--Advertisement--

गॉडफादर और ‘भीड़’ संचालित व्यवस्था

आए दिन खबरें आती हैं कि भीड़ ने न्याय अपने हाथ में ले लिया और मात्र संदेह के आधार पर कुछ लोगों को पीट दिया।...

Danik Bhaskar | Jul 04, 2018, 02:05 AM IST
आए दिन खबरें आती हैं कि भीड़ ने न्याय अपने हाथ में ले लिया और मात्र संदेह के आधार पर कुछ लोगों को पीट दिया। दुष्कर्मियों की भीड़ द्वारा हत्या की जाती हैं और आभास होता है कि मानो सड़कों को न्यायालय की तरह इस्तेमाल किया जा रहा है। भंग होती व्यवस्था की दरारों में दीमक ने अपना घर बना लिया है। देश के भीतर की टूटती हुई व्यवस्था की ही परछाई हमारी विदेश नीति बन गई है कि हमारे तमाम पड़ोसी हमारे विरुद्ध चले गए हैं और चीन की गोद में बैठते जा रहे हैं। अमेरिका में संगठित अपराध को ‘मॉब’ अर्थात ‘भीड़’ कहा जाता है और हमारे यहां भी ‘भीड़’ ने ही सड़क पर फैसले करना आरंभ कर दिया है गोयाकि सर्वत्र ‘भीड़’ का ही राज चल रहा है।

मारियो पुजो का उपन्यास ‘गॉडफादर’ 1969 में प्रकाशित हुआ था, जब भारत में तत्कालीन प्रधानमंत्री इंदिरा गांधी ने बैंकों का राष्ट्रीयकरण किया और भूतपूर्व राजा-महाराजाओं के सारे विशेषाधिकार छीनकर खास को आम बना दिया। मारिया पुजो जुए में भारी धन खो चुके थे और उन्होंने ‘गॉडफादर’ लिखकर रॉयल्टी से प्राप्त धन से कर्ज चुका दिया। फ्योदोर दोस्तोवस्की ने भी जुए का कर्ज ‘क्राइम एंड पनिशमेंट’ लिखकर चुकाया। एक तरह से मारिया पुजो का ‘गॉडफादर’ पूंजीवादी देश की ‘महाभारत’ जैसा माना जा सकता है। संगठित अपराध के सरगना के पास लोग स्वयं के लिए न्याय मांगने जाते थे। उपन्यास के प्रारंभ में ही स्पष्ट किया गया है कि दोषी लोग प्रमाण के अभाव में न्यायालय से निर्दोष करार दिए जाते हैं परंतु पीड़ित व्यक्ति संगठित अपराध के सरगना के पास जाकर न्याय मांगते हैं और जो न्याय उन्हें अदालत से नहीं मिला, वह न्याय ‘गॉडफादर’ उन्हें दिलाते हैं।

‘गॉडफादर’ में संगठित अपराध को ‘मॉब’ कहा गया है और वर्तमान भारत में भीड़ भी वही काम कर रही है। ‘गॉडफादर’ में ‘मॉब’ दुष्कर्मियों को दंडित करता है। श्रीदेवी अभिनीत ‘मॉम’ में एक मां अपनी सौतेली पुत्री के दुष्कर्मियों को दंडित करती है, इस तरह ‘गॉडफादर’ हमारी फिल्म में ‘गॉडमदर’ बन जाती है। गौरतलब यह है कि मारिया पुजो के उपन्यास के पहले अध्याय में डॉन कॉर्लियान को यह बात पसंद नहीं थी कि उनसे न्याय मांगने आया व्यक्ति उनका सबसे पुराना मित्र है, फिर भी उसने अपनी पुत्री की गॉडमदर का सम्मान स्वयं डॉन की प|ी को दिया। ज्ञातव्य है कि विनय शुक्ला ने शबाना आज़मी अभिनीत ‘गॉडमदर’ फिल्म भी इसी विषय पर बनाई थी।

