Hindi News »Haryana »Faridabad» सुविचार आपकी ताकत लक्ष्य हासिल करने के तरीकों से जितनी करीब होगी, सफलता भी उतनी ही पास आएगी। ÂÂÂ

सुविचार आपकी ताकत लक्ष्य हासिल करने के तरीकों से जितनी करीब होगी, सफलता भी उतनी ही पास आएगी। ÂÂÂ

वर्ष 18, अंक 01, हरियाणा

Bhaskar News Network | Last Modified - Jun 25, 2018, 02:10 AM IST

  • सुविचार 
आपकी ताकत लक्ष्य हासिल करने के तरीकों से जितनी करीब होगी, सफलता भी उतनी ही पास आएगी। ÂÂÂ
    +3और स्लाइड देखें

    वर्ष 18, अंक 01, हरियाणा

    ब्राजील की सड़क और दीवारें रंगते जीसस। तस्वीर 2010 की है।

    फीफा वर्ल्डकप शुरू हुए 11 दिन हो चुके हैं। अब तक 32 मैचे खेले जा चुके हैं। इस दौरान तीन खिलाड़ियों ने दुनिया का ध्यान अपनी ओर खींचा है। तीनों की कहानी बेहद दिलचस्प और प्रेरक है। सबमें एक बात कॉमन है- ‘अभाव का प्रभाव’। यानी सभी ने संसाधनों की कमी को ही अपनी जीत का हथियार बनाया...

    गैब्रियल जीसस ब्राजील के फॉरवर्ड प्लेयर हैं। ब्रांड वैल्यू: 350 करोड़ रु.

    गैब्रियल जीसस ब्राजील के फॉरवर्ड प्लेयर हैं। ब्रांड वैल्यू: 350 करोड़ रु.

    ब्राजील के गैब्रियल जीसस फीफा-2018 में ब्राजील के लिए टॉप फॉरवर्ड में से एक साबित हो रहे हैं। 21 साल के जीसस 6 साल पहले तक ब्राजील की गलियों में घूम-घूमकर दीवार, सड़क और डिवाइडर पर पुताई करते थे। एक दिन के डेढ़ सौ से दो सौ रुपए कमा लेते थे। कम उम्र के ही थे, जब पिता का निधन हो गया। मां और भाई के साथ इंग्लैंड छोड़कर ब्राजील आना पड़ा। फुटबॉल का शौक 6 साल की उम्र से था। पुताई के बाद जो वक्त बचता, वो मैदान पर बीतता। 2013 में गैब्रियल के कोच ने उन्हें क्लब जॉइन कराया। उन्होंने 47 मैच में 16 गोल किए। 2015 में उन्हें ब्राजील अंडर-23 और 2016 में नेशनल टीम में चुन लिया गया। 2017 में मैनचेस्टर यूनाइटेड ने 240 करोड़ रु. का कॉन्ट्रैक्ट किया। अभी उनकी ब्रांड वैल्यू 350 करोड़ रु. से ज्यादा है।

    ब्राजील के गैब्रियल जीसस फीफा-2018 में ब्राजील के लिए टॉप फॉरवर्ड में से एक साबित हो रहे हैं। 21 साल के जीसस 6 साल पहले तक ब्राजील की गलियों में घूम-घूमकर दीवार, सड़क और डिवाइडर पर पुताई करते थे। एक दिन के डेढ़ सौ से दो सौ रुपए कमा लेते थे। कम उम्र के ही थे, जब पिता का निधन हो गया। मां और भाई के साथ इंग्लैंड छोड़कर ब्राजील आना पड़ा। फुटबॉल का शौक 6 साल की उम्र से था। पुताई के बाद जो वक्त बचता, वो मैदान पर बीतता। 2013 में गैब्रियल के कोच ने उन्हें क्लब जॉइन कराया। उन्होंने 47 मैच में 16 गोल किए। 2015 में उन्हें ब्राजील अंडर-23 और 2016 में नेशनल टीम में चुन लिया गया। 2017 में मैनचेस्टर यूनाइटेड ने 240 करोड़ रु. का कॉन्ट्रैक्ट किया। अभी उनकी ब्रांड वैल्यू 350 करोड़ रु. से ज्यादा है।

    फुटबॉल विश्वकप के मैदान से तीन खिलाड़ियों की तीन कहानियां...

    फरीदाबाद, सोमवार 25 जून, 2018

    जीसस: छह साल पहले दीवारें रंगते थे, अब टॉप फॉरवर्ड हैं

    जीसस: छह साल पहले दीवारें रंगते थे, अब टॉप फॉरवर्ड हैं

    रोमेलु लुकाकू बेल्जियम के स्ट्राइकर हैं। ब्रांड वैल्यू: 900 करोड़ रु.

    रोमेलु लुकाकू बेल्जियम के स्ट्राइकर हैं। ब्रांड वैल्यू: 900 करोड़ रु.

