घग्घर पुल के कब हटेंगे पत्थर अभी कुछ तय नहीं, दिल्ली से रिपोर्ट आने के बाद कार्रवाई

Fatehabad News - घग्घर नदी के गंदे पानी की निकासी को लेकर पुल के नीचे से पत्थर हटाकर पाइप लाइन डालने को लेकर अभी तक प्रदेश सरकार व...

Bhaskar News Network

Jun 14, 2019, 08:25 AM IST
Ratia News - haryana news when the ghaghaar bridge pulls away stone is still not certain action after coming to delhi
घग्घर नदी के गंदे पानी की निकासी को लेकर पुल के नीचे से पत्थर हटाकर पाइप लाइन डालने को लेकर अभी तक प्रदेश सरकार व विभाग कुछ तय नहीं कर पाया। इसे लेकर दिल्ली से इंजीनियर एवं सलाहकार जिया लाल वर्मा के नेतृत्व में टीम रुपरेखा बनाने के लिए पंहुची, लेकिन अभी तक कुछ भी तय नहीं हो पाया कि पुल के नीचे से पत्थर हटेंगे या नहीं।

हटेंगे तो काम कब तक शुरु होगा। टीम बीएंडआर विभाग व इंजीनियर कॉलेज में रिपोर्ट देगी उसके बाद ही कोई कार्रवाई होने की संभावना है। सीएम ने कार्रवाई को लेकर आदेश दिये थे। घग्घर नदी के पुल पर दूषित पानी की निकासी को लेकर प्रशासनिक अधिकारियों की टीम डीसी आभीर के आदेश पर इसी साल जनवरी माह में घग्घर नदी में नांव उतार कर नदी में पानी की गहराई, लेवल का काम भी कर चुकी है। तब टीम में बीएंडआर विभाग के एसडीओ आरके मेहता, केसी गर्ग, जेई संदीप सचदेवा, चंडीगढ़ की सर्वेयर टीम के जेई बख्शीस सिंह, कानून गो मखन लाल, पूर्ण चंद, दफ्तर कानूनगो कलाश चंद, शहर पटवारी मदन लाल, कृपाल सिंह, हरदेव सिंह व जग्गा सिंह के नेतृत्व में पुल के दोनों ओर 500-500 मीटर क्षेत्र में नदी की गहराई, पानी का बहाव व लेवल लेकर रिपोर्ट पंजाब इंजीनियरिंग कॉलेज चंडीगढ़ को भेजी थी। वही से नदी के पुल के नीचे पाइप लाइन डालने की अनुमति के साथ साथ एस्टीमेट तैयार कर भेजा जाना है। डिजायन आने के बाद ही पुल के नीचे पत्थर हटाकर पाइप लाइन बिछाने का काम शुरू होगा। समस्या को लेकर संगठनों के लोग गिरफ्तारियां व धरने तक दे चुके है।

चंडीगढ़ की टीम भी ले चुकी है जायजा

बीते साल 12 नवंबर को पंजाब इंजीनियरिंग कालेज के प्रोफेसरों की टीम ने लिया घग्घर के पानी की निकासी का जायजा लिया था। टीम इंजीनियर एसके शर्मा की नेतृत्व में आई थी, रिपोर्ट तैयार की। अब विभाग व प्रशासन का कहना है कि पुल नेशनल हाईवे पर बना है। ये पुल की सुरक्षा को मामला है। पुल के नीचे पत्थर हटाने से पुल को नुकसान व खतरा हो सकता है। समस्या को लेकर प्रदेश सरकार ने इंजीनिरियोंं की टीम तैनात की। इंजीनियरिंग कालेज चंडीगढ़ से आई एक विशेष टीम ने घग्गर नदी का मुआयना किया तथा स्थिति का जायजा लिया। कालेज की टीम ने प्रशासन से पुल के दोनों तरफ एक आधा आधा किलोमीटर के दायरे में नदी की गहराई, पानी की गति, नदी के बेड, एक किलोमीटर क्षेत्र का लेवल की रिपोर्ट भेजने को कहा है। प्रशासन ने इसकी जिम्मेदारी बीएंडआर विभाग व रेवन्यू विभाग को सौंपी है। टीम ने जायजा लेकर रिपोर्ट भेज दी। नदी गहरी होने के कारण नदी में नांव उतार कर रिपोर्ट तैयार करनी पड़ी।

अभी कुछ तय नही, रिपोर्ट आने के बाद कार्रवाई : जेई

बीएडआर विभाग केे जेई संदीप सचदेवा ने कहा कि टीम ने जायजा लिया है। रिपोर्ट उच्चाधिकारियों को भेजी जाएगी। रिपोर्ट आने के बाद कार्रवाई होगी अभी प्रकिया चल रही है।

X
Ratia News - haryana news when the ghaghaar bridge pulls away stone is still not certain action after coming to delhi
COMMENT

आज का राशिफल

पाएं अपना तीनों तरह का राशिफल, रोजाना