बहरहाल, ‘गॉडफादर’ से प्रेरित फिल्में सभी देशों में बनाई गई हैं। ‘गॉडफादर’ से दशकों पूर्व ‘स्कारफेस’ पहली बार चौथे दशक में बनी थी। यही फिल्म हॉलीवुड ने अल पचीनो के साथ आठवें दशक में दोबारा बनाई थी। ‘स्कारफेस’ से प्रेरित अमिताभ बच्चन अभिनीत ‘अग्निपथ’ बनी, जिसे दोबारा बनाया गया रितिक रोशन के साथ। ‘गॉडफादर’ से प्रेरित पहली हिन्दुस्तानी फिल्म फिरोज खान की धर्मात्मा थी, जिसमें डॉन कॉर्लियान की भूमिका प्रेमनाथ ने अभिनीत की थी। दक्षिण भारत में कमल हासन अभिनीत फिल्म ‘गॉडफादर’ से प्रेरित थी और अजीब बात यह है कि फिरोज खान ने कमल हासन अभिनीत फिल्म को ही ‘दयावान’ के नाम से बनाया। यह भी ‘गॉडफादर’ ही थी।

गौरतलब है कि संगठित अपराध से प्रेरित सारी फिल्मों के नाम धर्म और दया से जुड़े हुए हैं। रॉबिनहुड की तरह तमाम संगठित अपराध सरगना लूटी हुई रकम का बड़ा हिस्सा दान-धर्म में खर्च करते थे जो दरअसल उनकी अपनी सुरक्षा प्रणाली का हिस्सा थी। दान ग्रहण करने वाले अनुग्रही व्यक्ति पुलिस की दौड़-भाग की अग्रिम सूचना संगठित अपराध को देते रहे हैं। इस तरह अपराधियों द्वारा तथाकथित ‘दान’ उनकी अपनी सुरक्षा करता है। दरअसल, साधनहीन व्यक्ति के अधिकारों को छीनकर ‘दया’ का स्वांग रचा जाता है और डॉन की भी कार्यप्रणाली यही होती है ‘तेरा तुझको अर्पण, क्या लागे मोरा’। दीवार पर रेंगती हुई छिपकली को मारने के इरादे से एक व्यक्ति हाथ में डंडा लेकर उस ओर बढ़ता है तो छिपकली अपनी दुम गिरा देती है जो फर्श पर फड़फड़ाती है। मारने वाले का ध्यान दुम पर जाता है और छिपकली भाग जाती है। संगठित अपराध सरगना की ‘दया’ भी कुछ इसी तरह की चतुराई है।

यह भी गौरतलब है कि अमेरिका का माफिया उन लोगों द्वारा संचालित रहा है, जो यूरोप के सिसली नामक हिस्से से आकर अमेरिका में बसे थे। हमारा चंबल क्षेत्र और सिसली की भौगोलिक परिस्थितियां लगभग समान हैं, जमीन में भी समानता है। सच तो यह है कि कोई क्षेत्र या धरती का कोई हिस्सा अपराधियों को जन्म नहीं देता वरन् अपराध तो अन्याय और असमानता की कोख से जन्म लेते हैं। हमारी लचर व्यवस्था के कमजोर एवं छिद्रमय होने के कारण ही हुड़दंग और अपराध बढ़ रहे हैं। भय के कारण व्यक्ति उसी नेता को चुनता है जो बाद में उन्हें शोषित करता है। अवाम मेसोचिस्ट दिखाई देता है। मेसोचिस्ट वह व्यक्ति है जो अपने दर्द को प्रेम करने लगता है।

जयप्रकाश चौकसे

jpchoukse@dbcorp.in

Karishma Tanna

Heard This?

कबीर खान की फिल्म में स्पोर्ट्स कोच बन सकते हैं नवाजुद्दीन

Áडायरेक्टर कबीर खान 1983 में हुए क्रिकेट वर्ल्ड कप में भारतीय क्रिकेट टीम को मिली जीत पर फिल्म बना रहे हैं। सुनने में आया है कि कबीर इन दिनों फिल्म की कास्टिंग कर रहे हैं। उन्होंने इस फिल्म में नवाजुद्दीन सिद्दीकी को भारतीय टीम के कोच की भूमिका िनभाने के लिए अप्रोच किया है। नवाज और कबीर इससे पहले ‘बजरंगी भाईजान’ में साथ काम कर चुके हैं। बहरहाल, कबीर की इस फिल्म में रणवीर सिंह मुख्य भूमिका में होंगे। इसकी शूटिंग इसी साल अंत तक शुरू होगी और इसे अगस्त 2019 तक रिलीज किया जाएगा।

Party time...

