• Hindi News
  • Haryana
  • Faridabad
  • दिन के मुकाबले रात को आधी कंप्लेंट, फिर भी नहीं होते फॉल्ट ठीक, नाइट को गई बिजली तो सुबह आएगी
--Advertisement--

दिन के मुकाबले रात को आधी कंप्लेंट, फिर भी नहीं होते फॉल्ट ठीक, नाइट को गई बिजली तो सुबह आएगी

निगम शहर को बेहतर बिजली सप्लाई करने का दावा कर रहा है, लेकिन हकीकत कुछ और है। अगर रात में कोई फॉल्ट हो जाता है तो उसे...

Dainik Bhaskar

Jul 12, 2018, 02:05 AM IST
दिन के मुकाबले रात को आधी कंप्लेंट, फिर भी नहीं होते फॉल्ट ठीक, नाइट को गई बिजली तो सुबह आएगी
निगम शहर को बेहतर बिजली सप्लाई करने का दावा कर रहा है, लेकिन हकीकत कुछ और है। अगर रात में कोई फॉल्ट हो जाता है तो उसे ठीक ही नहीं किया जाता। उसे सुबह ठीक किया जाएगा। इसके बाद ही बिजली आएगी। इस तरह के मामले रोज सामने आ रहे हैं। रात में फॉल्ट होने पर लोग शिकायत केंद्रों पर फोन करते हैं। पहले तो फोन नहीं उठते। अगर उठ भी जाते हैं तो शिकायत रजिस्टर्ड होने के बाद भी कोई रिस्पांस नहीं मिलता। उमस भरी इस भीषण गर्मी में पूरी रात लोगों को जागकर काटनी पड़ रही है। कहने को निगम की ओर से कंट्रोल रूम बनाया गया है। जहां 24 घंटे शिकायतों की सुनवाई की जा रही है, लेकिन रात में होने वाले फॉल्ट शिकायत करने के बाद भी ठीक नहीं किए जाते हैं।

गर्ग कॉलोनी में पूरी रात गायब रही बिजली

बल्लभगढ़ के सिटी-1 सबडिवीजन की गर्ग कॉलोनी में पूरी रात बिजली गुल रही। यहां रात करीब 10.30 बजे लाइन ब्रेकडाउन होने से बिजली गुल हो गई। रात को लोगों की कंप्लेंट के बाद लाइन को शुरू कराया गया। करीब डेढ़ बजे लाइट आई। इसके बाद फिर बिजली गुल हो गई। लोग रातभर शिकायत केंद्रों पर फोन लगाते रहे। कोई सुनवाई नहीं हुई। कई घंटे तक जब लाइट नहीं आई तो इनवर्टर भी जवाब दे गए। भीषण गर्मी में लोगों ने रात जागकर गुजारी। कोई छत पर घूमा तो कोई बाल्कनी में टहलता रहा। लोगों ने फिर सुबह शिकायत करनी शुरू की तो जवाब मिला कि ट्रांसफार्मर की तार टूट गई है जिसे ठीक किया जा रहा है। सुबह 8 बजे कॉलोनी में सप्लाई बहाल हुई।

नहीं उठाते फोन| दिन में होती है सुनवाई, रात को नहीं उठाते फोन, कंप्लेंट सेंटर में शिकायत रजिस्टर्ड होने के बाद नहीं दिया जाता रिप्लाई

इंद्रा गांधी कॉलोनी भी रही अंधेरे में

एक छोटे से फॉल्ट के कारण शनिवार रात इंद्रा गांधी कॉलोनी में पूरी रात बिजली गुल रही। कॉलोनी निवासी विजय ने कहा कि रात में जब शिकायत केंद्र का नंबर लगाया तो घंटी बजती रही किसी ने फोन नहीं उठाया। इसके बाद कंट्रोल रूम में शिकायत दर्ज करा दी, लेकिन कोई रिस्पांस नहीं मिला। पूरी रात फॉल्ट को ठीक नहीं किया गया। एक छोटे से फॉल्ट की वजह से पूरी रात लोगों ने जागकर गुजारी। यह स्थिति पूरे शहर की। दिन में फॉल्ट होने पर कार्रवाई तुरंत होती है, लेकिन बात जब रात की हो तो सुनवाई हीं नहीं होती। 24 घंटे कंप्लेंट सेंटर के नंबर ऑन तो रहते हैं, लेकिन उठते नहीं हैं। उठ भी जाते हैं तो रात में आने वाले शिकायतों पर गंभीरता से कार्रवाई नहीं होती। फॉल्ट को दुरुस्त करने के लिए सुबह तक टाल दिया जाता है।

