धान का सीजन शुरू, जाखल जंक्शन पर हर रोज आ रहे पांच हजार प्रवासी मजदूर

Fatehabad News - धान रोपाई का समय आ चुका है। लेकिन इसके किसानों के सामने धान रोपाई करने वाले मजदूरों की भारी कमी बनी हुई है। जाखल...

Bhaskar News Network

Jun 14, 2019, 07:50 AM IST
Jakhalmandi News - haryana news paddy season starts five thousand migrant laborers coming to jakhal junction everyday
धान रोपाई का समय आ चुका है। लेकिन इसके किसानों के सामने धान रोपाई करने वाले मजदूरों की भारी कमी बनी हुई है। जाखल जंक्शन पर हर रोज करीब 5 हजार से भी ज्यादा प्रवासी मजदूर बिहार एवं यूपी से यहां पहुंचते हैं लेकिन फिर भी मजदूरों का टोटा बना हुआ है। आलम यह है कि मजदूरों की तलाश में हरियाणा पंजाब के सैकड़ों किसानों ने दिन रात यहां पर डेरा डाल रखा है व मजदूरों की हर मांग को मानने मुंह मांगे दाम देने के बाद भी किसानों को मजदूर नहीं मिल पा रहे हैं।

धान बिजाई का काम आगामी 15 जून से शुरू होने जा रहा है। जिसको लेकर जाखल जंकशन रेलवे स्टेशन इन दिनों प्रवासी मजदूरों की मंडी बना हुआ है। दिल्ली की ओर से आने वाली तमाम ट्रेनों में प्रवासी मजदूर हजारों की संख्या में यहां पर पहुंच रहे हैं। मजदूरों की तलाश में हरियाणा पंजाब राज्य के दूर दूर से किसानों ने पिछले कई दिनों से यहां पर डेरा डाला हुआ है। फिर भी स्थिति यह है कि प्रवासी मजदूरों को रहने, खाने, पीने व अन्य सुविधाएं देने के साथ साथ धान बिजाई को लेकर प्रति एकड़ पिछले साल से 20 फीसदी ज्यादा कीमत देने के बावजूद मजदूर किसानों के साथ नहीं जा रहे हैं। किसानों के अनुसार मजदूर धान बिजाई के लिए इतने अधिक दाम मांग रहे हैं जिसे देना संभव नहीं है लेकिन वहीं मजदूरों का कहना है कि अधिकतर किसान यहां पर उन्हें ज्यादा कीमत की बात कहकर साथ ले जाते हैं तो गांव में जाकर पिछले साल जितनी कीमत अदा करते हैं ऐसे में वह नए किसान के खेत में जाने की बजाय पिछली बार किए गए काम वाली जगह पर ही जाना बेहतर समझते हैं। लेकिन वहीं दोनों के बीच चल रही इस कशमकश के दौरान जाखल स्टेशन प्रवासी मजदूरों से अटा हुआ है।

मजदूरों को ले जाने के लिए जब एक किसान द्वारा उनकी मांग अनुसार उन्हें 3 हजार रुपये प्रति एकड़ के हिसाब से पैसा देना मान लिया तो वहीं खड़े अन्य किसानों ने मजदूरों को 32 सौ रुपये प्रति एकड़ देने का लालच दे दिया। जिससे किसानों में बहस छिड़ गई। मामला इतना बढ़ गया कि बीच बचाव करने के लिए अन्य खड़े किसानों को आना पड़ा। आखिरकार मजदूरों ने जिस को पहले जाने के लिए हां कहा था वह उनके साथ जाने के लिए तैयार हो गए।

मजदूरों की तलाश में यहां रेलवे स्टेशन पर डेरा डाले बैठे पंजाब के संगरूर, पटियाला सहित बठिंडा व मानसा जिलों से आए किसान गुरमेल सिंह, हरपेज सिंह, रामसिंह, करनेैल सिंह, हरज्ञान सिंह, हरभजन सिंह ने बताया कि ने खेतों में धान बिजाई की तमाम तैयारियां पूरी कर ली हैं। पिछले साल धान बिजाई के लिए मजदूरों को खाने-पीने, रहने व अन्य सुविधा के साथ साथ प्रति एकड़ 25 सौ से 27 सौ रुपये दिए गए थे। लेकिन इस बार मजदूर अपना रेट 3 हजार रुपये प्रति एकड़ से भी ज्यादा मांग रहे हैं।

X
Jakhalmandi News - haryana news paddy season starts five thousand migrant laborers coming to jakhal junction everyday
COMMENT

आज का राशिफल

पाएं अपना तीनों तरह का राशिफल, रोजाना