‘संजू’ ने बॉक्स ऑफिस पर अच्छी कमाई की है, इसे लेकर टीम ने एक सक्सेस पार्टी होस्ट की। इस पार्टी में रणबीर कपूर, मनीषा कोइराला, दीया मिर्जा, राजकुमार हिरानी, अरशद वारसी, परेश रावल और करिश्मा तन्ना शामिल हुए।

Paresh Rawal

Ranbir Kapoor

once

again

Áसैफ अली खान ने पांच साल पहले रिलीज हुई जॉम्बी कॉमेडी फिल्म ‘गो गोवा गाॅन’ में रशियन माफिया बोरिस का किरदार निभाया था। अब वे इस फिल्म के सेकंड पार्ट में भी बोरिस का किरदार निभाएंगे। राज और कृष्णा डीके के निर्देशन में बनी इस फिल्म मेंे कुणाल खेमू, वीर दास, अानंद तिवारी और पूजा गुप्ता भी थे। फिल्म के सेकंड पार्ट के बारे में सैफ ने बताया, ‘राज और डीके इस फिल्म के सेकंड पार्ट में कुछ नया लेकर आना चाहते हैं। दोनों यूनीक सेंस ऑफ ह्यूमर वाले व्यक्ति हैं। मुझे उनका सेंस ऑफ ह्यूमर पसंद है। पिछली फिल्म की तरह यह फिल्म भी कुछ हट कर होगी। अभी इसकी स्क्रिप्ट पर काम चल रहा है।’

इस साल सितंबर में रिलीज होगी सुशांत-जैकलीन स्टारर ‘ड्राइव’

 इंडस्ट्री में यह भी चर्चा है कि सुशांत को ‘आंखें’ का सीक्वल भी ऑफर हुई है। इसमें उनके अलावा कार्तिक आर्यन और अमिताभ बच्चन होंगे।

बोनी की फिल्म में अजय को डायरेक्ट करेंगे अमित शर्मा

Arshad Warsi

Rajkumar Hirani

Dia Mirza

‘गो गोआ गॉन 2’ में बोरिस के किरदार में ही दिखाई देंगे सैफ

Buzzz is...

Áइंडस्ट्री में चर्चा है कि बोनी कपूर 16 साल बाद अजय देवगन के साथ एक फिल्म बनाना चाहते हैं। इन दिनों वे इस फिल्म के लिए डायरेक्टर की तलाश कर रहे हैं। यह एक बायोपिक होगी जो अगले साल फ्लोर पर आएगी। कुछ रिपोर्ट्स के मुताबिक इस फिल्म को एड फिल्म मेकर अमित शर्मा डायरेक्ट कर सकते हैं। अमित इससे पहले बोनी कपूर की फिल्म ‘तेवर’ डायरेक्ट कर चुके हैं, यह उनकी डायरेक्टोरियल डेब्यू फिल्म थी। हाल ही में उन्होंने आयुष्मान खुराना और सान्या मल्होत्रा को लेकर ‘बधाई हो’ डायरेक्ट की है। यह फिल्म 19 अक्टूबर को रिलीज होगी। बात अजय की करें तो वे किसी और प्रोजेक्ट को लेने से पहले अपनी अपकमिंग फिल्म ‘टोटल धमाल’ की शूटिंग पूरी करना चाहते हैं। इसके बाद वे अपने ड्रीम प्राेजेक्ट ‘तानाजी’ में जुटेंगे। इसी के बाद यह फिल्म शुरू होगी।

an Action Drama

Manisha Koirala

लंबे समय से अटकी सुशांत सिंह राजपूत की फिल्म ‘ड्राइव’ को मेकर्स ने इस साल सितंबर में रिलीज करने का मन बनाया है। इस फिल्म के अलावा सुशांत की फिल्म ‘चंदा मामा दूर के’ की शूटिंग भी जल्द ही शुरू होने वाली है।

अमित कर्ण | मुंबई

पि छले साल रिलीज हुई सुशांत सिंह राजपूत और कृति सेनन स्टारर ‘राब्ता’ की बॉक्स ऑफिस रिपोर्ट देखते हुए ट्रेड पंडित सुशांत के कॅरिअर का मर्सिया पढ़ने लगे थे। इस दाैरान वे दो फिल्में कर रहे थे। एक करण जौहर के बैनर तले बनी ‘ड्राइव’ और दूसरी संजय पूरण सिंह चौहान की ‘चंदा मामा दूर के’। उस वक्त कहा गया कि सुशांत की यह दोनों फिल्में शेल्व हो गई हैं। पर अब जल्द ही इन दोनों ही फिल्मों पर काम शुरू होने जा रहा है।

