--Advertisement--

पत्नी पीड़ित संस्था और एक खरीद फरोख्त?

दो खबरें इस तरह आई हैं कि किसी शहर में एक पति ने अपनी प|ी को बेचा और बकायदा लिखा-पढ़ी की गई। दूसरी खबर है कि प|ी पीड़ित...

Danik Bhaskar | Jun 29, 2018, 02:05 AM IST
दो खबरें इस तरह आई हैं कि किसी शहर में एक पति ने अपनी प|ी को बेचा और बकायदा लिखा-पढ़ी की गई। दूसरी खबर है कि प|ी पीड़ित पतियों ने एक जुलूस निकाला और अपने दुखों के परचे भी बांटे। अंग्रेजी उपन्यासकार थॉमस हार्डी ने उपन्यास लिखा ‘मेयर ऑफ केस्टरब्रिज’ जिस पर अंग्रेजी भाषा में फिल्म बनी और यशराज चोपड़ा ने भी इसी उपन्यास से प्रेरित फिल्म ‘दाग’ बनाई थी। उपन्यास में प|ी बेचने वाला व्यक्ति कालांतर में शहर का मेयर बन जाता है और विवाह भी कर लेता है। उसके द्वारा बेची गई प|ी वर्षों बाद उसके सामने आती है। ‘दाग’ में राजेश खन्ना, शर्मिला टैगोर और राखी ने अभिनय किया था। बरसों पहले एक वरिष्ठ पत्रकार ने जनजातियों की एक कन्या को प्रेस कॉन्फ्रेंस में प्रस्तुत किया। भारी हंगामा हुआ और स्त्रियों के खरीद-फरोख्त पर घड़ियाली आंसू भी बहाए गए।

फिल्मकार जगमोहन मूंदड़ा ने इस विषय पर ‘कमला’ नामक फिल्म भी बनाई थी, जिसके एक दृश्य में जनजाति की कन्या पत्रकार की प|ी से पूछती है कि उसे कितने में खरीदा गया। उसे लगा कि महिलाओं की खरीद-फरोख्त सामान्य बात है। कमला की भूमिका दीप्ति नवल ने की थी। कालांतर में दीप्ति नवल का विवाह फिल्मकार प्रकाश झा से हुआ परंतु कुछ वर्ष बाद तलाक भी हो गया। याद आता है कि इंदौर के कैंसर अस्पताल के डॉक्टर मधुसुदन द्विवेदी ने भी प|ी पीड़ित लोगों को संगठित किया था। यह सब उन्होंने हास्य के लहजे में किया था। उनके ठहाकों से दीवारें हिल जाती थीं, रेसीडेंसी क्लब की जर्जर दीवारों का प्लास्टर गिर जाता था।

अंग्रेजी भाषा में बनी फिल्म ‘इंडिसेन्ट प्रपोजल’ में एक व्यक्ति कैसीनो में अपना संचित धन हार जाता है। जीतने वाला अभद्र प्रस्ताव रखता है कि अगर उसकी प|ी एक सप्ताहान्त उसके साथ गुजारे तो वह जीती हुई रकम लौटा सकता है। नैराश्य में डूबा पति इस सौदे को स्वीकार करता है परंतु थोड़ी ही देर में वह इस सौदे को तोड़ने के लिए दौड़ता है पर तब तक हेलिकॉप्टर उड़ जाता है। जीतने वाला व्यक्ति यह जान जाता है कि पति-प|ी के बीच गहरा प्रेम है किंतु आर्थिक मंदी से जूझते हुए वह कैसीनो में आया था कि संभवत: कुछ राशि जीत ले। उसने उन दो दिनों में हारे हुए की प|ी को स्पर्श भी नहीं किया परंतु प|ी के लौटने के बाद पति ने उससे दूरी बना ली। पुरुषों की इस बीमार सोच को ‘संगम’ के एक संवाद में यूं अभिव्यक्त किया गया है कि पति कहता है कि वह अब अपनी प|ी को स्पर्श करते समय जुगुप्सा से भर जाता है कि इस शरीर को किसी और ने पहले स्पर्श किया है। कितना जलील विचार है कि क्या प|ी कोई बरतन है, जो अब झूठा हो चुका है।

