नशा तस्करी करने वालों के लिए उम्रकैद का कानून बनना चाहिए : गाेपालदास

Fatehabad News - नशे पर पूर्ण प्रतिबंध लगाने की मांग को लेकर पिछले 9 दिनों से अनशन पर बैठे संत गोपालदास के शिष्य प्रवीन काशी के...

Bhaskar News Network

Jul 14, 2019, 07:25 AM IST
Fatehabad News - haryana news those who have smuggled intoxicants should be the law of life imprisonment gaepaldas
नशे पर पूर्ण प्रतिबंध लगाने की मांग को लेकर पिछले 9 दिनों से अनशन पर बैठे संत गोपालदास के शिष्य प्रवीन काशी के समर्थन में अब सामाजिक संगठन आने लगे हैं। शनिवार को संत गोपालदास के आह्वान पर राजनीतिक पार्टियों के पदाधिकारियों सहित कई सामाजिक संगठनों ने एक साथ आकर नशे को खत्म करने का संकल्प लिया।

लोगों को संबोधित करते हुए संत गोपालदास ने कहा कि युवाओं के लिए जानलेवा साबित हो रहे हेरोइन, स्मैक आदि की किसी भी मात्रा में नशा तस्करी करने वालों को उम्रकैद का कानून बनना चाहिए। इसके साथ ही नाईजीरिया या किसी भी अन्य देश का नागरिक भारत में ऐसे नशों का व्यापार करता पाया जाता है तो उस देश के साथ सभी प्रकार के संबंध तत्काल प्रभाव से समाप्त करके उनके दूतावास को बंद किया जाना चाहिए। इस दौरान संत गोपालदास ने नशाबंदी आंदोलन की आगामी रणनीति के बारे में बताया कि वे विभिन्न संगठनों व ग्रामीणों संग 15 जुलाई को राज्य मंत्री कृष्ण बेदी से लघु सचिवालय में इस मुद्दे पर बात करने जाएंगे।

फतेहाबाद। नशाबंदी की मांग को लेकर अनशन पर बैठे प्रवीन काशी को समर्थन देने पहुंचे विभिन्न संगठनों के पदाधिकारी।

इन संगठनों का मिला साथ: प्रवीन काशी के आमरण अनशन के नौंवें दिन भाजपा, कांग्रेस, आम आदमी पार्टी, इनेलो जैसे राजनीतिक दलों के अलावा शहीद भगत सिंह ब्रिगेड, सिटी वेलफेयर क्लब, बेटी संस्था, ज्योति सावित्रि बाई फुले उत्थान मंच, वाल्मीकि महिला मुक्ति मोर्चा, सफदर नाटय मंच, नागरिक अधिकार मंच, स्वर्णकार समाज, आईएमसी जिला कमेटी आिद समर्थन देने पहुंचे।

मंत्री से जानेंगे मंत्री सरकार का रुख: गाेपालदास

संत गोपालदास ने बताया कि 15 जुलाई को विभिन्न संगठनों के पदाधिकारी व ग्रामीण महिला-पुरुष बड़ी संख्या में शहीद ऊधमसिंह पार्क में एकत्रित होंगे। इसके बाद वे प्रदर्शन करते हुए, लघु सचिवालय तक जाएंगे, जहां राज्य मंत्री कृष्ण बेदी से बातचीत के जरिए इस मसले पर सरकार का रूख जानने का प्रयास होगा। साथ ही उनके जरिए सरकार से मांग की जाएगी कि चिट्टा या ड्रग्स से पीड़ित व्यक्तियों के लिए सीसीटीवी से लैस “निःशुल्क और अनिवार्य नशा मुक्ति केंद्र“ सभी जिलों में ब्लाक स्तर पर खोले जाएं। गुजरात और बिहार की तरह हरियाणा में नशा बंदी व रोजगार को कानूनी अधिकार बनाया जाए।

धरने पर ये थे मौजूद

इस अवसर पर भगत सिंह ब्रिगेड के राष्ट्रीय अध्यक्ष अशोक पूनिया, महिला कांग्रेस जिलाध्यक्ष कृष्णा पूनिया, पूर्व कर्मचारी नेता पूनम चंद रत्ति, आप हलकाध्यक्ष अंगद ढिंगसरा, अधिवक्ता सुशील बिश्नोई, पूर्व प्राचार्या विद्या रत्ति, पूर्व नप प्रधान सतपाल बंसल, पार्षद नेहा मित्तल, इनेलो महिला नेत्री एवं लाडो संस्था अध्यक्ष एडवोकेट सुमनलता सिवाच, अनीता क्रांति, समाजसेवी रणजीत ठक्कर सिरसा, सुरेन्द्र पूनिया, जय सिंघल, विनोद अरोडा, कमलेश राय, कृष्ण सोनी, हंसराज बिश्नोई भोडियाखेडा, सहित क्षेत्र के अनेक गणमान्य लोग उपस्थित रहे।

X
Fatehabad News - haryana news those who have smuggled intoxicants should be the law of life imprisonment gaepaldas
COMMENT