• Hindi News
  • Haryana
  • Faridabad
  • डीजीपी साहब, ग्रीनफील्ड कॉलोनी के लोगों के साथ पुलिस ने ज्यादती की है, इसलिए एसएचओ को लाइनहाजिर किया जाए
--Advertisement--

डीजीपी साहब, ग्रीनफील्ड कॉलोनी के लोगों के साथ पुलिस ने ज्यादती की है, इसलिए एसएचओ को लाइनहाजिर किया जाए

बिजली समस्या को लेकर ग्रीनफील्ड कॉलोनी के लोगों की विधायक सीमा त्रिखा के आवास से शुक्रवार रात हुई गिरफ्तारी के...

Dainik Bhaskar

Jun 26, 2018, 01:45 PM IST
डीजीपी साहब, ग्रीनफील्ड कॉलोनी के लोगों के साथ पुलिस ने ज्यादती की है, इसलिए एसएचओ को लाइनहाजिर किया जाए
बिजली समस्या को लेकर ग्रीनफील्ड कॉलोनी के लोगों की विधायक सीमा त्रिखा के आवास से शुक्रवार रात हुई गिरफ्तारी के मामले में हरियाणा के उद्योग मंत्री विपुल गोयल ने कड़ा संज्ञान लिया है। उन्होंने पुलिसिया कार्रवाई पर एतराज जताते हुए सोमवार को पत्रकारों के सामने हरियाणा के डीजीपी से फोन पर बात कर एनआईटी थाने के एसएचओ को लाइन हाजिर कर पूरे मामले की जांच कराने के लिए कहा है। उन्होंने डीजीपी से कहा कि बिजली समस्या लेकर आए लोगों की गिरफ्तारी करना पुलिस की ज्यादती है, इसलिए एसएचओ को तत्काल लाइनहाजिर किया जाए। उन्होंने डीजीपी बीएस संधू से कहा कि जो लोग बिजली की समस्या लेकर विधायक के आवास पर गए उन्हें गिरफ्तार कर 12 घंटे तक हवालात में बंद रखा गया। ऐसा लग रहा है कि ये लोग क्रिमिनल हों। यही नहीं उनकी गाड़ियां भी पुलिस ने इंपाउंड कर लीं। यह सारा खेल किसके इशारे पर हुआ। इसकी पूरी जांच कराई जाए। उन्होंने डीजीपी से यह भी कहा कि एनआईटी थाने में एक माह में कितनी एफआईआर दर्ज हुईं और उन पर क्या कार्रवाई एनआईटी पुलिस ने की। इसकी रिपोर्ट एसएचओ से मांगी जाए। इससे पता लग जाएगा कि एसएचओ और मामलों में भी एक्टिव हैं। उद्योग मंत्री की इस शिकायत पर डीजीपी ने कहा कि हम मामले की जांच कराएंगे।

फरीदाबाद. पत्रकारों को संबोधित करते मंत्री विपुल गोयल व बीजेपी जिला अध्यक्ष गोपाल शर्मा।


क्या है पूरा मामला, जिसने इतना तूल पकड़ लिया

बिजली समस्या से परेशान ग्रीनफील्ड कॉलोनी के लोग शुक्रवार रात ढाई बजे जब क्षेत्र की विधायक सीमा त्रिखा के आवास पर शिकायत लेकर पहुंचे तो उन्हें वहां गिरफ्तार कर लिया गया था। कॉलोनी की करीब 25 हजार की आबादी कई दिन से बिजली समस्या से परेशान थी। 24 घंटे में कालोनी को मात्र 5-6 घंटे बिजली मिल रही थी। इससे परेशान होकर लोग रात को विधायक के आवास पर पहुंच गए थे और नारेबाजी करने लगे थे। इसकी खबर पुलिस को किसी ने दे दी थी। कुछ ही देर में पुलिस पहुंच गई और 18 लोगों को गिरफ्तार कर लिया था। इन्हें थाने में ले जाकर 12 घंटे तक नंगे बदन हवालात में रखा गया था। इसके बाद शनिवार को इन्हें जमानत पर छोड़ा गया था। इस गिरफ्तारी के बाद से शहर में भाजपा की किरकिरी हो रही है।

फोन लगाकर एसएचओ को भी हड़काया

उद्योग मंत्री विपुल गोयल ने इससे पहले एनआईटी पांच नंबर थाने के एसएचओ सुभाष कुमार को फोन लगाकर उन्हें हड़काया। उन्होंने एसएचओ से कहा कि ग्रीनफील्ड कॉलोनी के लोगों के साथ जो सुलूक किया है क्या वह सही है। आपने उनके कपड़े उतरवा कर हवालात में बंद कर दिया। ये लोग समस्या लेकर ही तो आए थे। क्या ये लोग कोई आपराधिक किस्म के थे जिन्हें आपने गिरफ्तार कर हवालात में डाल दिया। उद्योगमंत्री ने एचएचओ से पूछा कि आपको यहां आए हुए कितने माह हो गए हैं। इस पर एसएचओ ने जवाब दिया कि तीन माह। इस पर गोयल ने कहा कि आप अपनी एक महीने की रिपोर्ट दीजिए कि एक माह में कितनी एफआई दर्ज हुई और उन पर क्या कार्रवाई की।

बात हरियाणा भाजपा के हाईकमान तक पहुंची

उद्योग मंत्री विपुल गोयल जब पत्रकारों से सोमवार को बात कर रहे थे। तब वहां भाजपा के जिलाध्यक्ष गोपाल शर्मा भी मौजूद थे। पत्रकारों ने जब जिलाध्यक्ष से सवाल किया कि इस मामले के बारे में आपका क्या कहना है। इसके जवाब में जिलाध्यक्ष ने कहा कि लोगों की जो गिरफ्तारी हुई है। वह निंदनीय है। उन्होंने कहा कि कोई भी जनप्रतिनिधि हो उसके पास यदि जनता समस्या लेकर पहुंचती है तो उसे न केवल सुनना चाहिए, बल्कि उसका समाधान भी कराना चाहिए। जिलाध्यक्ष ने कहा कि शुक्रवार को ग्रीनफील्ड के लोगों के साथ जो ज्यादती हुई है उसके बारे में उन्होंने हरियाणा भाजपा के अध्यक्ष सुभाष बराला को बता दिया है। बराला को यह भी बताया कि इस घटना से फरीदाबाद में भाजपा की छवि खराब हुई है।

X
डीजीपी साहब, ग्रीनफील्ड कॉलोनी के लोगों के साथ पुलिस ने ज्यादती की है, इसलिए एसएचओ को लाइनहाजिर किया जाए
Bhaskar Whatsapp

Recommended

Click to listen..