार्यालय पर धरना दिया। इन्होंने सरकार के खिलाफ नारेबाजी भी की। इस दौरान जनवादी महिला समिति की राज्य उपाध्यक्ष उषा सरोहा ने कहा कि राज्य सरकार मदर ग्रुप की महिलाओं के साथ अनदेखी व अन्याय कर रही है। ये महिलाएं 11 साल से आंगनबाड़ी में खाना बनाने का काम कर रही हैं। इन्हें पूरा माह काम करने के बाद भी 300 रुपए मिलते हैं। वह भी एक साल से नहीं मिले हैं। मदर ग्रुप जिला की प्रधान सुदेश व उपप्रधान नजरीव ने कहा कि भाजपा सरकार ने आते ही तानाशाही रुख अपनाते हुए बजट की कमी बताकर हमारे काम के दिन घटा दिए हैं। सप्ताह में तीन दिन हेल्पर व तीन दिन मदर ग्रुप की महिलाआें से खाना बनवाया जा रहा है। इससे मदर ग्रुप की महिलाओं का मेहनताना घट गया है। उनका एक साल से रुका हुआ मेहनताना दिया जाए। पूरा सप्ताह मदर ग्रुप से काम कराया जाए। सभी महिलाओं के खाते खोलकर मेहनताना उसमें डाला जाए। अगर सरकार ने सुनवाई नहीं की तो मदर ग्रुप समिति के आह्वान पर 15 जुलाई को करनाल में महापड़ाव डाला जाएगा। इसमें फरीदाबाद से बड़ी संख्या में महिलाएं भाग लेंगी।

फरीदाबाद. आंगनबाड़ी में खाना बनाने वाली मदरग्रुप की महिलाएं बालविकास अधिकारी(पीओ) के कार्यालय पर प्रदर्शन करते हुए।