माता-पिता और गुरुजनों की सेवा सबसे बडा़ तीर्थस्थल : आचार्य बजरंगदास

Fatehabad News - माता-पिता और गुरुजनों की सेवा सबसे बडा़ तीर्थस्थल : आचार्य बजरंगदास फतेहाबाद। गांव झलनिया के में आयोजित...

Bhaskar News Network

Jun 14, 2019, 07:30 AM IST
Fatehabad News - haryana news the service of parents and elders is the largest pilgrimage site acharya bajrangdas
माता-पिता और गुरुजनों की सेवा सबसे बडा़ तीर्थस्थल : आचार्य बजरंगदास

फतेहाबाद।
गांव झलनिया के में आयोजित साप्ताहिक श्रीमद्भागवत कथा महापुराण मे कथा के चौथे दिन नागौर के बालाजी सेवाधाम से पधारे कथावाचक महामंडलेश्वर आचार्य बजरंग दास महाराज ने लोगों को माता पिता और गुरुजनों की सेवा का महत्व बताया। उन्होंने कहा की अगर हम अपने माता पिता और गुरुजनों के प्रति आदर भाव रखते हैं उसके साथ प्रेमपूर्वक व्यवहार करते हैं तो हमें किसी भी तीर्थस्थल पर जाने की जरूरत नहीं है। इस घोर कलयुग मे जो कोई व्यक्ति माता पिता की सेवा करता है और गुरुजनों की कही बातों पर जीवन को लेकर जाता है वह व्यक्ति अपने जीवन मे पद प्रतिष्ठा के साथ सम्पत्ति भी पा लेते हैं। उन्होंने श्रवण कुमार का उदाहरण देते हुए कहा की श्रवण कुमार जैसा कोई आज्ञाकारी पुत्र नहीं हुआ। हमें भी देवतुल्य माता पिता को सम्मान देना चाहिए। इस मौके पर जगदीश भादू, राजेंद्र कालीराणा, चन्द्रपाल कालीराणा, सतीश बिश्नोई, भिरडाना गौशाला प्रधान प्रेमकुमार सिगड़, जयसिंह बिश्नोई, राकेश डेलू, सुनील गोदारा, लीलूराम डेलू, मनफूल डेलू, नरसीराम, सुनील गोदारा, सुशील गोदारा, संजीव गोदारा, सुरेंद्र गोदारा, अमन सहारण आदि मौजूद थे।

X
Fatehabad News - haryana news the service of parents and elders is the largest pilgrimage site acharya bajrangdas
COMMENT