दरअसल, इस तरह की संकीर्णता की गंगोत्री तो हम ‘महाभारत’ में देख चुके हैं जब धर्मराज युधिष्ठिर ने द्रौपदी को दांव पर लगाया, जो पांचों भाइयों की साझा प|ी थी। उन्हें द्रौपदी को दांव पर लगाने से पूर्व द्रौपदी से आज्ञा लेनी चाहिए थी। गंधारी की आज्ञा से द्रौपदी लौटाई गई परंतु युधिष्ठिर पुन: उसे हार गए। बहरहाल, प|ी पीड़ित पुरुषों का जुलूस भी हास्य भावना से लिया जा रहा है। फिल्म ‘का और की’ में भूमिकाओं का फेरबदल प्रस्तुत किया गया है। फिल्म में पति खाना पकाता है, घर के सारे काम करता है और प|ी दफ्तर में काम करके घर खर्च अर्जित करती है। प्राय: प्रेम विवाह में यह अनुभव हुआ है कि विवाह के बाद प|ी को प्रेयसी की तरह नहीं देखते हुए, यह मान लिया जाता है कि वह घर के सब कामों में अपने को झोंक देगी। प|ी से प्रेयसी-सा व्यवहार शादी के बाद भी किया जाना चाहिए। विवाह के पूर्व प्रेम-पत्र लिखने में तल्लीन पुरुष विवाह के बाद अपनी प|ी को प्रेम-पत्र क्यों नहीं लिखते? नित नए प्रयोग से रिश्ते प्राणवान बने रहते हैं।

महानगर में भीड़ भरे लोकल ट्रेन के डिब्बे में धक्के खाती हुई प|ी को घर लौटकर भोजन बनाना होता है, बच्चों को पढ़ाना होता है। थकान से चूर, लोकल ट्रेन में धक्के खाने वाली स्त्री घर लौटती है। पति भी सारा दिन त्रास भोगकर ही आया है। दोनों की बदहाली यह है कि वे अपने पहने जूतों से भी पहले घिसकर फट चुके होते हैं।

इस मामले का साधारणीकरण करके कोई फॉर्मूला नहीं खोजा जा सकता परंतु धर्मवीर भारती की ‘कनुप्रिया’ और पवन करण के संग्रह ‘स्त्री शतक’ को बार-बार पढ़ना कुछ सहायता कर सकता है।

जयप्रकाश चौकसे

jpchoukse@dbcorp.in

‘भारत’ में प्रियंका भी पांच अलग अलग लुक में आएंगी नजर

 इससे पहले प्रियंका ने 2009 में रिलीज हुई आशुतोष गोवारीकर की फिल्म ‘व्हॉट्स योर राशि’ में 12 अलग-अलग किरदार निभाए थे। इसके अलावा वे 2009 में आई ‘लव स्टोरी 2050’ और 2012 में रिलीज हुई ‘तेरी मेरी कहानी’ में भी कई किरदारों में नजर आई थीं।

 ‘मैट्रिक्स’ से इंस्पायर्ड होगा ‘कृष 4’ का प्लॉट

Áइन दिनों ऋतिक रोशन की सक्सेसफुल फ्रेंचाइजी ‘कृष’ के चौथे पार्ट की स्क्रिप्ट पर काम चल रहा है। एक रिपोर्ट के मुताबिक ‘कृष 4’ की कहानी काफी हद तक हॉलीवुड फिल्म ‘मैट्रिक्स’ से इंस्पायर्ड होगी। फिल्म के राइटर्स कई संभावित कहानियों पर काम कर रहे हैं जिनमें से एक कहानी हॉलीवुड फिल्म ‘मैट्रिक्स’ से भी मिलती-जुलती है। इसमें आपको कृष एलियन से लड़ते हुए दिखाई दे सकते हैं। अगर इस कॉन्सेप्ट पर फिल्म बनाई जाती है तो इसमें वीएफएक्स से भरपूर एक्शन सीन देखने को मिलेंगे। निर्माता-निर्देशक राकेश रोशन किसी इंटरनेशनल एक्शन डायरेक्टर को भी फिल्म का हिस्सा बनाना चाहते हैं ताकि में हॉलीवुड स्टैंडर्ड का एक्शन दिखा सकें।

not only salman...