मंगलवार को करण जौहर ने अपनी कंपनी का लॉयल्टी कार्ड जारी किया। इस कार्ड में उन्होंने ‘ड्राइव’ की रिलीज डेट कन्फर्म की है। कार्ड में इस फिल्म की रिलीज डेट सात सितंबर लिखी हुई है। सुशांत इस फिल्म में स्ट्रीट रेसर के रोल में हैं जो गली-मोहल्ले में बाइक स्टंट करता है। वहीं जैकलीन भी स्ट्रीट रेसर के किरदार में हैं। फिल्म की शूटिंग फरवरी में पूरी हो गई थी। फिलहाल इसका पोस्ट प्रोडक्शन वर्क चल रहा है। धर्मा प्रोडक्शंस से जुड़े लोगों ने बताया कि चूंकि बीच में सभी ‘धड़क’ और ‘सिंबा’ में व्यस्त हो गए। ऐसे में ड्राइव की रिलीज डेट तय नहीं हो पा रही थी।

Rumor Has It...

‘दस का दम 3’ के फाइनल एपिसोड में गेस्ट होंगे शाहरुख

Áबीते कुछ वक्त से सलमान खान अौर शाहरुख खान एक दूसरे का सपोर्ट करते आ रहे हैं। पहले शाहरुख सलमान के शो ‘बिग बॉस’ के सेट पर अपनी फिल्म ‘दिलवाले’ और ‘रईस’ प्रमोट करने पहुंचे थे। अब सलमान शाहरुख की अपकमिंग फिल्म ‘जीरो’ के एक स्पेशल सॉन्ग में नजर आएंगे। दोनों इससे पहले भी एक बार फैंस के लिए साथ नजर आने वाले हैं। दोनों ‘दस का दम’ के फाइनल एपिसोड में साथ दिखाई देंगे। शो पर शाहरुख बतौर स्पेशल गेस्ट शामिल होंगे। इस एपिसोड की शूटिंग डेट अभी तय नहीं की गई है। शाहरुख इन दिनों स्पेन में फैमिली के साथ वेकेशन एंजॉय कर रहे हैं।

Casual get-together

सोमवार को सचिन तेंदुलकर प|ी अंजलि तेंदुलकर के साथ आमिर खान से मिलने उनके घर पहुंचे, आमिर ने गेट टुगेदर रखा था।



वहीं सुशांत की एक अन्य फिल्म ‘चंदा मामा दूर के’ से जुड़े लोगों ने बताया कि यह फिल्म शेल्व नहीं हुई है। इस फिल्म की शूटिंग सुशांत अपनी बाकी फिल्मों की शूटिंग पूरी करके शुरू करेंगे। सुशांत जल्द ही नितेश तिवारी की फिल्म में भी दिखाई देंगे। इसमें वे इंजीनियरिंग स्टूडेंट के रोल में हैं। वहीं वे जल्द ही कास्टिंग डायरेक्टर मुकेश छाबड़ा की फिल्म ‘फॉल्ट इन अवर स्टार्स’ की शूटिंग भी शुरू करने वाले हैं।

सैफ ने आगे बताया...

 मेरे साथ-साथ फिल्म की बाकी कास्ट भी नहीं बदली जाएगी। इस फिल्म में कुणाल खेमू और वीर दास भी होंगे। फिल्म के सीक्वल में स्ट्रॉन्ग फीमेल लीड एक्टर को कास्ट किया जाएगा। इसमें दो एक्ट्रेस भी हाे सकती हैं। फिल्म की फाइनल कास्टिंग इस महीने में पूरी हो जाएगी। 

 2013 में रिलीज हुई ‘गो गोवा गॉन’ बॉलीवुड की पहली जॉम्बी कॉमेडी फिल्म थी।

करण सिंह ग्रोवर प|ी बिपाशा बसु के साथ मुंबई एयरपोर्ट पर नजर आए। दाेनों फैमिली के साथ बिपाशा के पिता हीरक बसु का बर्थडे सेलिब्रेट करने के लिए लंदन गए थे।

फरीदाबाद, बुधवार 04 जुलाई, 2018 |

Spotted

जॉन अब्राहम मुंबई एयरपोर्ट पर मिलिट्री ग्रीन जैकेट और डेनिम में स्पॉट हुए।

03