• Home
  • Haryana News
  • Faridabad
  • भाजपा की किरकिरी होने के बाद भी नहीं मिल रही बिजली
--Advertisement--

भाजपा की किरकिरी होने के बाद भी नहीं मिल रही बिजली

ग्रीनफील्ड कॉलोनी के 18 लोग बिजली के लिए हवालात हो आए। हवालात में पहुंचाने वाले एसएचओ की कुर्सी चली गई, भाजपा की...

Danik Bhaskar | Jun 29, 2018, 02:05 AM IST
ग्रीनफील्ड कॉलोनी के 18 लोग बिजली के लिए हवालात हो आए। हवालात में पहुंचाने वाले एसएचओ की कुर्सी चली गई, भाजपा की पूरे शहर में किरकिरी हो रही। इसके बाद भी कॉलोनी में बिजली सुधार नहीं हुआ। बुधवार को कॉलोनी में पूरी रात लाइट नहीं रही। सुबह दो घंटे के लिए आई। इसके बाद सुबह छह बजे ही फिर चली गई। इसके बाद दोपहर 11.30 बजे के बाद आई। इससे कॉलोनी के लोगों को सुबह पानी तक नसीब नहीं हुआ। सबसे अधिक परेशानी बच्चों और बुजुर्गों को हुई। पुलिस की ज्यादती के डर से अब कॉलोनीवासी जनप्रतिनिधियों से बात करने से भी डरने लगे हैं।

शुक्रवार को ग्रीनफील्ड कॉलोनी के लोगों ने चार दिन से बिजली समस्या से परेशान होकर रात ढाई बजे बड़खल विधायक सीमा त्रिखा के आवास पर गए थे। कॉलोनी के लोगों को उस रात बिजली तो नहीं मिली, लेकिन हवालात की हवा जरूर मिल गई। अारोप है कॉलोनी के लोगों ने विधायक के घर पर हंगामा किया था और गाड़ियों का हॉर्न बजाकर शांति व्यवस्था भंग की थी। बिजली मांगने के बदले हवालात पहुंचाए गए कॉलोनीवासियों के समर्थन में कई विपक्षी दलों के नेता आ आए। पुलिस के इस रवैए की कड़े शब्दों में निंदा की।

बिजली के कारण पानी का भी गहराया संकट

बिजली न होने से पानी का संकट भी गहरा गया। बुधवार को जो पानी टंकी में था उसी से काम चलाना पड़ा। सुबह लाइट न होने से पानी सप्लाई नहीं हुआ। इसके अलावा एनएचपीसी अंडरपास में पानी जमा होने से लोगों को हाईवे आने-जाने में भी परेशानी हुई।

बिजली व्यवस्था में काेई सुधार नहीं

कॉलोनी के ए ब्लॉक निवासी आनंद कक्कड़, सुमन देवी, विजय माथुर, रघुवीर शर्मा आदि के अनुसार बुधवार रात करीब 11 बजे से सुबह पांच बजे तक बिजली गायब रही। सुबह एक घंटे के लिए आई और 6 बजे फिर चली गई। कॉलोनी के लोगों का कहना है कि उन्होंने पूरी रात गर्मी में काटी। इनवर्टर से काम चलाया, लेकिन सुबह होते ही वह भी जवाब दे गया। उनका कहना है कि गर्मी के कारण बच्चे व बुजुर्ग बेहाल रहे। अखबार से हवा कर किसी तरह रात काटी। कई परिवार कार का एसी चलाकर उसमें बैठकर रात काटी।