नहीं हैं पर्याप्त इंक्यूपमेंट

विभाग भले ही कितने दावे कर लें, लेकिन अभी भी निगम की तकनीशियन टीम के पास पर्याप्त एक्यूपमेंट नहीं हैं, जिससे कर्मचारी रात में बेफिक्र होकर लाइनों में काम कर सकें। सबडिवीजन में फॉल्ट ठीक करने के लिए हाइड्रोलिक सीढ़ी व ट्रांसफार्मर उतारने-चढ़ाने के लिए क्रेन तक नहीं है। कई बार जेई को क्रेन के पैसे खुद की जेब से देने पड़ते हैं। मेंटिनेंस के सामान का लगातार अभाव रहता है। ऐसे में कर्मचारी रात में मेजर फॉल्ट अटेंड करने में कतराते हैं। वे खुद ही सुबह होने का इंतजार करते हैं। इसका खामियाजा उपभोक्ता को भुगतना पड़ता है।


हमारी पूरी कोशिश होती है कि फॉल्ट को जल्द दुरुस्त कराया जा सके

राहत को लंबा इंतजार| सुबह होती है कंप्लेंट अटेंड, रात में फॉल्ट होने पर बिजली आने का सुबह तक करना पड़ता है इंतजार

निगम ने टीमें बनाईं, लेकिन एक्टिव नहीं हैं

कहने को कंट्रोल रूम में एसडीओ के नेतृत्व में जेई की टीम लगाई गई है। जो रात को होने वाले फॉल्ट को ट्रेस कर तुरंत अटेंड कराएगी,। लेकिन ऐसा होता नहीं हैं। रात को बिजली निगम की टीम ज्यादा एक्टिव नहीं होती। रात में आने वाले शिकायतों को रजिस्टर्ड तो कर लिया जाता है, लेकिन उन्हें अटेंड नहीं किया जाता। जब कंप्लेंट सेंटर से कंज्यूमर को जवाब नहीं मिलता तो लोग अधिकारियों को फोन लगाना शुरू कर देते हैं। लेकिन रात में इनके फोन भी नहीं उठते। ऐसे में कंज्यूमर की शिकायत रहती है कि कंप्लेंट कहां करें। रात में अगर फॉल्ट होता है तो बिजली राम भरोसे हो जाती है। कही कोई सुनवाई नहीं होती।

नहीं होती सुनवाई| निगम के दावे फॉल्ट होने पर तुरंत होती है कार्रवाई, लेकिन रात में दावे हो जाते हैं फुस्स, नहीं होती सुनवाई।

रात को आधी भी नहीं होतीं कंप्लेंट





ड्यूटी रोस्टर जारी हुआ, पर स्थिति वही

निगम की ओर से हाल ही में खासतौर पर रात में होने वाले फॉल्ट हो दुरुस्त करने के लिए ड्यूटी रोस्टर जारी किया गया। इसमें एसडीओ की निगरानी में एक टीम की ड्यूटी कंट्रोल रूम में लगाई गई है। जो कंट्रोल रूम में आने वाली शिकायतों पर तुरंत एक्शन लेगी, लेकिन इसके बाद भी शहर की स्थिति वही है। रात में होने वाले फॉल्ट पर अगर मेजर फाल्ट भी है तो उसे सुबह तक के लिए छोड़ दिया जाता है।

कंट्रोल रूम ये हैं नंबर, फायदा कुछ नहीं

मोबाइल नंबर-9540954708

लैंडलाइन नंबर-01292235252

यह दोनों नंबर कंट्रोल रूम के हैं। इन पर कोई भी व्यक्ति अपनी बिजली से संबंधित शिकायत दर्ज करा सकता है, लेकिन हकीकत यह है कि पहले तो फोन ही अटेंड नहीं होता। यदि हो भी जाए तो समस्या का समाधान होना मुश्किल है।

X
दिन के मुकाबले रात को आधी कंप्लेंट, फिर भी नहीं होते फॉल्ट ठीक, नाइट को गई बिजली तो सुबह आएगी
Bhaskar Whatsapp

Recommended

Click to listen..