पुरानी पेंशन नीति की बहाली को लेकर कर्मियों ने की सांकेतिक भूख हड़ताल

Fatehabad News - पेंशन बहाली संघर्ष समिति द्वारा विजय भूना की अध्यक्षता में लघु सचिवालय के सामने सांकेतिक भूख हड़ताल की गई। इसमें...

Bhaskar News Network

Jul 14, 2019, 07:35 AM IST
Fatehabad News - haryana news emergency hunger strike for employees on the restoration of old pension policy
पेंशन बहाली संघर्ष समिति द्वारा विजय भूना की अध्यक्षता में लघु सचिवालय के सामने सांकेतिक भूख हड़ताल की गई। इसमें कोषाध्यक्ष महेन्द्र शर्मा, सचिव विकास, टोहाना ब्लाक प्रधान ओमप्रकाश लांग्यान, रतिया ब्लाक प्रधान कुलदीप, भट्टू प्रधान संदीप सोनी, फतेहाबाद ब्लाक प्रधान देवेंद्र शर्मा, जाखल ब्लाक प्रधान नरेश कुमार सहित जिला व ब्लाक कार्यकारिणी सदस्यों के साथ जिले के सभी विभागों के पेंशन विहीन कर्मचारियों ने एक दिन के सांकेतिक अनशन में भाग लिया। कर्मचारियों ने कहा कि अगर सरकार अब भी कोई उचित कदम नहीं उठाती तो आगे आर पार के आंदोलन का निर्णय लिया जाएगा।

धरने को राजकीय प्राथमिक शिक्षक संघ के जिला प्रधान विकास टुटेजा, एचएमवीए के रामेश्वर वर्मा, एचएसईबी से फूल कुमार, फकीर चंद, सलाह से हवा सिंह बागड़ी, हसला से राम सिंह, हरियाणा कर्मचारी महासंघ के जिला प्रधान मुंशीराम कम्बोज, सर्व कर्मचारी संघ के जिला प्रधान भूप सिंह भड़ोलांवाली ने भी समर्थन दिया। धरने को संबोधित करते हुए कर्मचारी नेताओं ने कहा कि 2004 में सरकार द्वारा कमजोर आर्थिक स्थिति का हवाला देते हुए सरकारी कर्मचारियों की पेंशन नीति 1972 खत्म कर नई बाजार आधारित अंश-दाई पेंशन नीति लाई गई जिसमें कर्मचारियों के वेतन का 10 प्रतिशत और उतना ही शेयर सरकार द्वारा कर्मचारियों के पेंशन फंड के तौर पर एसबीआई, यूटीआई और एलआईसी के माध्यम से बाजार में इन्वेस्ट किया जाता है लेकिन एनपीएस के तहत लगने वाले धन ना तो न्यूनतम पेंशन का प्रावधान है और ना ही निश्चित रिटर्न की कोई गारंटी है।

कर्मचारी नेताओं का कहना है कि एनपीएस के तहत सेवानिवृत्त होने वाले कर्मचारियों की बहुत कम पेंशन मिल रही है जिसके कारण उनका जीवन यापन नहीं हो पा रहा। अभी तक कर्मचारियों की मांग और एनपीएस में हो रहे नुकसान को देखते हुए 8 प्रदेशों में पुरानी पेंशन की बहाली हेतु कमेटियां गठित हो चुकी हैं, जिसमें पंजाब और उत्तरप्रदेश पड़ोसी राज्य भी शामिल है। इसके अतिरिक्त दिल्ली के मुख्यमंत्री विधानसभा में पुरानी पेंशन नीति का प्रस्ताव पास कर उपराज्यपाल को भेज चुके है। कर्मचारियों ने कहा कि हरियाणा सरकार को भी जल्द से जल्द पुरानी पेंशन नीति को बहाल करने का निर्णय लेकर कर्मचारियों, अधिकारियों को सामाजिक सुरक्षा देनी चाहिए।

फतेहाबाद। सांकेतिक भूख हड़ताल करते कर्मचारी।

X
Fatehabad News - haryana news emergency hunger strike for employees on the restoration of old pension policy
COMMENT

आज का राशिफल

पाएं अपना तीनों तरह का राशिफल, रोजाना