• Home
  • Haryana News
  • Faridabad
  • इन्हांसमेंट के विरोध में निकाला कैंडल मार्च, विधायक व मंत्रियों के घर पहुंचे समस्या लेकर, की नारेबाजी
--Advertisement--

इन्हांसमेंट के विरोध में निकाला कैंडल मार्च, विधायक व मंत्रियों के घर पहुंचे समस्या लेकर, की नारेबाजी

हुडा द्वारा शहर के करीब सात हजार से अधिक प्लाट मालिकों को इन्हांसमेंट के नाम पर 460 करोड़ रुपए की वसूली के थमाए गए...

Danik Bhaskar | Jul 04, 2018, 02:05 AM IST
हुडा द्वारा शहर के करीब सात हजार से अधिक प्लाट मालिकों को इन्हांसमेंट के नाम पर 460 करोड़ रुपए की वसूली के थमाए गए नोटिस के विरोध में प्लाटधारकों ने मंगलवार शाम को कैंडल मार्च निकाला। ये सबसे पहले सेक्टर-46 के कम्युनिटी सेंटर में इकट्ठा हुए। वहां से बड़खल क्षेत्र की विधायक सीमा त्रिखा के निवास पर पहुंचे। वहां विधायक मौजूद नहीं थी। जबकि प्लाटधारकों ने पहले ही इन्हें मिलने के लिए सूचित कर दिया था। लेकिन इसके बाद भी वे घर पर नहीं मिली। इसके बाद उनके पीए ने विधायक से बात कराई। हरियाणा स्टेट हुडा सेक्टर कान्फेडरेशन के प्रांतीय संयोजक यशबीर मलिक की विधायक से बात हुई। मलिक ने विधायक से कहा कि पहले से सूचना देने के बाद ही आप हम लोगों से नहीं मिली। हम हजारों लोग आपके यहां अपनी समस्या लेकर आए हैं। इस पर विधायक ने कहा कि हम किसी जरूरी काम से बाहर हैं। इसलिए हम आपसे नहीं मिल सके। इस पर प्लाटधारकों ने नारेबाजी करते हुए कहा यदि हमारी समस्या हल कराने में हस्तक्षेप नहीं करती हैं तो हम आपको सेक्टर में नहीं घुसने देंगे। हम लोग सेक्टर में आपकी कोई भी जनसभा नहीं होने देंगे। साथ ही चुनाव में हम आपका बहिष्कार करेंगे। इस पर विधायक ने कहा कि हम पांच जुलाई को आप लोगों की समस्या के बारे में सीएम से बात करेंगे। हम आपके साथ हैं। और जितना हो सकेगा हम आपकी मदद करेंगे। इसके बाद सभी प्लाटधारक हरियाणा सरकार के कैबिनेट मंत्री विपुल गोयल के यहां पहुंचे। लेकिन मंत्री वहां नहीं मिले। उनके भाई मिले। प्लाट धारकों ने उन्हें अपनी समस्या बताई। उनके भाई ने कहा हम आपके साथ हैं। हम आपकी समस्या उद्योग मंत्री को बात देंगे। यहां भी प्लाट धारकों ने कहा यदि हमारी समस्या को मंत्री नहीं सुनते हैं तो हम उन्हें न सेक्टर में घुसने देंगे और न उनकी जनसभा होने देंगे। इसके बाद प्लाटधारक केंद्रीय राज्यमंत्री कृष्णपाल गुर्जर के यहां पहुंचे। यहां भी मंत्री नहीं मिले। प्लाट धारकों की उनके पीए से बात हुई। इन्होंने पीए के माध्यम से अपनी मांग को रखा।

यह है इन्हांसमेंट का पूरा मामला: हरियाणा स्टेट हुडा सेक्टर कान्फेडरेशन के संयोजक यशवीर मलिक के मुताबिक हुडा ने प्रदेशभर में सेक्टर बसाने के लिए जिन किसानों की जमीन ली थी उन्हें मुआवजा कम दिया था। किसान अधिक मुआवजे की मांग को लेकर हाईकोर्ट चले गए थे। कोर्ट ने वर्ष 2005 में 200 से 250 रुपए प्रति वर्ग गज की दर से मुआवजा बढ़ाकर देने का आदेश दिया था। हुडा ने प्रभावित किसानों के पैसे जमा करा दिए। अब 13 साल बाद हुडा किसानों को दिए पैसे को प्लाटधारकों से वसूलने के लिए नोटिस जारी कर रहा है। प्लाट मालिक कोर्ट के फैसले के मुताबिक इन्हांसमेंट राशि जमा करने के लिए तैयार हैं। लेकिन 13 साल का प्लाट की साइज के हिसाब से जो 15 फीसदी की दर से ब्याज वसूला जा रहा है वह नाजायज है। क्योंकि ब्याज को जोड़ा जाए तो करीब 100 गज के प्लाट मालिक पर करीब 2 लाख रुपए का भार आ रहा है।

फरीदाबाद. विधायक सीमा त्रिखा के निवास पर कैंडल मार्च निकाल कर विरोध प्रकट करती महिलाएं।