• Home
  • Haryana News
  • Faridabad
  • 12 घंटे हवालात के बाद भी नहीं मिल रही बिजली, गर्मी से बुरा हाल, बुजुर्ग व बच्चे हो रहे बीमार
--Advertisement--

12 घंटे हवालात के बाद भी नहीं मिल रही बिजली, गर्मी से बुरा हाल, बुजुर्ग व बच्चे हो रहे बीमार

12 घंटे तक हवालात की हवा खाने के बाद भी ग्रीनफील्ड काॅलोनी के लोगों को बिजली की समस्या से मुक्ति नहीं मिल पाई।...

Danik Bhaskar | Jun 25, 2018, 02:05 AM IST
12 घंटे तक हवालात की हवा खाने के बाद भी ग्रीनफील्ड काॅलोनी के लोगों को बिजली की समस्या से मुक्ति नहीं मिल पाई। शनिवार रातभर बिजली की लुकाछिपी चलती रही। हर 5-5 मिनट में बिजली आ जा रही थी। लोगों की न तो नींद पूरी हुई और न ही पानी मिला। सबसे अधिक परेशानी बुजुर्गों और बच्चों को हुई। मजबूरी में लोगों को अपने बच्चों को कार में बैठा एसी चलाकर दिन काटना पड़ा।

कॉलोनी में पहुंची भास्कर टीम

दैनिक भास्कर टीम रविवार को जब कॉलोनी में बिजली की हकीकत जानने पहुंची तो लोग काफी डरे हुए थे। क्योंकि एक दिन पहले ही विधायक को बिजली की समस्या बताने गए 18 लोगों को गिरफ्तार कर हवालात पहुंचा दिया गया था। ऐसे में शनिवार को समस्या के बारे में बोलने से बचते रहे। बड़ी मुश्किल से लोगों ने समस्या को सामने रखा। उनका कहना था कि कॉलोनी के लोग राजनीति में नहीं पड़ना चाहते। जब वह पैसे खर्च कर रहे हैं तो उन्हें सुविधा मिलनी चाहिए। हालात इतने खराब हैं कि 43 डिग्री सेल्सियस के इस तापमान में बिजली न होने से बुजुर्ग और बच्चे बीमार हो रहे हैं।

18 लोगों को सुबह मिली जमानत

शुक्रवार की रात चार दिन से बिजली की समस्या से परेशान होकर कॉलोनी के लोग विधायक सीमा त्रिखा के आवास सेक्टर-21बी पहुंच गए थे। लोगों ने अपने वाहन खड़ी कर हार्न बजाकर विधायक से मिलना चाहा। कुछ देर बाद ही एनआईटी पुलिस पहुंच गई और 18 लोगों काे जबरन गाड़ी से निकालकर पीसीआर में डालकर हवालात भेज दिया। शनिवार अल सुबह 3 बजे से दोपहर बाद चार बजे तक लोग हवालात में बगैर पंखे और नंगे बदन बैठे रहे।

फरीदाबाद. ग्रीन फील्ड कालोनी में लोग गर्मी से बचने के लिए पेपर से हवा करके अपने परिवार को राहत देते हुए।

इसलिए गंभीर हो गई समस्या

ग्रीन फील्ड कॉलाेनी में बिजली सप्लाई सेक्टर 46 सब स्टेशन से कंपनी के सबस्टेशन पर आती है। यहां से कॉलोनी में सप्लाई बहाल की जाती है। लोगों ने बताया कि कंपनी ने कॉलोनी बसाने के बाद कभी मेंटीनेंस पर ध्यान नहीं दिया। तार जर्जर हो चुके हैं। घरों की संख्या बढ़ने से लोड भी बढ़ता गया। कनेक्शन बढ़ रहे हैं। लोड बढ़ने से बिजली का सिस्टम बार-बार जवाब दे रहा है। तार ब्रेक हो जाती हैं। इससे बिजली कटौती की समस्या बनी हुई है। हैरानी की बात यह है कि कंपनी के अधिकारी कॉलोनी की देखभाल करने की बात करते हैं, लेकिन बिजली सप्लाई में पैदा हो रही समस्या के लिए बिजली विभाग पर ठीकरा फोड़ रहे हैं।

फरीदाबाद. बिजली न होने पर शिकायत लेकर ग्रीन फील्ड के पावर पर पहुंचे लोग।


बच्चों काे लेकर कार में बैठे रहे लोग

रविवार सुबह बिजली गायब होने पर काॅलोनी के लोग कार में एसी चलाकर बच्चों को लेकर बैठने के लिए मजबूर हुए। छोटे बच्चों का गर्मी से बुरा हाल हो रहा था। घरों में एक मिनट भी बैठना संभव नहीं हो रहा थ। काॅलोनी में कई ऐसे परिजन मिले जो बच्चों को लेकर बिजली न आने तक कार में ही बैठे रहे। प्रॉपर बिजली न आने अौर वोल्टेज कम होने से लोगों का इनवर्टर चार्ज नहीं हो पा रहे हैं।

लोगों ने कहा, नहीं हो रही सुनवाई



हवालात में जाने के बाद भी नहीं मिली बिजली

जिस बिजली समस्या के चक्कर में कॉलोनी के 18 रेजीडेंट्स को 12 घंटे तक हवालात में गुजारनी पड़ी। इसके बाद भी उनकी समस्या का समाधान नहीं हुआ। पूरी रात बिजली नहीं रही। दिन में सप्लाई का बुरा हाल रहा। लोगों के मुताबिक 5-5 मिनट बाद बिजली आती जाती रही। यहीं नहीं रविवार सुबह छह बजते ही बिजली फिर चली गई जो दोपहर 12.30 जाकर बहाल हो पाई। ऐसे में पूरी कॉलोनी परेशान रही। कई घरों में गर्मी से बचने के लिए अखबारों से हवा करते नजर आए।