• Home
  • Haryana News
  • Fatehabad
  • 10वीं-12वीं कक्षाओं की उत्तरपुस्तिकाओं में बच्चों ने लिखा 3 साल से फेल हो रहे हैं सर जी, इस बार तो कृपा कर दो
--Advertisement--

10वीं-12वीं कक्षाओं की उत्तरपुस्तिकाओं में बच्चों ने लिखा 3 साल से फेल हो रहे हैं सर जी, इस बार तो कृपा कर दो

हरियाणा बोर्ड परीक्षाओं में पास होने के लिए विद्यार्थी अपनी उत्तर पुस्तिकाओं में परीक्षक को पारिवारिक स्थिति...

Danik Bhaskar | Apr 01, 2018, 03:15 AM IST
हरियाणा बोर्ड परीक्षाओं में पास होने के लिए विद्यार्थी अपनी उत्तर पुस्तिकाओं में परीक्षक को पारिवारिक स्थिति साथ ऐसे हालत लिखकर उनसे गुहार लगा रहे हैं कि इस बार तो पास कर दो। कई ऐसे ही मामले उत्तर पुस्तिकाओं की जांच करने वाले परीक्षक के सामने आ रहे है। परीक्षक भी प्रश्नों के उत्तर की जगह अपील करने व मन की बात लिखने वाले विद्यार्थियों के संदेशों को दूसरों को सुनाकर मनोरंजन कर रहे हैं। हरियाणा विद्यालय शिक्षा बोर्ड द्वारा फतेहाबाद में 12वीं कक्षा की उत्तर पुस्तिकाओं की मार्किंग के लिए राजकीय वरिष्ठ माध्यमिक विद्यालय को सेंटर बनाया गया है। इसी तरह 10वीं की उत्तर पुस्तिकाओं के लिए राजकीय कन्या वरिष्ठ माध्यमिक विद्यालय को सेंटर बनाया गया है। हालांकि शिक्षा विभाग द्वारा विषयवार परीक्षकों की नियुक्ति की गई है। दोनों सेंटरों में बोर्ड की कड़ी निगरानी में मार्किंग का कार्य चल रहा है। जो करीब 10 से 15 दिन तक चलेगा।

डीईओ दयानंद सिहाग ने बताया कि राजकीय वरिष्ठ माध्यमिक विद्यालय में 12वीं कक्षा के विभिन्न विषयों की 25 हजार 440 उत्तरपुस्तिकाएं मार्किंग के लिए पहुंची है। अंग्रेजी की 6720 उत्तर पुस्तिकाओं की मार्किंग के लिए 27 परीक्षकों की ड्यूटी लगी हुई है। इसी तरह हिंदी की 6720 उत्तर पुस्तिकाओं के लिए 27 परीक्षकों, इकोनॉमिक्स की 2160 उत्तर पुस्तिकाओं की मार्किंग के लिए 9परीक्षकों, हिस्ट्री, पॉलिटिकल साइंस, अकाउंटेंसी व फिजिकल एजुकेशन की 2160- 2160 उत्तर पुस्तिकाओं की मार्किंग के लिए 9-9परीक्षकों की ड्यूटी लगी हुई है।

राजकीय वरिष्ठ माध्यमिक स्कूल में पेपर की मार्किंग करते स्टाफ व निरीक्षण करते कंट्रोलर ओमप्रकाश डूडी।

सीसीटीवी कैमरे की निगरानी में मार्किंग

राजकीय वरिष्ठ माध्यमिक विद्यालय के सेंटर कंट्रोलर ओमप्रकाश डूडी ने बताया कि मार्किंग शुरू होने से पहले सभी परीक्षकों की हाजिरी बायोमैट्रिक लगती है और इसके बाद बोर्ड द्वारा लगवाए गये कैमरे के सामने मार्किंग होती है। प्रत्येक मार्किंग ग्रुप पर मुख्य परीक्षक नियुक्त है। जो परीक्षकों पर नजर रखता है।

अपील से नहीं पड़ता फर्क

सेंटर कंट्रोलर ओमप्रकाश डूडी ने साफ कहा कि विद्यार्थियों की मार्किंग अपील का स्टाफ सदस्यों पर कोई असर नहीं पड़ता। जिस बच्चे ने परीक्षा के लिए जितनी मेहनत की है, उसी प्रकार उसे उसका परिणाम आता है।

इस तरह से कर रहे अपील




10वीं की उत्तर पुस्तिकाओं की मार्किंग के लिए 58 परीक्षक

राजकीय कन्या वरिष्ठ माध्यमिक विद्यालय में 10वीं के विभिन्न विषयों की मार्किंग के लिए 58 शिक्षकों की ड्यूटियां लगाई गई है। इसमें अंग्रेजी के 9, एसएस के 15, हिंदी के 13, गणित के 14 व फिजिकल एजुकेशन के 7 शिक्षकों की नियुक्तियां की गई है।