    बेल्जियम के रोमेलु लुकाकू ने दो मैच में चार गोल करके रोनाल्डो की बराबरी कर ली है। इंग्लैंड के हैरीकेन पांच गोल के साथ अभी नंबर-1 हैं। लुकाकू की ब्रांड वैल्यू 900 करोड़ रु. से ज्यादा है। पर ये सफर आसान न था। वो बताते हैं- ‘मैं स्कूल में था, तो तीन-चार साल तक हमें घर में खाने के लिए सिर्फ दूध-ब्रेड मिलता था। मां से पूछा कि क्या हम गरीब हैं? तो उन्होंने कहा कि ये हमारा फूड कल्चर है। मैंने भी मान लिया। एक दिन मां को दूध में पानी मिलाते देख सब समझ गया। अब तक फुटबॉल मेरा शौक था, उस दिन ये मेरा पैशन बन गया। जब मैं नेशनल टीम में सेलेक्ट हुआ तो मेरे नाना ने मुझे फोन किया। कहा कि- वादा करो कि अब तुम मेरी बेटी का ख्याल रखोगे। मैंने कहा कि- आपकी बेटी मेरी मां हैं, बेफिक्र रहिए। तब से मैं उनसे किया वादा निभा रहा हूं।’

    बेल्जियम के रोमेलु लुकाकू ने दो मैच में चार गोल करके रोनाल्डो की बराबरी कर ली है। इंग्लैंड के हैरीकेन पांच गोल के साथ अभी नंबर-1 हैं। लुकाकू की ब्रांड वैल्यू 900 करोड़ रु. से ज्यादा है। पर ये सफर आसान न था। वो बताते हैं- ‘मैं स्कूल में था, तो तीन-चार साल तक हमें घर में खाने के लिए सिर्फ दूध-ब्रेड मिलता था। मां से पूछा कि क्या हम गरीब हैं? तो उन्होंने कहा कि ये हमारा फूड कल्चर है। मैंने भी मान लिया। एक दिन मां को दूध में पानी मिलाते देख सब समझ गया। अब तक फुटबॉल मेरा शौक था, उस दिन ये मेरा पैशन बन गया। जब मैं नेशनल टीम में सेलेक्ट हुआ तो मेरे नाना ने मुझे फोन किया। कहा कि- वादा करो कि अब तुम मेरी बेटी का ख्याल रखोगे। मैंने कहा कि- आपकी बेटी मेरी मां हैं, बेफिक्र रहिए। तब से मैं उनसे किया वादा निभा रहा हूं।’

    आप पढ़ रहे हैं देश का एकमात्र नो निगेटिव अखबार

    द्वितीय ज्येष्ठ शुक्ल पक्ष 13, 2075

    लुकाकू: मां को दूध में पानी मिलाते देख फुटबॉल को चुना

    लुकाकू: मां को दूध में पानी मिलाते देख फुटबॉल को चुना

    आइसलैंड के गोलकीपर हैं हानेस हालडोरसन। ब्रांड वैल्यू: 150 करोड़ रु.

    आइसलैंड के गोलकीपर हानेस हालडोरसन ने अर्जेंटीना के खिलाफ मैच में लियोनल मेसी का गोल रोका और अर्जेंटीना को ड्रॉ खेलने पर मजबूर कर दिया। हानेस हालडोरसन अपनी टीम का संघर्ष बताते हैं- ‘हमारे देश की आबादी साढ़े तीन लाख है। कोई हमें गंभीरता से लेने तक को तैयार नहीं था। हमारे पास मैदान नहीं थे। एक मैदान मिला, जहां दिन में हम प्रैक्टिस करते थे और रात में घोड़े बांधे जाते थे। मैं गोलकीपर था। डाइव मारता तो मैदान में बिखरी घोड़े की नाल वगैरह हाथ-पैर में लग जाते थे। ऐसे हालातों में हमारे खिलाड़ी निराश हो रहे थे। फिर हमने फैसला किया कि हम कुछ साबित करने के लिए नहीं, बल्कि खुद के लिए खेलेंगे। इस बार के प्रदर्शन से खुश हैं, संतुष्ट नहीं। 2018 में तो आए हैं, 2022 में दम दिखाएंगे।’

    हानेस: घोड़े बांधने वाले मैदान पर प्रैक्टिस, अब मेसी को रोका

  • सुविचार 
आपकी ताकत लक्ष्य हासिल करने के तरीकों से जितनी करीब होगी, सफलता भी उतनी ही पास आएगी। ÂÂÂ
    +3और स्लाइड देखें
  • सुविचार 
आपकी ताकत लक्ष्य हासिल करने के तरीकों से जितनी करीब होगी, सफलता भी उतनी ही पास आएगी। ÂÂÂ
    +3और स्लाइड देखें
  • सुविचार 
आपकी ताकत लक्ष्य हासिल करने के तरीकों से जितनी करीब होगी, सफलता भी उतनी ही पास आएगी। ÂÂÂ
    +3और स्लाइड देखें
आगे की स्लाइड्स देखने के लिए क्लिक करें
दैनिक भास्कर पर Hindi News पढ़िए और रखिये अपने आप को अप-टू-डेट | अब पाइए News in Hindi, Breaking News सबसे पहले दैनिक भास्कर पर |

More From Faridabad

    Trending

    Live Hindi News

    0

    कुछ ख़बरें रच देती हैं इतिहास। ऐसी खबरों को सबसे पहले जानने के लिए
    Allow पर क्लिक करें।

    ×