प्रियंका चोपड़ा जल्द ही अली अब्बास जफर की अपकमिंग फिल्म ‘भारत’ में सलमान खान के अपोजिट दिखाई देने वाली हैं। फिल्म की कहानी की डिमांड के मुताबिक ना सिर्फ सलमान बल्कि प्रियंका भी इसमें पांच अलग-अलग लुक में नजर आएंगी।

प्रि यंका चोपड़ा बॉलीवुड में आखिरी बार दो साल पहले रिलीज हुई प्रकाश झा की फिल्म ‘जय गंगाजल’ में नजर आई थीं। इसके बाद वे अपने इंटरनेशनल प्रोजेक्ट्स में व्यस्त हो गई थीं। अब वे जल्द ही अपनी अपकमिंग फिल्म ‘भारत’ की शूटिंग शुरू करने वाली हैं। अली अब्बास जफर के निर्देशन में बनने जा रही इस फिल्म में उनके अपोजिट सलमान खान होंगे। यह फिल्म कोरियन फिल्म ‘एन ओड टू माय फादर’ का हिंदी एडॉप्टेशन है। फिल्म में 1947 से लेकर अब तक के भारत की कहानी दिखाई जाएगी। इसमें प्रियंका और सलमान के किरदारों की बढ़ती उम्र भी दिखाई जाएगी।

दिखेगा 28 से 60 साल तक की उम्र का सफर...

डायरेक्टर अली अब्बास जफर ने बताया है कि इस फिल्म में सलमान की ही तरह प्रियंका भी 5 अलग-अलग लुक में नजर आएंगी। फिल्म में उनका 28 से 60 साल तक की उम्र तक का सफर दिखाया जाएगा जबकि सलमान खान 25 से 65 साल की उम्र तक नजर आएंगे। सलमान की उम्र कम करने के लिए फिल्म में एज रिडक्शन टेक्नीक का इस्तेमाल किया जाएगा। इससे पहले इस टेक्नीक का इस्तेमाल 2008 में रिलीज हुई ब्रैड पिट की फिल्म ‘द क्यूरियस केस आॅफ बेंजामिन बटन’ में किया गया था। वहीं प्रियंका की उम्र मेकअप और वीएफएक्स के जरिए ही घटाई और बढ़ाई जाएगी।

रिसर्च वर्क जारी है...

इस फिल्म को लेकर अली अब्बास जफर की टीम ने हर दौर की रिसर्च की है। फिल्म में प्रियंका के किरदार को जीनत अमान, परवीन बॉबी, शर्मिला टैगोर और शबाना आजमी जैसी अभिनेत्रियों की तरह स्क्रीन पर पेश किया जाएगा। लोकेशन्स फाइनल करने के लिए भी टीम ने काफी मेहनत की है। ‘भारत’ की शूटिंग अगले महीने शुरू होने वाली है। सलमान और प्रियंका के अलावा दिशा पाटनी भी इस फिल्म का अहम हिस्सा हैं।

फरीदाबाद, शुक्रवार 29 जून, 2018 |

Teaser ut

Áअनिल कपूर, सोनम कपूर, राजकुमार राव और जूही चावला स्टारर फिल्म ‘एक लड़की को देखा तो ऐसा लगा’ का टीजर गुरुवार को रिलीज किया गया। टीजर की शुरुआत 1994 में रिलीज हुई फिल्म ‘1942 अ लव स्टोरी’ के हिट सॉन्ग ‘एक लड़की को देखा तो ऐसा लगा...’ से होती है, जिसमें सोनम कपूर का एक डायलॉग आता है। वे कहती हैं, ‘ट्रू लव के रास्ते में कोई ना कोई सियापा होता ही होता है अगर ना हो तो लव स्टोरी से फील कैसे आएगा। टीजर में बताया गया है कि ‘कुछ लव स्टोरीज सिंपल होती हैं और कुछ सिर्फ सियापा’। इस रोमांटिक-कॉमेडी फिल्म को डायरेक्टर-प्रोड्यूसर विधु विनोद चोपड़ा की बहन शैली चोपड़ा धर ने डायरेक्ट किया है। फिल्म 12 अक्टूबर को रिलीज होगी।

from the sets of

Áअनुपम खेर ने अपनी अपकमिंग फिल्म ‘द एक्सीडेंटल प्राइम मिनिस्टर’ के सेट सेे एक और तस्वीर शेयर की है। इसमें उन्होंने कांग्रेस अध्यक्ष राहुल गांधी और उनकी बहन प्रियंका गांधी का किरदार निभाने वाले कलाकारों का लुक शेयर किया है। फिल्म में राहुल का किरदार अर्जुन माथुर और प्रियंका का किरदार अहाना कुमरा निभा रही हैं। इससे पहले अनुपम ने फिल्म में पूर्व प्रधानमंत्री अटल बिहारी बाजपेयी का किरदार निभा रहे कलाकार राम अवतार भारद्वाज का लुक शेयर किया था।

03